महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएम

मुंबई ,30 जून (आरएनएस)। एकनाथ शिंदे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी। शिंदे ने मराठी में शपथ ली। बता दें कि देंवेंद्र फडणवीस ने ही ऐलान किया था कि एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे। उन्होंने यह भी कहा था कि वह खुद सरकार में नहीं होंगे और बाहर से सरकार की मदद करेंगे। हालांकि बाद में जेपी नड्डा ने खुद मीडिया के सामने  आकर कहा कि पार्टी चाहती है कि वह उपमुख्यमंत्री बनें।

शपथ ग्रहण के मौके पर एकनाथ शिंदे का परिवार भी राजभवन पहुंचा। बता दें कि एकनाथ शिंंदे उद्धव  सरकार में कैबिनेट मंत्री थे। शपथ ग्रहण में शिवसेना के विधायक शामिल नहीं हो सके। दरअसल बागी विधायकों इस समय गोवा के होटल में ही हैं। हालांकि शपथ के दौरान उन्होंने गोवा के होटल में ही जश्न मानाया। भाजपा के नेता शपथ ग्रहण में पहुंचे।
देवेंद्र फडणवीस के त्याग की नड्डा ने की तारीफ

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने देवेंद्र फडणवीस की तारीफ करते हुए कहा कि एकनाथ शिंदे जी और देवेंद्र फडणवीस जी को बधाई। आज ये सिद्ध हो गया कि बीजेपी के मन में कभी मुख्यमंत्री पद की लालसा नहीं थी। 2019 के चुनाव में स्पष्ट जनादेश मा. नरेंद्र मोदी जी एवं देवेंद्र जी को मिला था। उद्धव ठाकरे ने सीएम पद के लालच में हमारा साथ छोड़कर विपक्ष के साथ सरकार बनाई थी। उन्होंने कहा कि पार्टी चाहती है कि देवेंद्र फडणवीस सरकार में रहें और उपमुख्यमंत्री का पदभार संभालें।

**************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

पीएम मोदी ने शिंदे और फडणवीस को दी बधाई, शरद पवार बोले- किसी ने नहीं सोचा था ऐसा होगा

नई दिल्ली, ,30 जून (आरएनएस)। महाराष्ट्र में पिछले 2 हफ्ते से चल रहा सियासी ड्रामा आखिर थम गया है। शिवसेना के बागी गुट के विधायक एकनाथ शिंदे राज्य के नए सीएम बन गए हैं, जबकि देवेंद्र फडणवीस डिप्टी सीएम बने हैं। एकनाथ शिंदे को मुख्यमंत्री बनने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई दी है। पीएम ने कहा है, मैं एकनाथ शिंदे को मुख्यमंत्री बनने की बधाई देता हूं। एक जमीनी स्तर के नेता, वह अपने साथ समृद्ध राजनीतिक, विधायी और प्रशासनिक अनुभव लेकर आते हैं। मुझे विश्वास है कि वह महाराष्ट्र को और ऊंचाइयों पर ले जाने की दिशा में काम करेंगे।

देवेंद्र फडणवीस का अनुभव आएगा काम- पीएम

पीएम मोदी ने देवेंद्र फडणवीस को भी डिप्टी सीएम बनाए जाने की बधाई दी है। पीएम मोदी ने कहा है, देवेंद्र फडणवीस को महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम के रूप में शपथ लेने पर बधाई। वह हर भाजपा कार्यकर्ता के लिए एक प्रेरणास्त्रोत हैं। उनका अनुभव और विशेषज्ञता सरकार के लिए एक संपत्ति होगी। मुझे विश्वास है कि वह महाराष्ट्र के विकास पथ को और मजबूत करेंगे।
शिंदे का सीएम बनना किसी ने नहीं सोचा था

शरद पवार एकनाथ शिंदे के मुख्यमंत्री बन जाने से एनसीपी प्रमुख शरद पवार भी काफी हैरान हुए हैं। शरद पवार ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए कहा है कि किसी ने इसकी कल्पना भी नहीं की थी कि शिंदे को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा। शरद पवार ने कहा कि बागी गुट की मांग पर ही शिंदे को सीएम बनाया गया है।

*********************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

राष्ट्रीय रत्न सम्मान 2022 का आयोजन 20 जुलाई को

मुम्बई (अंधेरी) स्थित मेयर हॉल में 20 जुलाई की शाम को कृष्णा चौहान फाउंडेशन के द्वारा आयोजित ‘राष्ट्रीय रत्न सम्मान 2022’ समारोह में समाज सेवा और मानव सेवा का उल्लेखनीय योगदान देने वाले शख़्सियतों को अवार्ड दे कर सम्मानित किया जाएगा।

विदित हो कि मुम्बई में जून 2022 को केसीएफ व केसीपी प्रस्तुत ‘मिस बॉलीवुड ऑनलाइन ब्यूटी कॉन्टेस्ट 2022’ का भव्य आयोजन किया गया था जहां रोज़ खान विनर बनी। इस ब्यूटी कांटेस्ट के ज्यूरी मेम्बर्स में डॉ कृष्णा चौहान, डॉ परिन सोमानी (अंतरराष्ट्रीय मोटिवेशनल स्पीकर) और आर राजपाल (पब्लिसिटी डिज़ाइनर) शामिल थे।

फिलवक्त अवार्ड समारोह के आयोजक डॉ कृष्णा चौहान ‘राष्ट्रीय रत्न सम्मान 2022’ समारोह को लेकर काफी उत्साहित हैं। डॉ कृष्णा चौहान का हिंदी अल्बम ‘ज़िक्र तेरा’ हाल ही में रिलीज हुआ है। इस पुरस्कार समारोह के बाद डॉ कृष्णा चौहान अपनी नवीनतम हॉरर थ्रिलर फिल्म ‘आत्मा डॉट कॉम’ की शूटिंग शुरू करने जा रहे हैं, जिसका हाल ही में भव्य मुहूर्त किया गया था। इस फिल्म के संगीतकार दिलीप सेन हैं।

प्रस्तुति : काली दास पाण्डेय

***********************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

अक्षय की सम्राट पृथ्वीराज एक जुलाई को अमेजन प्राइम वीडियो पर आएगी

30.06.2022 – अक्षय कुमार की पीरियड ड्रामा फिल्म सम्राट पृथ्वीराज की नाकामयाबी ने कई सवाल खड़े किए। कुछ लोगों ने फिल्म के लीड कलाकार अक्षय की कास्टिंग को गलत बताया। वहीं, कुछ समीक्षकों ने निर्देशक चंद्रप्रकाश द्विवेदी को फिल्म की असफलता के लिए दोषी बताया। फिल्म 3 जून को सिनेमाघरों में आई थी। अब मेकर्स ने फिल्म की ओटीटी रिलीज डेट की घोषणा कर दी है।

यह फिल्म 1 जुलाई को अमेजन प्राइम वीडियो पर दस्तक देगी। अमेजन प्राइम वीडियो ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ओटीटी रिलीज डेट शेयर की है। अमेजन प्राइम ने अपने ट्वीट में लिखा, एक निडर शासक की वीर गाथा सम्राट पृथ्वीराज 1 जुलाई को अमेजन प्राइम पर प्रसारित होगी। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई है, इसलिए थिएट्रिकिल रिलीज के एक महीने के अंदर इसे ओटीटी पर रिलीज किया जा रहा है। उम्मीद है कि ओटीटी पर फिल्म को दर्शक सराहेंगे।

फिल्म की डिजिटल रिलीज को लेकर अक्षय काफी रोमांचित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने अपने बयान में कहा, तीन दशक के अपने करियर में मैंने इतनी बड़ी भूमिका कभी नहीं निभाई। मैं इस बात के लिए सम्मानित महसूस कर रहा हूं कि मैं स्क्रीन पर सम्राट पृथ्वीराज चौहान की भूमिका निभा पाया। अब मैं 1 जुलाई से अमेजन प्राइम वीडियो के साथ इस गाथा को हर घर में लाने के लिए उत्साहित हूं। सम्राट पृथ्वीराज को कई फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर पटखनी दी है। कमल हासन की फिल्म विक्रम कमाई की रेस में इस फिल्म से आगे निकल गई।

अदिवी शेष की फिल्म मेजर से भी सम्राट पृथ्वीराज को क्लैश का सामना करना पड़ा। 20 मई को रिलीज हुई कार्तिक आर्यन की भूल भुलैया 2 भी ब्लॉकबस्टर साबित हुई है। इस फिल्म ने भी अक्षय की फिल्म को टक्कर दी। फिल्म ने दुनियाभर में करीब 260 करोड़ रुपये कमा लिए हैं। रिपोर्ट की मानें तो सम्राट पृथ्वीराज 200 करोड़ रुपये के बजट में बनी है। फिल्म ने भारत में 67.80 करोड़ रुपये बटोरे हैं। इस फिल्म के जरिए पूर्व मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर ने बॉलीवुड में कदम रखा है। इसमें उन्होंने राजकुमारी संयोगिता का किरदार निभाया है। दर्शकों ने अक्षय और मानुषी की जुगलबंदी को नकार दिया है। अक्षय ने इसमें पृथ्वीराज चौहान की भूमिका निभाई है।

संजय दत्त और सोनू सूद भी फिल्म का हिस्सा हैं। कंगना रनौत की फिल्म धाकड़ भी 1 जुलाई को ओटीटी पर आएगी। जी5 ने इस फिल्म के स्ट्रीमिंग राइट्स हासिल किए हैं। सम्राट पृथ्वीराज की तरह धाकड़ भी सिनेमाघरों में फ्लॉप हो गई। 20 मई को यह फिल्म बड़े पर्दे पर आई थी। (एजेंसी)

******************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

आज का राशिफल

मेष: जीत का जश्न आपके दिल को ख़ुशी से भर देगा। इस उत्साह को दोगुना करने के लिए आप अपनी ख़ुशी में दोस्तों को भागीदार बना सकते हैं। आपके घर से जुड़ा निवेश फ़ायदेमंद रहेगा। जीवन और कामकाज में दूसरों के लिए एक आदर्श बनें।

