दिल्ली में साल का सबसे ज्यादा गर्म दिन

नई दिल्ली 10 April, (एजेंसी): दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा समेत उत्तर भारत के करीब 10 राज्यों में अब तक गर्मी से राहत मिली हुई थी, जो अब खत्म होती दिख रही है। रविवार को दिल्ली में अधिकतम तापमान 34.8 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया। दिल्ली में इस साल का यह अधिकतम तापमान था। यही नहीं आने वाले दिनों में गर्मी प्रचंड रूप धारण कर सकती है। मार्च के आखिरी सप्ताह और अप्रैल के शुरुआती दिनों में बारिश के चलते तापमान थोड़ा कम था, जो अब धीरे-धीरे बढ़ने लगा है। इससे पहले 2 अप्रैल तक तापमान 30 डिग्री सेल्सियस तक ही बना हुआ था।

इसके बाद 3 तारीख को अधिकतम तापमान 32 के पार गया था और 7 अप्रैल से ही 34 डिग्री सेल्सियस के आसपास ही बना हुआ है। इसके बाद भी राहत की बात यह है कि रात के वक्त तापमान कम बना हुआ है। सोमवार सुबह न्यूनतम तापमान 15.7 डिग्री सेल्सियस तापमान था। इसके अलावा रविवार को यह 15.4 डिग्री सेल्सियस था। इस बीच मौसम विभाग का अनुमान थोड़ी चिंता बढ़ाने वाला है। मौसम विभाग का कहना है कि 15 अप्रैल तक तापमान बढ़कर 38 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है। साफ है कि इसी सप्ताह के अंत तक गर्मी बढ़ सकती है और अब तक जो राहत मिली थी, वह खत्म हो सकती है।

मौसम विभाग का कहना है कि आज अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस तक रह सकता है। बुधवार को यह 37 तक पहुंच सकता है और संभावना है कि शनिवार तक तापमान 38 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाएगा। हालांकि थोड़ी राहत की बात यह है कि तीखी धूप ज्यादातर दिनों में नहीं रहेगी और बादल छाए रहेंगे। हालांकि न्यूनतम और अधिकतम तापमान में आधे के करीब का अंतर रह सकता है। मौसम विभाग का कहना है कि 15 अप्रैल तक न्यूनतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस तक हो जाएगा, जबकि अधिकतम 38 तक रहेगा।

बता दें कि मार्च और अप्रैल के महीने में अब तक लोगों को गर्मी से कमोबेश राहत ही रही है। बीच-बीच में बारिश होने और बादल छाए रहने से मार्च में तापमान 30 डिग्री सेल्सियस के पार नहीं गया था। इसके अलावा अप्रैल के शुरुआती दिनों में भी बारिश जारी रहने से राहत रही है, जो अब खत्म होती दिख रही है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि कई बार पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के चलते अब तक राहत मिलती रही है, जो आने वाले दिनों में खत्म हो सकती है। मौसम विभाग का कहना है कि अप्रैल से जून के दौरान अधिकतम तापमान सामान्य से ज्यादा रह सकता है।

*********************************

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version