Partha Chatterjee's breakup reply continues, now Arpita Mukherjee started helping

जब आमने-सामने आए दोनों 

कोलकाता 05 Aug. (Rns/FJ)   पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच जारी है। करीब 12 दिनों के बाद प्रवर्तन निदेशालय ने पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी से आमने-सामने पूछताछ की। खबर है कि इस दौरान चटर्जी जवाबों को लेकर टालमटोल करते दिखे। इन दोनों को शुक्रवार को अदालत के सामने पेश किया जाएगा। इस बात की जानकारी ईडी ने दी है।

एक मीडिया रिपोर्ट में ईडी अधिकारियों के हवाले से जानकारी दी गई है कि इस दौरान मुखर्जी तो सहयोग कर रही थीं, लेकिन चटर्जी गोलमाल जवाब दे रहे थे। जांच एजेंसी ने बताया कि इस दौरान दोनों से बीते महीने बरामद गिए गए दस्तावेजों को लेकर भी पूछताछ हुई।

अधिकारियों ने बताया कि मुखर्जी और चटर्जी से संपत्तियों को लेकर भी सवाल पूछे गए। इनमें शांतिनिकेतन की APA, तितली, लावण्या का नाम शामिल है। ईडी ने पूर्व मंत्री और उनकी करीबी से बैंक खातों और अलग-अलग कंपनियों में उनकी हिस्सेदारी को लेकर पूछताछ की।

खास बात है कि पूछताछ में ‘APA यूटिलिटी सर्विसेज’ नाम के दस्तावेजों पर जवाब मांगे गए। दस्तावेज बुधवार को जब्त किए गए थे और कहा जा रहा है कि दोनों की कंपनी में 50 फीसदी की हिस्सेदारी थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पूछताछ के दौरान मुखर्जी के दो फ्लैट्स से मिले 50 करोड़ रुपये को लेकर दोनों के बयान कई बार अलग रहे। मुखर्जी ने पहले ईडी को बताया था कि पैसा चटर्जी का है और वह और उसके साथ कैश रखने के लिए फ्लैट्स का इस्तेमाल करते थे।

पूर्व मंत्री की राजदार ने कहा कि जिस कमरे में कैश रखा हुआ था, उन्हें वहां जाने की इजाजत नहीं थी।

***********************************

इसे भी पढ़ें : मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना

इसे भी पढ़ें : आबादी पर राजनीति मत कीजिए

इसे भी पढ़ें : भारत में ‘पुलिस राज’ कब खत्म होगा?

इसे भी पढ़ें : प्लास्टिक मुक्त भारत कैसे हो

इसे भी पढ़ें : इलायची की चाय पीने से मिलते हैं ये स्वास्थ्य लाभ

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.