वृष: ख़ुद को उत्साही बनाए रखने के लिए अपनी कल्पनाओं में कोई ख़ूबसूरत और शानदार तस्वीर बनाएं। निवेश करना कई बार आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होता है आज आपको यह बात समझ में आ सकती है क्योंकि किसी पुराने निवेश से आज आपको मुनाफा हो सकता है।

मिथुन: दोस्तों के साथ शाम सुखद रहेगी, लेकिन ज़्यादा खाने और मदिरापान से बचें। आज आपको अपने भाई या बहन की मदद से धन लाभ होने की संभावना है। घर के किसी सदस्य के व्यवहार की वजह से आप परेशान रह सकते हैं। आपको उनसे बात करने की जरूरत है।

कर्क: यह हंसी की चमक से उजला दिन है, जब ज़्यादातर चीज़ें आपके मन के मुताबिक़ होंगी। अगर आप छात्र हैं और विदेशों में जाकर पढ़ाई करना चाहते हैं तो घर की आर्थिक तंगी आज आपके माथे पर शिकन ला सकती है। अपनी जीवन में एक संगीत पैदा करें, समर्पण का मूल्य समझें और हृदय में प्रेम व कृतज्ञता के फूल खिलने दें।

सिंह: कोई दोस्त आपकी सहनशक्ति और समझ की परीक्षा ले सकता है। अपने मूल्यों को दरकिनार करने से बचें और हर फ़ैसला तार्किक तरीक़े से लें। जो लोग शेयर बाजार में पैसा लगाते हैं आज उनका पैसा डूब सकता है। वक्त रहते सचेत हो जाएं तो आपके लिए बेहतर रहेगा।

कन्या: अगर आप बहुत ज़्यादा तनाव महसूस कर रहे हैं, तो बच्चों के साथ अधिक समय बिताएँ। उनके प्यार भरे आलिंगन और मासूम मुस्कुराहट आपकी सभी परेशानियों को ख़त्म कर देंगे। व्यापाार में मुनाफा आज कई व्यापारियों के चेहरे पर खुशी ला सकता है।

तुला: शारीरिक लाभ के लिए, विशेषकर मानसिक तौर पर मज़बूती हासिल करने के लिए ध्यान और योग का आश्रय लें। कार्यक्षेत्र में या करोबार में आपकी कोई लापरवाही आज आपको आर्थिक नुक्सान करा सकती है। अपनी नई परियोजनाओं के लिए अपने माता-पिता को विश्वास में लेने का सही समय है।

वृश्चिक: प्रभावशाली लोगों का सहयोग आपके उत्साह को दोगुना कर देगा। आज किसी विपरीत लिंगी की मदद से आपको करोबार या नौकरी में आर्थिक लाभ होने की संभावना है। आपकी भरपूर ऊर्जा और ज़बरदस्त उत्साह सकारात्मक परिणाम लाएंगे व घरेलू तनाव दूर करने में मददगार रहेंगे।

धनु: अपने काम के लिए दूसरों पर दबाव न डालें। दूसरे लोगों की इच्छाओं और दिलचस्पियों पर भी ग़ौर करें, इससे आपको दिली ख़ुशी हासिल होगी। आपकी माता पक्ष से आज आपको धन लाभ होने की पूरी संभावना है। हो सकता है कि आपके मामा या नाना आपकी आर्थिक मदद करें।

मकर: मज़बूती और निडरता का गुण आपकी मानसिक क्षमताओं में इज़ाफ़ा करेगा। किसी भी तरह के हालात को क़ाबू में रखने के लिए इस रफ़्तार को बरकऱार रखिए। लंबे समय से अटके मुआवज़े और कजऱ् आदि आखिऱकार आपको मिल जाएंगे। जितना आपने सोचा था, आपका भाई उससे ज़्यादा मददगार साबित होगा।

कुंभ: लंबे समय से चली आ रही अपनी बीमारी का इलाज अपनी मुस्कान से करें, क्योंकि यह सभी परेशानियों की सबसे कारगर दवा है। बिना किसी अनुभवी शख्स की सलाह के आज ऐसा कोई भी काम न करें जिससे आपको आर्थिक हानि हो। ऐसे कामों में सहभागिता करने के लिए अच्छा समय है, जिसमें युवा लोग जुड़े हों।

मीन: मौज-मस्ती और मनपसंद काम करने का दिन है। आज किसी विपरीत लिंगी की मदद से आपको करोबार या नौकरी में आर्थिक लाभ होने की संभावना है। बच्चों के साथ ज़्यादा सख़्ती उन्हें नाराज़ कर सकती है। ख़ुद को नियंत्रित रखने और यह याद रखने की ज़रूरत है कि ऐसा करने से आप अपने और उनके बीच दीवार खड़ी कर लेंगे।

संताल को मिली  सौगात, दुग्ध उत्पादक बनेंगे खुशहाल

साहिबगंज ,29.06.2022 – मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने आज साहिबगंज में संतालवासियों को अत्याधुनिक डेयरी प्लांट की बड़ी सौगात दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस डेयरी प्लांट के चालू होने से किसानों- पशुपालकों-दुग्ध उत्पादकों की  जिंदगी में आमूलचूल बदलाव आएगा। इनकी आमदनी बढ़ेगी। इस तरह हमारे किसान भाइयों के साथ राज्य भी आत्मनिर्भर बनेगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने दुग्ध उत्पादकों के सम्मान राशि के तौर पर 10 करोड़ रूपए का चेक झारखंड मिल्क फेडरेशन को सौंपा।

गांव -गांव तक पहुंचेगा मेधा डेयरी के दूध और दुग्ध उत्पाद

साहिबगंज डेयरी प्लांट के उद्घाटन समारोह में झारखंड मिल्क फेडरेशन और कॉमन सर्विस सेंटर (प्रज्ञा केंद्र) के बीच एमओयू पर करार हुआ । इसके तहत राज्य के डेयरी प्लांटों में प्रोसेसिंग दूध और दूध के उत्पादों को मेधा डेयरी के द्वारा बाजार में उपलब्ध कराया जाएगा।  इसी कड़ी में ही मेधा डेयरी के सभी दुग्ध उत्पाद राज्य के 20 हज़ार से ज्यादा कॉमन सर्विस सेंटर पर मिलेगा । इसके लिए  संचालकों को आज मुख्यमंत्री ने रिटेल सर्टिफिकेट प्रदान किया।  इस तरह सरकार ने गांव गांव तक इन दुग्ध उत्पादकों को उपलब्ध कराने की दिशा में कदम बढ़ा दिया है।

संसाधनों का समूचित और बेहतर इस्तेमाल हो

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास और कल्याण के लिए सरकार संसाधन उपलब्ध कराती है । संसाधनों का समुचित और बेहतर इस्तेमाल हो, इसे आपको सुनिश्चित करना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि साहिबगंज डेयरी प्लांट की वर्तमान प्रोसेसिंग क्षमता प्रतिदिन 50 हज़ार लीटर की है । इसकी क्षमता को बहुत जल्द बढ़ाकर एक लाख लीटर और फिर दो लाख लीटर तक करने के लिए सरकार सभी सहयोग करेगी ।

शुद्ध दूध और दुग्ध उत्पाद को बढ़ावा देने की कोशिश

मुख्यमंत्री ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि आज बाजार में कृत्रिम दूध और उससे बने दुग्ध उत्पाद धड़ल्ले से बेचे जा रहे हैं।  यह दूध हमारे शरीर के लिए कितना खतरनाक है, इससे हम सभी वाकिफ हैं। अगर इस पर नियंत्रण नहीं किया जाए तो मानव जीवन खतरे में पड़ सकता है।  इतना ही नहीं तमाम कोशिशों के बाद भी कुपोषण के मामले आ रहे हैं । आज इससे बचने के लिए शुद्ध दूध के उत्पादन को बढ़ावा देने की जरूरत है , ताकि लोग इसका सेवन करें और स्वस्थ रहे । पशु पालकों से आग्रह है कि वे पशुधन को बढ़ाने पर विशेष ध्यान दें, ताकि ज्यादा से ज्यादा  शुद्ध दूध अधिकतम लोगों तक पहुंचे।

राज्य तभी आगे बढ़ेगा, जब ग्रामीण अर्थव्यवस्था मजबूत होगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की लगभग 80 प्रतिशत जनता ग्रामीण पृष्ठभूमि से जुड़ी है। ऐसे में किसानों और पशुपालकों को मजबूत किए बिना राज्य को विकास के रास्ते पर नहीं ले जा सकते हैं । उन्होंने कहा कि किसानों और पशुपालकों के लिए सरकार की कई योजनाएं चल रही है। इन योजनाओं का आप जरूर लाभ लें । उन्होंने कहा कि किसानों के लगभग 900 करोड़ रुपया की ऋण माफी को स्वीकृति दी जा चुकी है इसके अलावा अब तक 13 सौ करोड़ से ज्यादा का केसीसी लोन किसानों को दिया जा चुका है।  यह एक रिकॉर्ड है । हमारी प्राथमिकता किसानों को सशक्त, स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बनाना है।

समय के साथ किसानों को अपने में बदलाव लाना है

मुख्यमंत्री ने कहा कि समय तेजी से बदल रहा है।  ऐसे में किसानों को समय के साथ बने रहने के लिए अपने में बदलाव लाना होगा।  उन्हें नवीनतम तकनीकों का इस्तेमाल करना होगा, ताकि कृषि कार्यों में संसाधनों का बेहतर से बेहतर इस्तेमाल संभव हो सके । इसमें किसानों को जो भी जरूरत होगी,  सरकार के द्वारा मुहैया कराया जाएगा।

