Press conference regarding the program to be organized on World Tribal Day

विश्व आदिववासी दिवस पर 09 और 10 अगस्त को मोरहाबादी में होगा कार्यक्रम

विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर रांची के मोरहाबादी में 09 एवं 10 अगस्त को आयोजित किये जानेवाले कार्यक्रम को लेकर आदिवासी कल्याण आयुक्त श्री मुकेश कुमार, उपायुक्त रांची श्री राहुल कुमार सिन्हा एवं निदेशक जनजातीय कल्याण शोध संस्थान श्री रणेन्द्र कुमार ने संयुक्त प्रेसवार्ता की। समाहरणालय ब्लॉक ए स्थित उपायुक्त सभाागर में आयोजित प्रेसवार्ता में दो दिवसीय कार्यक्रम और तैयारी के बारे में मीडिया को विस्तार से जानकारी दी गयी।

प्रेस वार्ता के दौरान उपायुक्त रांची श्री राहुल कुमार सिन्हा ने बताया कि विश्व आदिवासी दिवस का आयोजन वृहद पैमाने पर किया जा रहा है। इसमें विभिन्न राज्यों के आदिवासी कला संस्कृति से जुड़े लोगों द्वारा अपनी-अपनी प्रस्तुति दी जायेगी। साथ ही विभिन्न क्षेत्रों के महानुभावों/बृद्धिजीवियों अलग-अलग टॉपिक्स पर पैनल डिस्कशन तथा सेमिनार में भी सम्मिलित होंगे। इसके अतिरिक्त खेल प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जायेगा। जिसमें विभिन्न जिलों की टीमें हिस्सा लेंगी। प्रतियोगिता में विजयी टीमों को पुरस्कृत भी किया जाएगा।

उपायुक्त श्री राहुल कुमार सिन्हा ने कहा कि कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य आदिवासी कला संस्कृति की अस्मिता को मुख्यधारा में लाकर सभी के बीच लाकर उचित तरीके से प्रचारित करना है। कार्यक्रम के दौरान शिक्षा, राजनीति, गवर्नेंस, स्पोर्ट्स सहित विभिन्न क्षेत्र के एक्सपर्ट विचार विमर्श करते हुए और विस्तार पूर्वक राज्य के ट्राइबल सेक्टर में क्या डेवलपमेंट हो सकते हैं इस पर प्रकाश डालेंगे।

त्योहार के रुप में आयोजित किया जायेगा कार्यक्रम – उपायुक्त

उपायुक्त श्री राहुल कुमार सिन्हा ने बताया कि महिला स्वयं सहायता समूह द्वारा भी नए-नए प्रोडक्ट्स का उत्पादन किया जाता है उनकी बिक्री के लिए इस कार्यक्रम द्वारा मेजर प्लेटफार्म उपलब्ध कराया जाएगा। झारक्राफ्ट के माध्यम से जो नए वस्तुओं का उत्पादन किया जाता है उसकी भी बड़े पैमाने पर प्रदर्शनी लगायी जाएगी। उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर यह दो दिवसीय कार्यक्रम त्योहार के रूप में आयोजित किया जाएगा और इसमें हम सभी की अपेक्षा रहेगी कि बड़े पैमाने पर इस राज्य के लोगों की सहभागिता हो।

प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए आदिवासी कल्याण आयुक्त श्री मुकेश कुमार ने कहा कि कार्यक्रम के तीन मेजर फोकस है। पहला एग्जिबिशन है, जिनमें अलग-अलग स्टॉल के जरिए ट्राइबल समाज द्वारा उत्पादित लोकल प्रोडक्ट का प्रदर्शन करना है। उन्होंने बताया कि इसके लिए करीब 100 स्टॉल जायेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य के विभिन्न 24 जिलों की जो भी स्पेशलिटी है इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से उनका राइट एग्जिबिशन कराने का प्रयास होगा।

आदिवासी कल्याण आयुक्त श्री मुकेश कुमार ने बताया कि इस दो दिवसीय कार्यक्रम के दौरान आदिवासी समाज के विभिन्न मुद्दों को लेकर परिचर्चा का आयोजन किया जायेगा। पैनल डिस्कशन में राष्ट्रीय स्तर के बड़े नामचीन लोगों के साथ दूसरे देशों की भी हस्तियां शामिल होगीं। इनके लॉजिस्टिक्स की व्यवस्था राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा की जायेगी।

