Hit Squad's hand behind the killing of a BJP worker

एनआईए को केस सौंपने में देरी कर रही कर्नाटक पुलिस

बेंगलुरु ,05 अगस्त (आरएनएस/FJ)।  भाजपा युवा कार्यकर्ता प्रवीण नेत्तारू की हत्या के मामले में कर्नाटक पुलिस ने कथित तौर पर एक हिट स्क्वॉड की पहचान की है। इसके बारे में कहा जा रहा है कि हत्या को अंजाम देने के बाद यह स्क्वॉड फरार है। बता दें कि दक्षिण कन्नड़ जिले के सुलिया तालुक के बेल्लारे में 26 जुलाई की रात अज्ञात मोटरसाइकिल सवार हमलावरों ने 32 वर्षीय जिला भारतीय युवा मोर्चा समिति के सदस्य प्रवीण नेत्तार की हत्या कर दी थी। इस घटना के बाद से राज्य में आक्रोश फैल गया था।

राजनीतिक दबाव के बाद नेत्तारू की हत्या के मामले को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंपा गया था। लेकिन राज्य भाजपा सरकार के इस फैसले के बावजूद, कर्नाटक पुलिस फिलहाल केस एनआईए को सौंपने में देरी कर रही है। दरअसल कर्नाटक पुलिस केस सौंपने से पहले महत्वपूर्ण गिरफ्तारी को अंजाम देना चाहती है ताकि केस सही मोड़ पर लाया जा सके।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) आलोक कुमार ने मंगलुरु में कहा, हम अपराध में शामिल व्यक्तियों, साजिश के स्थान और हमले को अंजाम देने वाले व्यक्तियों की पहचान करने में सक्षम हैं। हम हिट स्क्वॉड के बारे में जानते हैं लेकिन हमें अब उन्हें पकडऩे की जरूरत है। हम उन्हें पकडऩे के लिए सभी प्रयास कर रहे हैं और मुझे विश्वास है कि हम जल्द ही सफल होंगे।

एडीजीपी कुमार ने गुरुवार को कहा, हम इस मामले पर पहले प्रगति देखेंगे और फिर इसको एनआईए के पास ले जाएंगे। कर्नाटक पुलिस हत्यारों को खोजने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। भले ही पूरे मामले का खुलासा बाद में हो, लेकिन कर्नाटक पुलिस हत्यारों को खोजने का काम फिनिश करेगी। हम मामले को सुलझा लेंगे भले ही फाइनल जांच के लिए मामला किसी अन्य एजेंसी को दिया जा रहा हो।

नेत्तारू की हत्या के मामले में दक्षिण कन्नड़ पुलिस ने अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए आरोपी मोहम्मद शफीक, जाकिर सावनूर, सद्दाम और हैरिस हैं। ये सभी बेल्लारे और उसके आसपास के गांवों के निवासी हैं। दो आरोपी पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से जुड़े हैं। हत्या से पहले के दिनों में मुख्य हमलावरों को कथित तौर पर शफीक और जाकिर ने पनाह दी थी और उन्हें खाना खिलाया था।

*****************************

इसे भी पढ़ें : मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना

इसे भी पढ़ें : आबादी पर राजनीति मत कीजिए

इसे भी पढ़ें : भारत में ‘पुलिस राज’ कब खत्म होगा?

इसे भी पढ़ें : प्लास्टिक मुक्त भारत कैसे हो

इसे भी पढ़ें : इलायची की चाय पीने से मिलते हैं ये स्वास्थ्य लाभ

तपती धरती का जिम्मेदार कौन?

मिलावटखोरों को सजा-ए-मौत ही इसका इसका सही जवाब

जल शक्ति अभियान ने प्रत्येक को जल संरक्षण से जोड़ दिया है

इसे भी पढ़ें : भारत और उसके पड़ौसी देश

इसे भी पढ़ें : चुनावी मुद्दा नहीं बनता नदियों का जीना-मरना

इसे भी पढ़ें : *मैरिटल रेप या वैवाहिक दुष्कर्म के सवाल पर अदालत में..

इसे भी पढ़ें : अनोखी आकृतियों से गहराया ब्रह्मांड का रहस्य

इसे भी पढ़ें : आर्द्रभूमि का संरक्षण, गंगा का कायाकल्प

इसे भी पढ़ें : गुणवत्ता की मुफ्त शिक्षा का वादा करें दल

इसे भी पढ़ें : अदालत का सुझाव स्थाई व्यवस्था बने

इसे भी पढ़ें : भारत की जवाबी परमाणु नीति के

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.