धान अधिप्राप्ति का बना रिकॉर्ड , खुलेंगे कई राइस मिल

मुख्यमंत्री ने किसानों से कहा कि आपके सहयोग से सरकार ने धान अधिप्राप्ति का एक रिकॉर्ड बनाया है। अब इस धान का उपयोग अपने ही राज्य में हो, इसके लिए सरकार ने एक दर्जन से ज्यादा राइस मिल खोलने को स्वीकृति दे दी है। भविष्य में किसानों और पशुपालकों के लिए इस तरह की कई और योजनाएं लाने की दिशा में सरकार  कार्ययोजना बना रही है।

महत्वपूर्ण तथ्य

 

  • 34 करोड़ रुपए की लागत से साहिबगंज डेयरी प्लांट का हुआ है निर्माण ।

 

  • राज्यभर में 6 हाई टेक डेयरी प्लांट से प्रतिदिन लगभग डेढ़ लाख लीटर से ज्यादा दुग्ध और दुग्ध से बनी वस्तुओं का हो रहा प्रसंस्करण।

 

  • झारखंड मिल्क फेडरेशन से अबतक 40 हज़ार से ज्यादा दुग्ध उत्पादक और एक लाख के करीब मवेशियों को जोड़ा जा चुका है।

 

  • दुग्ध उत्पादकों के बैंक खाते में सालाना 200 करोड़ रुपए दे रही सरकार।

 

  • दुग्ध उत्पादकों को दो रुपए प्रति लीटर की सब्सिडी दे रही सरकार।

इस अवसर पर मंत्री श्री आलमगीर आलम और श्री बादल, सांसद श्री विजय हांसदा, विधायक श्री अनंत कुमार ओझा, एनडीडीबी के अध्यक्ष श्री मिनेश शाह, कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग के सचिव श्री अबू बकर सिद्दीक और झारखंड मिल्क फेडरेशन के प्रबंध निदेशक श्री सुधीर कुमार सिंह सहित कई पदाधिकारी मौजूद थे।

*********************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

 ‘मैं रहूं या ना रहूं, ये देश रहना चाहिए – अटल’ की घोषणा

29.06.2022 – प्रसिद्ध कवि , लेखक, भारत के पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जीवनवृत्त पर आधारित फिल्म ‘मैं रहूं या ना रहूं, ये देश रहना चाहिए – अटल’ के निर्माण के लिए विनोद भानुशाली और संदीप सिंह ने भारत के बेस्ट सेलिंग बुक, ‘3 टाइम प्राइम मिनिस्टर’ के अधिकार हासिल कर लिए हैं।

वैसे यह फिल्म पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया की सबसे ज्यादा बिकने वाली किताब ‘द अनटोल्ड वाजपेयी: पॉलिटिशियन एंड पैराडॉक्स’ का एक नाटकीय रूपांतरण है जिसे प्रसिद्ध लेखक उल्लेख एन पी ने लिखा है। भानुशाली स्टूडियोज लिमिटेड और लीजेंड स्टूडियो की नवीनतम प्रस्तुति ‘मैं रहूं या ना रहूं, ये देश रहना चाहिए – अटल’ का निर्माण संयुक्त रूप से विनोद भानुशाली, संदीप सिंह, सैम खान, कमलेश भानुशाली और विशाल गुरनानी कर रहे हैं। जूही पारेख मेहता, जीशान अहमद और शिव शर्मा इस फिल्म के सहनिर्माता हैं।

फिल्म निर्माण की घोषणा के बाद फिल्म के निर्मातागण कलाकारों की चयन प्रक्रिया में लगे हैं। फिल्म की शूटिंग 2023 के शुरुआत में शुरू की जाएगी।

प्रस्तुति : काली दास पाण्डेय

**********************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

RPC YELLOW बना चैंपियन, किसलय शानू बने प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट

मीडिया कप वॉलीबॉल 2022

रांची, 29.06.2022 – रांची प्रेस क्लब के तत्वाधान में मीडिया कप वॉलीबॉल 2022  का आयोजन किया गया. जिसमे  RPC YELLOW ने रांची विश्वविद्यालय प्रांगण खेली गई मीडिया कप वॉलीबॉल प्रतियोगिता का खिताब जीत लिया है। खिताबी मुकाबले में RPC YELLOW ने सीधे सेटों में RPC RED को 25-18, 25-22 से हरा कर खिताब जीता।प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन करनेवाले किसलय शानू को प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट घोषित किया गया।

मैन ऑफ द फाइनल प्रमोद सिंह का शानदार प्रदर्शन भी RPC RED को जीता नहीं पाया। मुख्य अतिथि द्रोणाचार्य अवॉर्डी हॉकी कोच नरेंद्र सिंह सैनी व स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने विजयी खिलाड़ियों के बीच पुरस्कार वितरण किया।

प्रतियोगिता को सफल बनाने में विशेष योगदान के लिए झारखंड वॉलीबॉल संघ के शेतांक सेन, राजेश कुमार सिंह व उनकी टीम को विशेष तौर पर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर प्रेस क्लब के अध्यक्ष संजय मिश्रा, पूर्व अध्यक्ष राजेश सिंह समेत बड़ी संख्या में पत्रकार मौजूद थे। सभी अतिथियों व खिलाड़ियों को एक एक पौधा देकर सम्मानित किया गया।

इससे पहले लीग मुकाबले में RPC YELLOW ने RPC BLUE को 23-25, 25-12, 15-3 से हराकर फाइनल में जगह पक्की की। वहीं फाइनल की दौड़ से बाहर हो चुकी RPC GREEN के खिलाफ RPC RED को मैच जीतने के लिए काफी पसीना बहाना पड़ा। RPC RED ने ये संघर्षपूर्ण मुकाबला 25-17, 22-25, 15-13 से जीता।

*******************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

आज का राशिफल

मेष: आज का दिन भविष्य के लिए योजनाएँ बनाने का है। पैसे के मामले में अब आपकी चिंताएं दूर हो जाएँगी और अब मौज-मस्ती और आराम से जीवन बिताना चाहेंगे। आप परिवार की सुरक्षा के लिए पैसे का सही जगह निवेश करने के बारे में विचार करेंगे।

वृषभ: आपको एक छोटी-सी यात्रा करने की इच्छा होगी और उसके लिए तैयारी करना भी शुरू कर देंगे। एक-दो दिन में शायद यात्रा न भी शुरू करें तो भी थोड़े समय में आवश्यक यात्रा करने वाले हैं। यात्रा के लिए आप पैसे की व्यवस्था भी करेंगे।

मिथुन : आज आपके मन पर उदासी और निराशा के बादल छाए रहेंगे। भावनात्मक रूप से अकेलेपन की भावना का अनुभव होगा। मन की गहराई में निहित अदम्य इच्छाएं और आध्यात्मिक सहनशीलता आपके मूड को प्रभावित करेंगे।

कर्क: आपके विचार आज आपके लिए शक्ति के स्रोत साबित होंगे। ऐसी परिस्थिति आएगी कि अभी या बाद में आपको कुछ कठिन निर्णय लेने पड़ेंगे। एक निश्चित शाखा में नए संशोधन और बिजनेस से आपको लाभ होंगे।

सिंह: आज टेंशन और समस्याओं से भरा विचित्र और प्रतिकूलतापूर्ण दिन है। परंतु इसका अर्थ यह नहीं कि आपका कोई कार्य अच्छी तरह पूरा नहीं होगाब। आपके निजी जीवन में सब कुछ अच्छी तरह चलता रहेगा, परंतु ऑफिस में आपसे अधिक अपेक्षा रखी जाएगी। इसलिए यदि आप घर और ऑफिस के बीच संतुलन बनाए रखेंगे, तो अधिक अच्छा होगा।

कन्या: आपका खुशमिजाज व्यक्तित्व आज उदासीनता के बादलों के बीच ढक जाएगा। अधिक और त्वरित आर्थिक लाभ प्राप्त करने के लिए आज आप शायद शेयर – सट्टा तथा रेस जैसे माध्यमों की तरफ मुड़ेंगे। इसमें सब कुछ खोने के बाद पश्चाताप करने के अतिरिक्त अन्य कोई मार्ग नहीं होता।

तुला : नए कार्य के आरंभ के लिए आज का दिन अनुकूल है । आपका जादूई प्रभाव लोगों पर छा जाएगा और आप लोगों का दिल जीत लेंगे। आप घर को इतने सुंदर रूप से सजाएँगे कि लोग उसकी प्रशंसा करते-करते थक जाएंगे।

वृश्चिक: आज दंपतियों और प्रेमियों को अपने क्रोध को नियंत्रण में रखना पड़ेगा। उनके बीच संघर्ष या मतभेद हो सकता है। आपके जीवनसाथी का व्यवहार आज आपको अधिक आधिपत्यवाला लगेगा। इसलिए आप एक दूसरे के साथ बातचीत द्वारा मतभेद दूर करें तो अच्छा रहेगा ।

धनु: आज घटनेवाली हरेक घटना के अच्छे बुरे पक्ष के बारे में आपके मन में दुविधा होगी। ऐसी उलझनपूर्ण परिस्थिति में आप अन्य लोगों की सलाह लेने के लिए प्रेरित होंगे। आप जब अन्य लोगों के पास अपनी समस्या का समाधान खोज रहे होंगे, तब आपकी आत्मा की आवाज आपको सच्चा हल खोज निकालने में आपकी मदद करेगी।

मकर: आपको महत्त्वपूर्ण निर्णय सावधानीपूर्वक लेना चाहिए। आप कोई अविचारी कदम उठाएंगे, तो पछताना पड़ सकता है। इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि आपको कोई भी कदम उठाने से पहले अपने ईष्टदेव का स्मरण करना चाहिए।

कुंभ: आज आपका संपर्क बड़ी संस्थाओं या समूहों के साथ हो सकता है। आज आपका दिन जनसंपर्क में व्यतीत होगा। आप सहकर्मियों और उच्च पदाधिकारियों का पूर्व सहयोग प्राप्त कर सकेंगे। आप थोड़ा अधिक व्यस्त रहेंगे फिर भी लोगों के सहयोग से आप हरेक कार्य सफलतापूर्वक पूरा कर सकेंगे।

मीन: विपरीत लिंगीय व्यक्ति आज आपसे लाभ प्राप्त करेंगे, ऐसी संभावना है। विपरीत लिंगीय मैत्री होने की भी संभावना है । यदि आप किसी के साथ प्रणय सूत्र में आबद्ध होंगे तो अपने प्रिय व्यक्ति के साथ खूब अच्छे संबंध-व्यतीत होंगे। प्रेम या विवाह प्रस्ताव रखने के लिए खूब अनुकूल दिन है।

***************************************

वजन कम करने में कैसे मदद करती है ग्रीन टी?

