Nora wore such a dress in the month of Ramadan that she became a troll

30.04.2022  – नोरा ने रमजान के महीने में पहनी ऐसी ड्रेस कि हो गईं ट्रोल. नोरा फतेही को हर कोई पसंद करता है और उन्होंने अपने अभिनय से ही नहीं बल्कि अपने डांस से भी सभी का दिल जीता है। आज के समय में फिल्मी पर्दे पर हों, टीवी में या फिर इंस्टा पर, हर तरफ उनके ही उनके चर्चे हो रहे हैं। वैसे एक्ट्रेस का फैशन सभी के मन को भाता है और नोरा अपने डांस मूव्स के अलावा अपने फैशन सेंस के लिए भी जानी जाती हैं। अब हाल ही में अभिनेत्री नोरा फतेही का एक वीडियो सामने आया है जिसमें कुछ लोग उनके कपड़ों पर आपत्ति जता रहे हैं।
जी हाँ और इसी के चलते अब नोरा को बुरी तरह से ट्रोल किया जाने लगा। जी दरअसल, नोरा फतेही को रिवीलिंग ड्रेस पहनने को लेकर ट्रोल किया जाने लगा। आप सभी देख सकते हैं एक्ट्रेस नोरा का एक वीडियो सामने आया जिसमें वह एयरपोर्ट में देखी गईं। जी हाँ और इस दौरान एक्ट्रेस नोरा का एयरपोर्ट लुक काफी क्लासी था, हालाँकि लोगों को उनका ये क्लासी लुक पसंद नहीं आया। जी हाँ और इस दौरान यह कहते हुए नोरा को लैश-आउट किया गया कि ‘रमजान’ के महीने में वह रिवीलिंग कपड़े पहन रही हैं। आप सभी को बता दें कि ‘साकी-साकी’ गर्ल एयरपोर्ट पर फ्लॉरल ब्लैक स्कर्ट और फ्लॉरल ब्लाउज पहने दिखाई दीं। जी हाँ और एक्ट्रेस ने इस ड्रस लुक को खुले बालों और सन ग्लासेस के साथ कैरी किया था।
रमजान का महीना है और इसी के चलते नोरा को उनके आउट-फिट के लिए लोग लताड़ते नजर आए। एक यूजर ने लिखा- ‘क्या ये मुस्लिम नहीं है? तो किसी ने लिखा- ‘अरे ये रमजान का महीना चल रहा है ना, नोरा फतेही जानती हैं?’ इसी के साथ एक अन्य यूजर ने लिखा- शर्म करो शर्म। वहीं किसी ने बोला- ‘शाम में चश्मा कौन लगाता है भाई।’ काम के बारे में बात करें तो इन दिनों अदाकारा पॉपुलर डांस रिएलिटी शो ‘डांस दीवाने जूनियर्स’ जज कर रही हैं। (एजेंसी)

******************************************

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के मायने

इसे भी पढ़ें : संकटकाल में नयी चाल में ढला साहित्य

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.