श्री मुकेश कुमार ने बताया इस दो दिवसीय कार्यक्रम के दौरान आदिवासी समाज की जो सांस्कृतिक विरासत है उसका प्रदर्शन किया जाएगा। कार्यक्रम में आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, उड़ीसा, सिक्किम, नॉर्थ ईस्ट के कई पार्टिसिपेंट के साथ झारखंड के स्थानीय कलाकारों को भी आमंत्रित किया गया है।

आदिवासी कल्याण आयुक्त श्री मुकेश कुमार ने बताया कि विश्व आदिवासी दिवस पर जनजातीय परिधान प्रदर्शन से संबंधित भी कार्यक्रम भी आयोजित किया जा रहा है। फैशन जगत के बड़े नामचीन लोगों को आमंत्रित किया गया है। कार्यक्रम में ट्राइबल वेशभूषा का प्रदर्शन किया जाएगा। कार्यक्रम में मिस इंडिया कंटेस्टेंट रिया तिर्की को भी आमंत्रित किया गया है।

मोरहाबादी में आयोतित दो दिवसीय राज्यस्तरीय कार्यक्रम में फूड स्टॉल भी लगाये जायेंगे जिनमें आदिवासी संस्कृति की महक मिलेगी। श्री मुकेश कुमार ने बताया कि आदिवायी व्यजंनों को प्रमोट किया जायेागा। फूड स्टॉल ओपन टू ऑल होंगे, लोग भुगतान कर व्यंजनों का स्वाद ले सकेंगे।

आदिवासी कल्याण आयुक्त श्री मुकेश कुमार कार्यक्रम को लेकर जिला प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारी पर लेकर संतुष्ट नजर आये। उन्होंने कहा कि जिला ने विस्तृत योजना बनाई है, कार्यक्रम स्थल पर अच्छी तैयारी चल रही है।

श्री मुकेश कुमार ने बताया कि कार्यक्रम स्थल के डेकोरेशन में जनजातीय जीवन शैली के चित्रण का प्रयास होगा। कार्यक्रम स्थल में आदिवासी समाज को परिलक्षित करते पेंटिंग और वाद्ययंत्रों का प्रदर्शन किया जाएगा।

कार्यक्रम की और विस्तृत जानकारी देते हुए श्री मुकेश कुमार ने विश्व आदिवासी दिवस को राज्य सरकार बड़े धूमधाम से सेलिब्रेट करने जा रही है। 9 और 10 तारीख को उत्सवधर्मी तरीके से आदिवासी समाज की खुशबू को प्रदर्शित करने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है, जिसमें सभी लोग सादर आमंत्रित हैं। 09 अगस्त को दोपहर 01ः00 बजे सेे कार्यक्रम की शुरुआत होगी जो देर रात 10ः00 बजे तक चलेगा। कार्यक्रम के शुरुआत में नार्थ ईस्ट की रॉक बैंड, राज्य की पाइका टीम, लोकल बैंड पार्टिसिपेट करेंगे। इसमें बंबू डांस, फैशन शो के साथ कई तरह के इवेंट्स देखने को मिलेंगे। अगले दिन 10 अगस्त की सुबह 11ः00 बजे से रात 10ः00 बजे तक कार्यक्रम चलेगा।

टीआरआई निदेशक श्री रणेन्द्र कुमार ने कहा कि यह कार्यक्रम आदिवासी जीवन की बौद्धिकता और उपलब्धियों के मेगा इवेंट का बड़ा हिस्सा होगा। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के दौरान चार सेमिनार आयोजित किये जायेंगे। दोनों दिन देश और दुनिया के नामचीन जानकार परिचर्चा में शामिल

**********************************

इसे भी पढ़ें : मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना

इसे भी पढ़ें : आबादी पर राजनीति मत कीजिए

इसे भी पढ़ें : भारत में ‘पुलिस राज’ कब खत्म होगा?

इसे भी पढ़ें : प्लास्टिक मुक्त भारत कैसे हो

इसे भी पढ़ें : इलायची की चाय पीने से मिलते हैं ये स्वास्थ्य लाभ

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.