28.06.2022 – वजन कम करने में कैसे मदद करती है ग्रीन टी?. जब बात फिटनेस और स्वास्थ्य की आती है तो ग्रीन टी का नाम लगभग हर किसी की जुबान पर आता है। इसका मुख्य कारण यह है कि इसमें बायोएक्टिव पदार्थों के साथ-साथ एंटी-ऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं, जो मेटाबॉलिज्म तेज करके शरीर की अतिरिक्त चर्बी को कम करने समेत कई तरह के स्वास्थ्य लाभ देने में सक्षम है। आइए आज हम आपको बताते हैं कि वजन घटाने में ग्रीन टी का सेवन कैसे मदद करता है। वजन घटाने में काफी मदद कर सकती है ग्रीन टीविशेषज्ञों ने बताया कि ग्रीन टी शरीर में ग्लूकोसिडेज, पैंक्रियाटिक लाइपेज और एमाइलेज जैसे एंजाइमों को रोकती है, जो आंतों में कार्बोहाइड्रेट और फैट के निर्माण के लिए जिम्मेदार होते हैं। ऐसे जटिल अणुओं को कम करके ग्लूकोज और फैटी एसिड जैसे सरल अणुओं का अवशोषण भी कम हो जाता है। वहीं, वजन घटाने के लिए ग्रीन टी की प्रभावकारिता भिन्न होती है और यह चर्चा का विषय है, लेकिन शरीर के लिए ग्रीन टी सबसे कम दुष्प्रभावी है। मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा देने में मददगार है ग्रीन टीग्रीन टी में जरूरी बायोएक्टिव पदार्थ जैसे कैफीन और कैटेचिन होते हैं, जो शरीर की मेटाबॉलिज्म दर को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। तेज मेटाबॉलिज्म दर शरीर की अधिक कैलोरी बर्न करके ऊर्जा को बढ़ाती है, जिस कारण वजन घटाने में मदद मिलती है। इसके अतिरिक्त, यह शरीर के ब्लड सर्कुलेशन में एंटी-ऑक्सीडेंट के स्तर को भी बढ़ाता है। अध्ययनों के अनुसार, ग्रीन टी के सेवन से रोजाना 75’00 कैलोरी बर्न की जा सकती है। वर्कआउट से पहले करें ग्रीन टी का सेवनकैलोरी को बर्न करने में ग्रीन टी काफी प्रभावी मानी जाती है, इसलिए आजकल विभिन्न वजन घटाने वाले सप्लीमेंट्स में ग्रीन टी का अर्क मौजूद होता है। हालांकि, इन सप्लीमेंट्स का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के करना गलत है। आप चाहें तो अपने शरीर की अतिरिक्त कैलोरी को तेजी से बर्न करने के लिए अपने रोजाना के वर्कआउट सेशन से पहले एक कप ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं। भूख को सीमित और चीनी के सेवन को कम करने में है कारगरअधिक मात्रा में चीनी का सेवन वजन को बढ़ाने और कई तरह की स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं का कारण बन सकता है और ग्रीन टी चीनी के सेवन को कम करने में मदद करती है क्योंकि इसके लिए चीनी की आवश्यकता नहीं होती है। इसके अलावा, ग्रीन टी शरीर के डोपामाइन और नॉरपेनेफ्रिन जैसे तत्वों को प्रभावित करके आपकी भूख को भी सीमित करने में भी मदद करती है, जिससे आप अधिक खाने से बचकर वजन को कम कर सकते हैं। अच्छे फैट को बढ़ाने में सहायक है ग्रीन टीहमारे शरीर में दो तरह के फैट होते हैं, जिसे ब्राउन फैट और व्हाइट फैट कहा जाता है। ब्राउन फैट को गुड फैट के रूप में जाना जाता है क्योंकि यह वजन कम करने में सहयोगी होता है, जबकि व्हाइट फैट शरीर में स्क्विशी बैड फैट होता है, जो वजन बढऩे पर दिखाई देता है। ग्रीन टी में मौजूद कैटेचिन शरीर के ब्राउन फैट को बढ़ाने में मदद करता है, जो वजन को कम करने में मदद कर सकता है।

(एजेंसी)

***************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

पूरे साल किसी भी मौसम में ये कपड़े पहन सकती हैं महिलाएं

28.06.2022 – पूरे साल किसी भी मौसम में ये कपड़े पहन सकती हैं महिलाएं. मौसम बदलता रहता है और ऐसे में हर बार उसके अनुसार अपनी अलमारी को अपग्रेड करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। अगर आप भी हर बार अपनी अलमारी को अपग्रेड करने का झंझट नहीं चाहती हैं तो आइए आज हम आपको कुछ ऐसे कपड़ों के बारे में बताते हैं, जिन्हें आप जनवरी से लेकर दिसंबर तक पहन सकते हैं।

इससे हमारा मतलब है कि उन कपड़ों को आप किसी भी मौसम में पहन सकते हैं। जींसजींस एक ऐसा बॉटम वीयर है, जिसे आप किसी भी मौसम में पहन सकती हैं, इसलिए अपनी अलमारी में हमेशा एक ब्लू डेनिम जींस जरूर रखें। इसे आप गर्मियों के दौरान लूज ग्राफिक टॉप या क्रॉप और व्हाइट स्नीकर्स के साथ पेयर करके पहन सकती हैं। वहीं, मानसून के दौरान पफ स्लीव्स के साथ डेनिम ब्लू जींस को पहन सकती हैं।

सर्दियों में ब्लू डेनिम जींस को फजी स्वेटर और एंकल लेंथ बूट्स के साथ पेयर करके पहन सकती हैं। स्कर्टमैक्सी स्कर्ट से लेकर प्लेड स्कर्ट तक हर मौसम में और किसी भी अवसर पर पहना जा सकता है, लेकिन आपको इन्हें सही तरीके से स्टाइल करना आना चाहिए। उदाहरण के लिए आप मैक्सी स्कर्ट को प्लेन शर्ट को टक इन करके और बूट्स के साथ पेयर करके पहन सकती हैं।

इसके अतिरिक्त, डेनिम स्कर्ट के साथ प्लेन बटन डाउन शर्ट पहन सकती हैं। हाई वेस्ट स्कर्ट और प्लेड स्कर्ट को आप तरह-तरह के तरीके से पहन सकती हैं। ड्रेसेसड्रेसेस भी जनवरी से लेकर दिसंबर तक कभी भी पहनी जा सकती हैं। सर्दियों के दौरान ड्रेस को काले रंग की लैदर जैकेट और जूतों के साथ टिमअप करके पहना जा सकता है। वहीं, गर्मियों और मानसून में ड्रेस को सैंडल या फ्लिप-फ्लॉप के साथ पहना जा सकता है, लेकिन इस दौरान लाइट फैशन एसेसरीज भी जरूर पहनें।

शरद ऋतु के दौरान ड्रेस को सफेद रंग की शर्ट और किसी भी जूते के साथ टिमअप करके पहना जा सकता है। लेगिंगलेगिंग्स भी सालभर आपकी आलमारी का हिस्सा बनी रह सकती हैं, जिसे आप लॉग टॉप से लेकर किसी भी सूट, कुर्ते या फिर गाउन आदि के नीचे पहन सकते हैं। गर्मियों और बरसात के मौसम में लेगिंग को ट्यूनिक्स या ढीले टॉप के साथ पहना जा सकता है। वहीं, ठंड के मौसम में इसे बड़े आकार के स्वेटर के साथ पहनें और ठंड ज्यादा हो तो अपनी किसी भी बॉटम वियर के अंदर लेगिंग पहनें। जंप सूटजंप सूट भी किसी भी मौसम में पहना जा सकता है। वहीं, अगर आप स्टाइलिश और आरामदायक कपड़ों के शौकिन हैं तो जंप सूट आपके स्टाइल में तबाही मचा सकते हैं क्योंकि यह आपको कॉन्फिडेंट फील कराने में भी मदद करते है।

गर्मियों और मानसून के दौरान आप जंप सूट को स्नीकर्स के साथ टिमअप करके पहन सकती हैं। वहीं, सर्दियों में जंप सूट के ऊपर लॉन्ग कोट और जूतों को टिमअप करके पहना जा सकता है। (एजेंसी)

***************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

 

आज का राशिफल

मेष: आज का दिन ऐसे काम करने के लिए बेहतरीन है, जिन्हें करके आप ख़ुद के बारे में अच्छा महसूस करते हैं। रियल एस्टेट संबंधी निवेश आपको अच्छा-ख़ासा मुनाफ़ा देंगे। घर में और आस-पास छोटे-मोटे बदलाव घर की सजावट में चार चांद लगा देंगे।

वृष: शारीरिक तौर पर तंदुरुस्त रहने के लिए धूम्रपान की आदत छोड़ दें। आप पैसा बना सकते हैं, बशर्ते आप अपनी जमा-पूंजी पारंपरिक तौर पर निवेश करें। परिवार की किसी महिला सदस्य की सेहत चिंता की वजह बन सकती है।

मिथुन: आपका सबसे बड़ा सपना हक़ीक़त में बदल सकता है। लेकिन अपने उत्साह को क़ाबू में रखें, क्योंकि ज़्यादा ख़ुशी भी परेशानी का सबब बन सकती है। रुका हुआ धन मिलेगा और आर्थिक हालात में सुधार आएगा।

