Palak Tiwari to make her Bollywood debut with RomeoS3, not Salman's Bhaijaan

15.07.2022 – टीवी इंडस्ट्री की लोकप्रिय एक्ट्रेस श्वेता तिवारी की बेटी पलक तिवारी अपने बॉलीवुड डेब्यू को लेकर चर्चा में बनी हुई हैं। बीते दिनों रिपोर्ट्स में बताया गया था कि पलक तिवारी जल्द ही सलमान खान की फिल्म कभी ईद कभी दिवाली उर्फ भाईजान से इंडस्ट्री में कदम रखने जा रही हैं। ऐसे में अब जो अपडेट सामने आया है उसके अनुसार कभी ईद कभी दिवाली से पहले पलक तिवारी के साथ एक बड़ी फिल्म लग गई है।

बताया जा रहा है कि पलक तिवारी जल्द ही ठाकुर अनूप सिंह के साथ फिल्म रोमियोएस3 में दिखाई देंगी।प्रोजेक्ट से जुड़े एक सूत्र ने बताया, पलक तिवारी इन दोनों फिल्मों में अलग-अलग अवतार में नजर आएंगी। पलक उन फिल्मों में काम करना चाहती हैं, जिनमें उनकी परफोर्मेंस को महत्व दिया जाए। मेकर्स रोमियोएस3 की रिलीज डेट फाइनल करने पर काम कर रहे हैं।

पलक के फैंस उन्हें इस फिल्म में लीड रोल में देखने के लिए बेताब हैं।रोमियोएस3 तमिल फिल्म एस3 उर्फ सिंघम 3 का हिंदी रीमेक है, जिसमें सूर्या, अनुष्का शेट्टी और श्रुति हासन ने अभिनय किया है। गुड्डू धनोआ ने एस 3 के हिंदी रीमेक का निर्देशन किया था। रोमियोएस3 से डायरेक्टर लगभग 15 साल बाद हिंदी सिनेमा में वापसी कर रहे हैं। गुड्डू धनोआ ने शाहरुख खान की पहली फिल्म दीवाना का निर्माण किया था।

उन्होंने आखिरी बार सनी देओल और प्रियंका चोपड़ा अभिनीत फिल्म बिग ब्रदर (2007) का निर्देशन किया था।रिपोर्ट्स के मुताबिक अनूप फिल्म में खलनायक की भूमिका निभाने वाले थे लेकिन निर्माताओं ने उन्हें लीड रोल देकर हीरो बनाने का फैसला किया।

रोमियोएस3 को जयंतीलाल गड़ा प्रोड्यूस कर रहे हैं। अनूप ने कमांडो 2 (2017) में अभिनय किया है और दिलचस्प बात यह है कि वह एस 3 का भी हिस्सा थे, जो उसी साल रिलीज हुई थी. (एजेंसी)

**************************************

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.