Vice President showed green flag to Tricolor bike rally at every house, Rahul Gandhi also changed DP

नई दिल्ली ,03 अगस्त (आरएनएस/FJ)।  उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने लाल किले से विजय चौक तक हर घर तिरंगा बाइक रैली को झंडी दिखाकर रवाना किया। इस रैली में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, स्मृति ईरानी और मीनाक्षी लेखी सरीखे नेता शामिल हुए। इस दौरान सभी मंत्री हेलमेट पहने हुए दिखाई दिए।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, तिरंगा चंद गज का कपड़ा नहीं, तिरंगे की ताकत 130 करोड़ भारतीयों को एकजुट करने की है। आज आप देख सकते हैं सभी एकजुट होकर तिरंगा यात्रा में शामिल हुए हैं। बहुत सारे केंद्रीय मंत्री, सांसद और अलग-अलग दल के नेता इस यात्रा में शामिल हैं। उन्होंने आगे कहा, आने वाले पीढिय़ों को इससे संदेश दिया जा रहा है कि हम सब भारत को एकजुट रखेंगे, भारत को आगे बढ़ाएंगे और भारत को और मजबूत तथा ताकतवर बनाएंगे।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा, प्रधानमंत्री के आह्वान पर राष्ट्र का हर नागरिक एक तरफ आज़ादी के 75 साल को उत्सव के रूप में मना रहा है तो दूसरी ओर क्करू का आह्वान है कि आगामी 25 साल संकल्पों से भरा हो, कर्तव्य निष्ठा से भरपूर हो और अपेक्षाओं पर हर नागरिक खड़ा उतरे ये प्रयास हम सबका है।

वही, मीनाक्षी लेखी ने कहा, हर घर तिरंगा फैले और सब लोग अपने कर्तव्यों को ध्यान में रखकर हर घर तिरंगा फहराने का और भारत के भविष्य को लहराने का काम करे।

राहुल गांधी ने भी बदली डीपी

वहीं, सरकार के इस अभियान को विपक्ष का भी समर्थन मिला है। राहुल गांधी ने भी अपनी डीपी तिरंगे से बदल ली है। उसमें देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू भी नजर आ रहे हैं। राहुल ने फोटो ट्वीट करते हुए लिखा, देश की शान है, हमारा तिरंगा; हर हिंदुस्तानी के दिल में है, हमारा तिरंगा!

केंद्रीय संस्कृति राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा, विपक्ष के लोगों को भी आमंत्रित किया था। मेरी तरफ से भी पत्र और ईमेल गए थे। विपक्ष के लोगों को भी हिस्सा लेना चाहिए था क्योंकि तिरंगा यात्रा, आज़ादी का अमृत महोत्सव देश का महोत्सव है। किसी एक पार्टी या सरकार का नहीं है।

***********************************

इसे भी पढ़ें : मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना

इसे भी पढ़ें : आबादी पर राजनीति मत कीजिए

इसे भी पढ़ें : भारत में ‘पुलिस राज’ कब खत्म होगा?

इसे भी पढ़ें : प्लास्टिक मुक्त भारत कैसे हो

इसे भी पढ़ें : इलायची की चाय पीने से मिलते हैं ये स्वास्थ्य लाभ

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के माय

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.