कर्क: आपको काफ़ी समय से चल रही बीमारी से छुटकारा मिल सकता है। जो लोग शादीशुदा हैं उन्हें आज अपने बच्चों की पढ़ाई पर अच्छा खासा धन खर्च करना पड़ सकता है। शाम को साथियों का साथ मज़ेदार रहेगा। अपने प्रेम-प्रसंग के बारे में इधर-उधर ज़्यादा बातें न करें।

सिंह: अपने ऊर्जा-स्तर को फिर से बढ़ाने के लिए पूरा आराम करें, क्योंकि थका हुआ शरीर दिमाग़ को भी थका देता है। आपको अपनी असली क्षमताओं को पहचानने की ज़रूरत है, क्योंकि आपमें क्षमता की नहीं बल्कि इच्छा-शक्ति की कमी है।

कन्या: ज़रूरत से ज़्यादा खाने से बचें और सेहतमंद रहने के लिए नियमित व्यायाम करें। जिन लोगों को आप जानते हैं, उनके ज़रिए आपको आमदनी के नए स्रोत मिलेंगे। अगर बातचीत और चर्चा आपके मुताबिक़ न हो, तो आप नाराजग़ी में कड़वी बातें कह सकते हैं जिन्हें लेकर बाद में आपको पछताना पड़ सकता है – इसलिए भली-भांति सोचकर ही बोलें।

तुला: आपका तल्ख़ बर्ताव जीवनसाथी के साथ आपके संबंधों में तनाव डाल सकता है। कोई भी ऐसा काम करने से पहले इसके परिणामों के बारे में सोच लें। अगर मुमकिन हो तो अपना मूड बदलने के लिए कहीं और जाएं। आज आप अपने घर के वरिष्ठ जनों से पैसे की बचत करने को लेकर कोई सलाह ले सकते हैं।

वृश्चिक: ठूंस -ठूंस कर खाने और ज़्यादा कैलोरी की चीज़ें खाने से बचिए। आज इस राशि के कुछ बेरोजगार लोगों को नौकरी मिल सकती है, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति सुधरेगी। रिश्तेदारों और दोस्तों से अचानक उपहार मिलेगा। मतभेद के चलते व्यक्तिगत संबंधों में दरार पड़ सकती है।

धनु: आउटडोर खेल आपको आकर्षित करेंगे। ध्यान और योग आपको फ़ायदा पहुंचाएंगे। विदेशों में पड़ी आपकी जमीन आज अच्छे दामों में बिक सकती है, जिससे आपको मुनाफा होगा। बच्चे भले ही आपका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करना चाहते हों, लेकिन साथ ही ख़ुशियों की वजह भी साबित होते हैं। प्रेम के दृष्टिकोण से उत्तम दिन है।

मकर: मानसिक और नैतिक शिक्षा कंे साथ शारीरिक शिक्षा भी लें, केवल तभी सर्वांगीण विकास संभव है। याद रखें कि एक स्वस्थ शरीर में ही एक स्वस्थ दिमाग़ निवास करता है। बिन बुलाया कोई मेहमान आज घर में आ सकता है, लेकिन इस मेहमान की किस्मत की वजह से आज आपको आर्थिक लाभ हो सकता है।

कुंभ: आज के दिन आपके चेहरे पर मुस्कान बिखरी रहेगी और अजनबी भी जाने-पहचाने से महसूस होंगे। आज के दिन आपको धन लाभ होने की पूरी संभावना है, लेकिन इसके साथ ही आपको दान-पुण्य भी करना चाहिए, क्योंकि इससे आपको मानसिक शांति मिलेगी।

मीन: उन भावनाओं को पहचानें, जो आपको प्रेरित करती हैं। डर, शंका और लालच जैसी नकारात्मक भावनाओं को छोड़ें, क्योंकि ये विचार उन चीज़ों को आकर्षित करते हैं, जो आप नहीं चाहते हैं। अनचाहा कोई महमान आज आपके घर आ सकता है जिसके आने से आपको घर के उन समानों पर भी खर्चा करना पड़ सकता है।

 

**************************************

 

बिकिनी में अलाया फर्नीचरवाला ने ढाया कहर, फैंस की बढ़ी धड़कने

27.06.2022 – अलाया फर्नीचरवाला की बोल्ड एंड सिजलिंग फोटोज फैंस को अपना दीवाना बना लिया है। अलाया एफ यूं तो हमेशा ही अपने ग्लैमरस लुक्स और फिटनेस को लेकर लाइमलाइट में बनी हुई रहती है। लेकिन अभिनेत्री की लेटेस्ट बिकिनी फोटोज ने तो सोशल मीडिया पर हंगामा मचा रही है।

बिकिनी में छाया अलाया का लुक: अलाया फर्नीचरवाला नई तस्वीरों में रेड एंड ब्लैक बिकिनी में सुपर स्टनिंग दिखाई दे रही हैं। बिकिनी में अलाया का सेंशुअस अंदाज देखकर किसी भी धड़कनें तेज हो सकती हैं। अभिनेत्री ने बिकिनी लुक के साथ अपने मेकअप को को एकदम सिंपल रखा है। मस्कारा और न्यूड लिप शेड में अलाया का लुक देखने लायक है।

ओपन कर्ली मेसी हेयर अलाया के लुक में चार्म एड करने का काम कर रहे है। बिकिनी पहने अलाया पूल साइड बैठकर पोज देती हुई दिखाई दे रही है। अलाया के एक्सप्रेशंस, लुक और उनका ग्रेस फैंस को दीवाना बना रहे है।

अलाया की बिकिनी तस्वीर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर तेजी से वायरल होने लग गई है। फैंस अलाया की तस्वीर पर आंखे तेरी है कितनी हसी हाय, यू आर लुकिंग सो सेक्सी यार जैसे कमेंट्स करके एक्ट्रेस की तारीफों के पुल बांधने में लगे हुए है। (एजेंसी)

****************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

बॉलीवुड में एंट्री करने जा रही है मशहूर अदाकारा जेनिफर विंगेट

27.06.2022 – टेलीविजऩ की मशहूर अदाकारा जेनिफर विंगेट के प्रशंसकों के लिए खुशखबरी है। टेलीविजऩ पर कभी कुमुद तो कभी माया बनकर दर्शकों के दिल में जगह बनाने वाली जेनिफर अब बॉलीवुड में एंट्री करने वाली हैं। जी हां, जेनिफर अपने बॉलीवुड डेब्यू को तैयार हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार, जेनिफर विंगेट जल्द ही कार्तिक आर्यन के साथ बड़े पर्दे पर दिखाई देने वाली हैं। हालांकि ना जेनिफर ने और ना ही कार्तिक ने अभी इन खबरों पर कोई आधिकारिक बयान दिया है, लेकिन खबरों की मानें तो दोनों स्टार्स को एक प्रोजेक्ट के लिए निर्माताओं की तरफ से अप्रोच किया जा चुका है। रिपोर्ट्स हैं कि दोनों सितारें इस प्रोजेक्ट के लिए हां करने वाले हैं। यदि ऐसा होता है तो कार्तिक और जेनिफर को साथ में देखना वास्तव में बहुत दिलचस्प होगा। जेनिफर विंगेट टेलीविजऩ की सबसे लोकप्रिय ही नहीं बल्कि हाईएस्ट पेड अभिनेत्रियों में से एक हैं। उन्होंने कसौटी जिंदगी की में स्नेहा बजाज, दिल मिल गए में डॉ. रिद्धिमा, सरस्वतीचंद्र में कुमुद, बेहद में माया के किरदार से दर्शकों में गहरी छाप छोड़ी है। छोटे पर्दे के अतिरिक्त वे फिल्मों में भी चाइल्ड एक्टर के रूप में काम कर चुकी हैं। इस सूची में अकेले हम अकेले तुम, राजा की आएगी बारात, राजा को रानी से प्यार हो गया, कुछ ना कहो और फिर से… सम्मिलित है। (एजेंसी)

**************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

यशवंत सिन्हा ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन दाखिल किया

नयी दिल्ली,27 जून (आरएनएस)। राष्ट्रपति पद के लिए 18 जुलाई को होने जा रहे चुनाव में विपक्ष के साझा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने सोमवार को नामांकन दाखिल किया।

सिन्हा ने नामांकन पत्रों के चार सेट राज्यसभा के महासचिव पी. सी. मोदी को सौंपे। पी. सी. मोदी राष्ट्रपति चुनाव के लिए निर्वाचन अधिकारी हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री सिन्हा के नामांकन दाखिल करने के मौके पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, द्रमुक नेता ए राजा, नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला और कई अन्य विपक्षी नेता मौजूद थे।

विपक्षी दलों ने सिन्हा को 21 जून को अपना साझा उम्मीदवार घोषित किया था।

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने पिछले सप्ताह शुक्रवार को नामांकन दाखिल किया था। राष्ट्रपति चुनाव 18 जुलाई को होना है। मतगणना 21 जुलाई को होगी।

वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है

****************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

सेंट्रल ब्यूरो ऑफ नारकोटिक्स (सीबीएन) की कार्यशाला में अभिनेता सुनील शेट्टी

27.06.2022 –  सेंट्रल ब्यूरो ऑफ नारकोटिक्स (सीबीएन) द्वारा अंधेरी मुंबई के करमीर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में जन जागरूकता अभियान के तहत आयोजित एक कार्यशाला में विशेष अतिथि के रूप में अभिनेता सुनील शेट्टी ने भाग लिया।

अभिनेता सुनील शेट्टी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए आगे कहा कि नशा करने वालों को कट्टर अपराधियों के रूप में  नहीं देखा जाना चाहिए व्यवहार और उन्हें कलंकित या पीड़ित नहीं किया जाना चाहिए, बल्कि हमारे समाज को उनके प्रति सहानुभूतिपूर्ण दृष्टिकोण रखना चाहिए और उन्हें ऐसी जानलेवा आदतों से बाहर आने में मदद करनी चाहिए।

सुनील शेट्टी के साथ, श्री राजेश एफ. ढाबरे, नारकोटिक्स कमिश्नर (सेंट्रल ब्यूरो ऑफ नारकोटिक्स) और डॉ. सारिका दक्षिकर, एसोसिएट प्रोफेसर (गोकुलदास तेजपाल अस्पताल, मुंबई) ने भी कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

नारकोटिक्स कमिशनर (सेंट्रल ब्यूरो ऑफ नारकोटिक्स)

राजेश एफ ढाबरे ने कहा “आज हमारे पास एक बहुत व्यापक कार्यशाला रहने की वजह से हमने नशीली दवाओं की लत और मादक पदार्थों की तस्करी के सभी पहलुओं पर विचार करते हुए काफी सफलता पाई है।

ऐसी कार्यशालाओं के माध्यम से, हमारा मुख्य उद्देश्य है समाज में अपराध दर को कम करने और लोगों को मादक पदार्थों की लत के परिणामों को समझने में मदद करने के लिए। हमने भारत को नशा मुक्त समाज बनाने का संकल्प लिया है।”

प्रस्तुति : काली दास पाण्डेय

*******************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

‘पानीलोक’ भारत की पहली अंडरवाटर एनिमेशन फिल्म

27.06.2022 – ‘पानीलोक’ भारत की पहली अंडरवाटर एनिमेशन फिल्म .  परिचय एनिमेशन स्टूडियो द्वारा बनाई जा रही पहली अंडरवाटर एनिमेशन थीम वाली फीचर फिल्म ‘पानीलोक’ की 40 प्रतिशत शूटिंग कंप्लीट हो चुकी है। निर्माता निर्देशक अंकित दे, ईपी अनूप दे की इस फिल्म में विख्यात वाइस ओवर आर्टिस्ट सोनल कौशल व संजय केनी ने अपनी आवाज़ दी है। पिछले दिनों मुम्बई के मेट्रोपोलिस होटल में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया गया जहां फ़िल्म के निर्माता निर्देशक अंकित दे, सह निर्देशक दीपशिखा देका, एग्जेक्युटिव प्रोड्यूसर अनूप दे, वाइस ओवर आर्टिस्ट सोनल कौशल और संजय केनी मौजूद थे।

भारतीय एनीमेशन के विकास के बारे में बात करते हुए, परिचय एनिमेशन स्टूडियो के प्रमुख और फिल्म के निर्देशक अंकित दे ने बताया कि आज भारतीय निर्देशक और एनीमेशन हाउस विश्व स्तरीय फिल्मों का निर्माण करने में सक्षम हैं, ‘पानीलोक’ बनाने के पीछे का विचार यह दिखाना था कि यह संभव है कि भारत में भी विश्व स्तरीय एनिमेशन फिल्म बनाई जा सकती है। उन्होंने आगे कहा कि, “भारतीय एनिमेशन इंडस्ट्री वास्तव में पिछले दशक में काफी विकसित हुई है। नई तकनीकों को अपनाने और रचनात्मक दिमाग के साथ काम करने की वजह से विश्व स्तर के एनीमेशन स्टूडियो की तुलना में हमारा सफर संभव हो पाया है।” गुणवत्ता के मामले में पानीलोक अन्य भारतीय एनीमेशन फिल्मों की तुलना में बहुत बेहतर है। हम एक बेंचमार्क स्थापित करना चाहते हैं और इस इंडस्ट्री में एक क्रांति लाना चाहते हैं। फिल्म की सह-निर्देशक दीपशिखा देका कहती हैं, “हमने इस फिल्म को इसलिए चुना क्योंकि यह कुछ ऐसा है जिसने हमारी दिलचस्पी तुरंत बढ़ा दी है।

मैं अपने लेखकों द्वारा दी गई कहानी से प्रभावित हूं क्योंकि इसने मुझे यह सोचने पर मजबूर कर दिया कि अगर हमें अपने भारतीय एनिमेशन इंडस्ट्री के लिए कुछ बड़ा हासिल करना है तो हमें एक ऐसे कार्य को पूरा करने के लिए खुद को चुनौती देनी होगी जो हमारे लिए नया हो और जो भारतीय एनीमेशन इंडस्ट्री में एक क्रांति ला दे।इंसान की गतिविधियों की वजह से होने वाले गंभीर पर्यावरणीय प्रभाव के बारे में बात करते हुए, यह फ़िल्म एक छोटे बच्चे के खोजी दिमाग की सुंदरता को भी सामने लाती है क्योंकि यह बच्चा रोमांच की खोज करता है और पानी की दुनिया से परे क्या है, वह इस बात की तलाश करता है। ऐसा पहली बार हो रहा है कि पर्यावरण प्रदूषण जैसे गंभीर मुद्दे पर आधारित एक अंडरवाटर थीम पर बेस्ड फीचर फिल्म बन रही है। यह फिल्म हिंदी और अंग्रेजी में होगी और 2023 में दुनिया भर में रिलीज होगी। फ़िल्म से जुड़े अधिकतर लोग आसाम से सम्बन्ध रखते हैं।

प्रस्तुति : काली दास पाण्डेय

*************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

ये पांच तरह के बैग, हर महिला के पास जरूर होने चाहिए

27.06.2022 – बैग न सिर्फ उपयोगी होते हैं बल्कि एक महत्वपूर्ण फैशन एक्सेसरी भी है। खासतौर से महिलाओं के लिए क्योंकि उनके ज्यादात्तर आउटफिट में जेब नहीं होती है, जिस वजह से उन्हें अपने साथ एक बैग कैरी करना पड़ता है, जिसमें वह अपनी हर जरूरत की चीज को रखती हैं। वैसे बाजार में अलग-अलग तरह के बैग उपलब्ध हैं, लेकिन आज हम आपको पांच ऐसे बैग के बारे में बताने जा रहे हैं, जो हर महिला के पास जरूर होने चाहिए।

टोटे बैग

बाजार में उपलब्ध सबसे लोकप्रिय बैगों में से एक टोटे बैग बड़े होते हैं, जिसे महिलाएं अपने किसी भी तरह के आउटफिट के साथ कैरी कर सकती हैं। आमतौर पर कपड़े या फिर लैदर से बने टोटे बैग कैरी करने के लिए आरामदायक होते हैं और दैनिक इस्तेमाल या जब आप खरीदारी के लिए बाहर जाते हैं तो उसके लिए भी यह एकदम सही हैं। अच्छी बात यह है कि टोटे बैग पर्यावरण के अनूकुल होते हैं।

शोल्डर बैग

क्लासिक शोल्डर बैग 1990 के दशक के दौरान बहुत लोकप्रिय था और अभी भी आधुनिक पीढ़ी के बीच लोकप्रिय है क्योंकि यह स्टाइलिश है और आपके आउटफिट में एक अतिरिक्त स्टाइल शामिल करता है। आजकल बाजार में कई तरह के डिजाइन और मध्यम आकार में शोल्डर बैग मौजूद है, जिनमें से आप अपने पसंदीदा शोल्डर बैग खरीदकर कॉलेज, ऑफिस या फिर किसी छोटी ट्रेवलिंग ट्रिप के लिए कंधे पर टांग कर ले जा सकती हैं।

स्लिंग बैग

स्लिंग बैग का आकार छोटा होता है, इसलिए महिलाएं इसे कहीं भी जाते समय आसानी से कैरी कर सकती हैं और उसमें अपनी जरूरी चीजें जैसे चाबियां, मोबाइल, पैसे और दवाइयां आदि रख सकती हैं। इस बैग्स में एडजस्टेबल स्ट्रैप होता हैं, जिन्हें आप अपने कंफर्ट अनुसार बड़ा या छोटा करके कंधे पर टांग सकती हैं। यह बैग रोजमर्रा के इस्तेमाल के लिए बिल्कुल सही है और आपके लगभग हर आउटफिट के साथ भी जचेगा।

बैकपैक

बैकपैक में महिलाएं अपना लैपटॉप, हल्के कपड़े और किताबें आदि बहुत ही आसानी से कैरी कर सकती हैं। वैसे आजकल बाजार में बैकपैक की भी कई तरह की वैरायटी उपलब्ध हैं और आपको यह अलग-अलग आकार और सुविधाओं से युक्त भी मिल सकता है, इसलिए जब भी बैकपैक खरीदने जाए तो अपनी जरूरत को ध्यान में रखें। बेहतर होगा कि आप सोबर रंग, हल्का और वाटरप्रूफ बैकपैक ही खरीदें।

फैनी पैक

1990 के दशक की शुरुआत में लोकप्रिय हुए फैनी पैक या बेल्ट बैग दोबारा से चलन में आ गए हैं, जिन्हें आमतौर पर कमर के चारों ओर बांधकर कैरी कर सकते हैं और अपने हाथों को मुक्त करके सुविधा प्रदान कर सकते हैं। बाइकिंग या क्लबिंग के दौरान पर्स ले जाने की बजाय फैनी पैक कैरी कर सकती हैं। यकीनन यह आपको फैशनेबल लुक भी देंगे। वहीं, कैजुअल आउटफिट पर तो ये काफी सूट करते हैं। (एजेंसी)

************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

अनानास के इन फायदों को जानकार रोज खाएंगे आप

27.06.2022 – खट्टे -मीठे स्वाद के साथ से भरपूर अनानास को सेहत के लिए सबसे अहम और लाभकारी माना जाता है। जी हाँ और कई बीमारियों में मरीजों को इलाज के दौरान विशेषज्ञ इसे खाने की सलाह देते है। जी दरअसल अनानास बॉडी में इम्युनिटी बढ़ाने के लिए एक अच्छा तरीका माना जाता है और इसके सेवन से बॉडी से जुडी कई परेशानियां दूर होती है। आज हम आपको बताते हैं इसको खाने के फायदे।

* अनानास मोटापा दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योकि अनानास में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है। इस वजह से अनानास का सेवन स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होता है यह पाचन शक्ति को बढ़ाने के साथ साथ वजन को भी कम करने में सहायता करता है। जी दरअसल अनानास में विटामिन ए भी पाया जाता है इसमें विटामिन के अलावा फाइबर पोटेशियम फास्फोरस और कैल्शियम भी मौजूद होते है यह सभी तत्व बॉडी को हेल्दी रखने के लिए बहुत जरुरी होते है

* अनानास में फाइबर मैग्नीशियम होता है इसमें मौजूद थाइमिन हार्ट को हेल्दी रखने के लिए अच्छा माना जाता है। इसी के साथ अनानास में कई तरह के एंटी ऑक्सीडेंट्स तत्व पाए जाते है जो बॉडी को फिट रखने में सहायता करते है। जी हाँ और यह एंटीऑक्सीडेंट्स गठिया ह्रदय संबंधी रोग और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से आपको दूर रखता है अनानास खाने से दांतऔर मसूड़े मजबूत होते है।

* हाई ब्लड प्रेशर से परेशान लोगो अपनी डाइट में पाइनेपल को शामिल कर सकते है। जी दरअसल इसमें पर्याप्त मात्रा में पोटेशियम पाया जाता है और इसमें सोडियम की मात्रा काफी कम होती है। इसी के साथ इससे यह बॉडी में ब्लड फ्लो को शानदार बनाए रखता है।

* आपको शायद ही पता होगा कि अनानास में एंटी कैंसर एजेंट होते है। जी दरअसल अनानास के नियमित सेवन करने से बॉडी में कैंसर का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। (एजेंसी)

****************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

आज का राशिफल

मेष: आज आप कुछ नए मित्र बनाएंगे। नए मित्रों का साथ आप में नए उत्साह जागृत करेगा और आप उनके साथ मौज-मस्ती से समय व्यतीत करेंगे। आप उनके साथ मौज-मस्ती से समय व्यतीत करेंगे। आप उनके साथ विचार का आदान-प्रदान और पसंदगी के विषयों पर बातचीत भी करेंगे। शाम का समय आप मौज-मस्ती और मनोरंजन में व्यतीत करेंगे।

वृष: आज का दिन चिंताओं से रहित होगा। फिर भी आप अनावश्यक चिंता करके मानसिक तनाव अनुभव करेंगे। एक साथ बहुत से कार्य हाथ में लेने के कारण ऐसा हो सकता है। यदि आप इसके पीछे का कारण खोजने का प्रयास करेंगे, तो लगेगा कि यह परिस्थिति आपने स्वयं ही खड़ी की है। आपकी व्यावहारिकता परिस्थिति में बहुत परिवर्तन ला सकेगी।

मिथुन: आज आप कोई धार्मिक कार्य करेंगे अथवा धार्मिक स्थान की मुलाकात लेंगे। धर्म या आध्यात्मिक कार्य के पीछे पैसे खर्च करेंगे। इन सभी में आप दैनिक कर्तव्यों के प्रति लापरवाह न बन जाएं, इसका ध्यान रखें। परीक्षा में लापरवाही न बरतें।

कर्क: आज आप विदेश से अच्छे समाचार प्राप्त कर सकेंगे। ऐसी संभावना है कि निकटस्थ स्नेही या प्रियजन आज आपको भेंट-सौगात द्वारा सुखद आश्चर्य देंगे। इसलिए आज आप बहुत अधिक खुश रहेंगे। अपनी सिद्धियों के कारण भी आपको आनंद और संतोष का अनुभव होगा।

सिंह: आज आप अपने आपको दोषी समझेंगे, इसीलिए अपने साथी को रिझाने और खुश करने के लिए यथा संभव प्रयास करेंगे। आप अपने प्रियतम को मनाने में सफल होंगे। व्यापारीवर्ग को समस्त व्यापारिक सौदे विशेष रूप से आर्थिक लेन-देन में सावधानी रखने की आवश्यकता है।

कन्या: आज आप अपने मन से सभी नकारात्मक विचारों को दूर कर दें। आप आध्यात्मिकता और योग, ध्यान जैसी प्रवृत्तियों में अधिक रुचि लेंग। कार्य का भार कम होने से मानसिक विश्रांति अनुभव करेंगे। व्यापार में अचानक लाभ हो सकता है।

तुला: आज आप जोश और उत्साह से छलकते होंगे औऱ महत्वाकांक्षाएं पूरी करने के लिए प्रतिबद्ध होंगे। आज ऐसी संभावना है कि आप मित्रों और परिजनों के साथ यात्रा का आयोजन करेंगे, परंतु यह आयोजन जितना जल्दी हो उतना अच्छा रहेगा। शाम के समय रमणीय स्थान पर घूमने जा सकते हैं।

वृश्चिक: आज आप नए प्रोजेक्ट शुरू करेंगे, जो आपको निश्चित रूप से सफलता दिलाएगा। लोग आपके कार्य की प्रशंसा करेंगे। आपने अपने प्रयत्नों द्वारा जो पाया है, उसका संतोष और आनंद आप अनुभव कर सकेंगे। प्रेमी के साथ कहीं घूमने का कार्यक्रम बन सकता है।

धनु: भरपूर मौज-मस्ती और मनोरंजन वाला दिन है, जिसमें आप खर्च की परवाह किए बिना पार्टी वगैरह में खुले हाथ पैसे का उपयोग करेंगे। तत्वज्ञान में रुचि रखने वाले मित्र मिल जाने से वह ज्ञान गोष्ठी कर सकेंगे। आप अपने प्रिय व्यक्ति से दिल की बातें अच्छी से कर पाएंगे।

मकर: आज आप भविष्य के लिए कुछ योजना बनाएंगे। आप इस योजना पर अच्छी तरह विचार करने के पश्चात अमल में लाएंगे, तो निश्चित रूप से सफलता प्राप्त करेंगे । आज का दिन भी आपके लिए सफलता का है।

कुंभ: आज का दिन मैनेजर और प्रशासनिक अधिकारियों के लिए लाभदायक रहेगा। आज अव्यवस्था दूर होगी। कार्य में आज आप अधिक व्यावसायिक रुख अपनाएंगे। आप अपने सरल दृष्टिकोण के कारण अपना कार्य पूरा कर सकेंगे।

मीन: आज आपकी दुनिया पैसे के आसपास घूमती हुई प्रतीत होगी। बैंक अकाउंट, शेयर, आर्थिक समृद्धि तथा बचत आदि बातों पर आपका ध्यान अधिक केंद्रित होगा। अधिक अर्थोपार्जन की इच्छा जागृत होगी। प्रेमी का के साथ अचानक मुलाकात होगी।

*********************************

ऐतिहासिक : उपचुनाव में बीजेपी की जीत से गदगद हुए पीएम मोदी

जनता का जताया आभार

नई दिल्ली ,26 जून (आरएनएस)।उपचुनाव में बीजेपी की जीत से गदगद हुए पीएम मोदी . देश की 3 लोकसभा और 7 विधानसभा सीटों पर 23 जून हुए उपचुनाव के नतीजे रविवार को घोषित हो गए। यूपी की आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा सीट पर बीजेपी ने बंपर जीत हासिल की। उपचुनाव में भाजपा के पक्ष में वोट डालने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश, झारखंड, दिल्ली, पंजाब, उत्तर प्रदेश और त्रिपुरा के सभी मतदाताओं का आभार व्यक्त किया।
पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए आजमगढ़ और रामपुर में बीजेपी की जीत को ऐतिहासिक करार दिया। पीएम मोदी ने कहा कि आजमगढ़ और रामपुर उपचुनाव में जीत ऐतिहासिक है। यह केंद्र और यूपी में डबल इंजन सरकार के लिए व्यापक पैमाने पर स्वीकृति और समर्थन का संकेत देता है। समर्थन के लिए लोगों का आभारी हूं। मैं हमारी पार्टी कार्यकर्ताओं के प्रयासों की सराहना करता हूं।
वहीं एक और ट्वीट में पीएम मोदी ने कहा, मैं त्रिपुरा के लोगों को हमारे विकास के एजेंडे में विश्वास जताने और सीएम माणिक साहा सहित हमारे उम्मीदवारों को उपचुनाव में जीत का आशीर्वाद देने के लिए धन्यवाद देता हूं। हमारी सरकार लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करती रहेगी। मैं कार्यकर्ताओं की कड़ी मेहनत की सराहना करता हूं। इसके अलावा पीएम मोदी ने आंध्र प्रदेश, झारखंड, दिल्ली और पंजाब में पार्टी को वोट देने वाले सभी मतदाताओं का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि हम लोगों के बीच काम करते रहेंगे और जनकल्याण के मुद्दे उठाते रहेंगे।
आपको बता दें कि आज जारी हुए रिजल्ट में यूपी की दोनों लोकसभा सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की है, जबकि त्रिपुरा में चार विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा ने 3 सीटों पर कब्जा जमाया है।

*****************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

आज का राशिफल

मेष: परिजनों के सानिध्य में दिन व्यतीत होगा। स्वास्थ्य के प्रति सावधानी अपेक्षित है। बुद्धिमत्ता द्वारा हर दिशा में अपने को पारंगत सावित करेंगे। मन में कुछ नयी ईच्छाएं बलवती होंगी।

बृषभ: हर रिश्ते में माता के स्वास्थ्य के प्रति कुछ चिन्ताएं होंगी। व्यावसायिक योजनाएं विफल होती नजर आएंगी। धार्मिक आस्था बढ़ेगी। अपने अनुकूल अपेक्षा आपकी सबसे बड़ी मूर्खता है।

मिथुन: देवी आराधना में मन केन्द्रित होगा। परिजनों के सानिध्य में मधुर वाणी का प्रयोग करें। भविष्य संबंधी चिन्ताएं मन में नकारात्नक विचार ला सकती हैं। मन में कुछ नयी ईच्छाएं बलवती होंगी।

कर्क: आवेश व उच्छृंखलता पर नियंतण्रकरें। ईश्वरीय आस्था से मन में शांति का वास होगा। परिजनों के मध्य सब कुछ सामान्य होगा। पारिवारिक चिन्ताओं से मन ग्रसित होगा।

सिंह : किसी पुराने संबंधी से निकटता बढ़ेगी। घरेलू दायित्वों के प्रति सक्रियता से आपकी महत्ता बढ़ेगी। अन्तर्मरुखी स्वभाव को त्याग बर्हिमुखी बनें। पूजा-पाठ में पूरा दिन मन केन्द्रित होगा।

कन्या : कुछ नयी अभिलाषाएं आपको हतोत्साहित करेंगी। नये दायित्वों की पूर्ति हेतु परिश्रम तीव्र होगा। संबंधों में व्यवहार कुशल बनें। पारिवारिक वातावरण में उत्साह का माहौल रहेगा।

तुला : भावना प्रधान मन रिश्तों से सहज ही प्रभावित हो जाता है, लेकिन रह-रहकर भावनात्मक अपेक्षाएं कष्ट की जननी बनेगी। दुविधाओं को त्याग कर सही व स्वच्छ योजनाओं पर केन्द्रित हों।

वृश्चिक : संबंधों में मधुर वाणी का प्रयोग करें। धार्मिक आस्था से मन में उत्साह का संचार होगा। कार्य क्षेत्र में लोकप्रियता बढ़ेगी। विद्यार्थियों का मन पढ़ाई में लगेगा।

धनु: दूसरों की सफलता को देख अपने अन्दर हीनता न आने दें। आवेश में कुछ न बोलें। मन को ईरीय आस्था में केन्द्रित करें। अच्छा होगा कि थोड़ा घर में समय देने की चेष्ठा करें।

मकर : मन की भावनाओं पर नियत्रंण कर दायित्वों के प्रति सजग रहें। धार्मिक कार्यो में मन लगेगा। महत्वपूर्ण कार्यो में आलस्य न करें परिजनों का सानिध्य मिलेगा परन्तु वाणी पर संयम रखें।

कुंभ : ईश्वरीय आस्था में मन केन्द्रित होगा। पारिवारिक व्यवस्था में समय व्यतीत होगा। कुछ नयी आकांक्षाएं मन पर प्रभावी होंगी। महत्वपूर्ण दायित्व की पूर्ति हेतु समुचित व्यवस्था में मन चिन्तित होगा।

मीन : देवी की आराधना में दिन व्यतीत होगा। राजनीतिक क्षेत्र के व्यक्तियों का सहयोग प्राप्त होगा। भौतिक-सुख साधन हेतु व्यय के आसार हैं। आर्थिक चिन्ताएं मन प्रभावी होंगी। धार्मिक आस्था बढ़ेगी।

**********************************

अग्निपथ योजना की नियमित समीक्षा कर खामियों को दूर किया जाएगा: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

नई दिल्ली 25 June (Rns)  रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेनाओं में जवानों की भर्ती की नई योजना अग्निपथ पथ को लेकर उठ रही आशंकाओं को बेवजह करार देते हुए शनिवार को कहा कि इस योजना की नियमित रूप से समीक्षा की जाएगी और खामियों को समय-समय पर दूर किया जाएगा।

श्री सिंह ने आज एक टेलीविजन चैनल के सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा की सरकार ने इस योजना को बहुत सोच समझ कर तैयार किया है और इसे लागू करने में जो भी चुनौतियां आने की संभावना थी उनका निराकरण किया गया है। उन्होंने कहा, “जब कभी भी कोई नई योजना आती है तो उसे लेकर कुछ आशंकाएं लोगों के मन में रहती है। ‘अग्निपथ योजना’ में जो भी चैलेंज आने की संभावनाएं थी उनका भी निराकरण किया गया है।” उन्होंने कहा कि वह इन आशंकाओं को खारिज नहीं करना चाहते, लेकिन उनका मानना है कि यह आशंका होनी ही नहीं चाहिए।

रक्षा मंत्री ने कहा कि वह इस योजना को रक्षा क्षेत्र में बड़े बदलाव वाला सुधार मानते हैं और इससे भर्ती प्रक्रिया में भी क्रांतिकारी बदलाव होगा। उन्होंने कहा कि अग्नि वीरों की सेवा के चार वर्ष पूरे होने के बाद उनमें से 25 प्रतिशत को नियमित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बाकी बचे 75 प्रतिशत के भवष्यि को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं लेकिन वह युवाओं को आश्वस्त करना चाहते हैं कि बाकी बचे 75 के 75 प्रतिशत भी यदि बाद में नौकरी करना चाहते हैं तो उनके लिए भी सरकार ने योजना बनाई है।

उन्होंने युवाओं को आश्वस्त किया कि एक बार अग्निपथ योजना को लागू होने दें सरकार इसकी प्रतिवर्ष समीक्षा करेगी और कहीं भी कोई भी कमी होगी तो उस चुनौती का मुकाबला कर कमी को दूर किया जाएगा यह उनकी सरकार का संकल्प है। उन्होंने कहा कि किसी को भी देश के नौजवानों को गुमराह नहीं करना चाहिए।

*********************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

कश्मीर अब पूरी तरह हमारा है..

विष्णुदेव साय – कश्मीर अब पूरी तरह हमारा है. जम्मू कश्मीर को देश के संविधान के दायरे में लाने सबसे पहले आवाज उठाने वाले महान विचारक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस के संदर्भ में यह उद्घोष उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है कि शहीद हुए थे जहां मुखर्जी वह कश्मीर अब पूरी तरह हमारा है।

डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी का यह प्रण आजादी के 7 दशक बीत जाने के बाद तब पूरा हुआ जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने अगस्त 2019 में संसद में संविधान के अनुच्छेद 370 एवं 35-ए को खत्म करने का अध्यादेश पारित कराया। इसके बाद ही जम्मू कश्मीर सच्चे अर्थों में भारत का अभिन्न अंग बना। साजि़श के तहत जिन शर्तों और नियमों के साथ जम्मू कश्मीर को भारत में शामिल किया गया था, उसके विरुद्ध डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी शुरु से ही मुखर थे।

उन्होंने जम्मू कश्मीर जाकर अपना विरोध दर्ज कराया। लेकिन दुर्भाग्य से उनके जीवन काल में उनका स्वप्न साकार नहीं हो सका। रहस्यमय परिस्थितियों में 23 जून 1953 को उनका निधन हो गया। डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी देश की अखंडता के लिए बलिदान देने वाले पहले व्यक्ति थे। डॉ मुखर्जी का सपना सच होने के बाद जम्मू कश्मीर के हालात में आया क्रांतिकारी परिवर्तन इस सत्य का प्रमाण है कि यदि तब देश को कश्मीर से अलग थलग करने वाली शर्तें लागू न की गई होतीं तो परिस्थिति वह नहीं होती, जो सत्तर साल के दौरान सामने आई।

लेकिनअब जम्मू कश्मीर का विकास संभव हो गया है। केंद्र की भाजपा सरकार ने विकास की प्रतिबद्धता व्यक्त की है। चालू वित्त वर्ष के बजट में केंद्र सरकार ने धरती के स्वर्ग को संवारने पुख्ता इंतजाम किया है। केवल कश्मीर ही नहीं, आज हम जो बंगाल देख रहे हैं, वह भी डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने ही गढ़ा है। यदि उन्होंने बंगाल के विभाजन का पक्ष न रखा होता तो पूरा बंगाल ही भारत के हाथ से निकल गया होता। भारत विभाजन की त्रासदी के शिकार हुए लाखों शरणार्थियों की सेवा के लिए डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने मिसाल कायम की, वह अद्वितीय है।

तत्कालीन प्रधानमंत्री नेहरू की नीतियों के विरोध में उद्योग मंत्री का पद त्याग देने वाले डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने देश को वह उद्योग नीति दी, जिससे औद्योगिक विकास हो सका। यदि कांग्रेस और नेहरू ने डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के विचारों की गंभीरता को देशहित में स्वीकार किया होता तो भारत सत्तर साल तक वैश्विक अर्थव्यवस्था में उपेक्षित नहीं रहता।डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी भाजपा की हर सांस में बसे हैं। जनसंघ के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. मुखर्जी ने कलकत्ता विश्वविद्यालय का प्रतीक चिन्ह बदलकर कमल पुष्प रखा था।

भारतीय जनता पार्टी का प्रतीक चिन्ह कमल है जो उनके विचारों और आदर्शों पर चलने की प्रेरणा देता है। डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने कांग्रेस के विरुद्ध राष्ट्रवादी विकल्प का संकल्प लिया था, जिसे भारतीय जनता पार्टी ने पूर्ण कर दिया है। नेहरू और कांग्रेस ने देश पर जो नीतियां थोपीं, उनसे गुलामी की बदबू आ रही थी। देश इन बेडिय़ों को तोडऩे कसमसा रहा था। अवसर मिला तो अटलबिहारी वाजपेयी जी ने डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के राष्ट्रवाद और पंडित दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद के पथ पर संचलन करते हुए देश को नई दिशा दी।

उनके बाद कांग्रेस के दस साल में फिर देश जहां का तहां पहुंच गया तो भारत का गौरव बढ़ाने का जनादेश मां भारती के फौलादी सुपुत्र नरेंद्र मोदी को मिला। तब से अब तक आठ साल में भारत विश्व की महाशक्तियों के बीच सम्मान पा रहा है। डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने कांग्रेस के विरुद्ध जिस राष्ट्रवादी विकल्प का सपना देखा था, वह कांग्रेस ही नहीं वैश्विक परिदृश्य में भी साकार हो गया है। आज भारत विश्व बिरादरी के लिए अपरिहार्य है। भारत की उद्योग नीति इतनी सुदृढ़ हो गई है कि औद्योगिक विकास नित नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। डॉ.

श्यामाप्रसाद मुखर्जी की संकल्प शक्ति भारत विकास की मार्गदर्शन कर रही है। भारत माता के बलिदानी सपूत डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी को विनम्र श्रद्धांजलि।

(लेखक छत्तीसगढ़ प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष हैं)

***********************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

Exit mobile version