Home छत्तीसगढ़ जनता की भलाई के लिए काम करने वाली सरकार का विरोध छोड़...

जनता की भलाई के लिए काम करने वाली सरकार का विरोध छोड़ मुख्य धारा से जुड़ें माओवादी: श्री राजनाथ सिंह : सुकमा की तरक्की देख आश्चर्य चकित हुए केन्द्रीय गृहमंत्री

38
0
SHARE

एजुकेशन सिटी, मॉडल स्कूल और आजीविका कॉलेज का अवलोकन

लोक सेवा केन्द्र का लोकार्पण: सामूहिक विवाह समारोह में
201 जोड़ों को आशीर्वाद

नक्सल पीड़ित दो परिवारों के युवाओं को शासकीय सेवा में नियुक्ति

रायपुर, 31 मई 2015

केन्द्रीय गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह ने माओवादियों से राष्ट्र की मुख्य धारा में शामिल होने का आव्हान करते हुए कहा है कि उन्हें गांव, गरीब और किसानों तथा युवाओं की भलाई के साथ जनता के विकास के लिए काम  कर रही छत्तीसगढ़ सरकार का विरोध छोड़ देना चाहिए। श्री सिंह ने कहा कि भोलेभाले युवाओं को गुमराह करना छोड़कर इन माओवादियों को बस्तर अंचल के दंतेवाड़ा और सुकमा जैसे जिलों में नई पीढ़ी के निर्माण के लिए चल रही एजुकेशन सिटी और आजीविका (लाइवलीहुड) प्रशिक्षण कॉलेज जैसी परियोजनाओं को देखना चाहिए। इससे उनकी मानसिकता निश्चित रूप से बदल जाएगी।
केन्द्रीय गृह मंत्री आज छत्तीसगढ़ के अंतिम छोर के जिला मुख्यालय सुकमा में आयोजित विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा – मुझे इस बात की खुशी है कि सुकमा जिले में आने वाला मैं देश का पहला गृहमंत्री हूं। भविष्य में भी आपके बीच आता रहूँगा। जिला मुख्यालय सुकमा और जिले के अन्य इलाकों में शिक्षा, रोजगार प्रशिक्षण और अधोसंरचना विकास के हो रहे कार्यों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि यहां की तरक्की को देखकर मैं आश्चर्य चकित रह गया हॅू। श्री सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ कुछ वर्ष पहले तक अत्यधिक पिछड़ा प्रदेश माना जाता था, लेकिन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में विगत लगभग बारह वर्षों में समाज के सभी वर्गों की बेहतरी के लिए हो रहे कार्यों के फलस्वरूप अब यहां की तस्वीर पूरी तरह बदल गई है। श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इसके बावजूद राज्य और जनता की तरक्की और खुशहाली के लिए प्रयत्नशील सरकार का विरोध माओवादियों द्वारा क्यों किया जा रहा है, यह समझ से परे है। केन्द्रीय  गृहमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ की रमन सरकार ने सुकमा को जिले का दर्जा दिया है। जिला बनने के बाद यहां के विकास में और भी तेजी आयी है।
श्री राजनाथ सिंह ने सुकमा में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार के एक वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में राज्य शासन द्वारा आयोजित जन कल्याण मेले, विकास प्रदर्शनी और तहसील स्तरीय लोकसेवा केन्द्र का भी शुभारंभ किया। श्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के साथ राज्य के अत्यधिक नक्सल हिंसा पीड़ित इस जिले के दोरनापाल का भी दौरा किया, जहां उन्होंने लगभग दो करोड़ रूपए की लागत से निर्मित अत्याधुनिक पुलिस थाना भवन का लोकार्पण भी किया। उन्होंने जिला मुख्यालय सुकमा में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में 201 जोड़ों को आशीर्वाद प्रदान किया। कार्यक्रमों की अध्यक्षता मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने की। प्रदेश के गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा, वन मंत्री श्री महेश गागड़ा और स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप, गृह विभाग के संसदीय सचिव श्री लाभचंद बाफना, बस्तर के लोकसभा सांसद श्री दिनेश कश्यप, विधायक श्री कवासी लखमा, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री हरीश कवासी, सुकमा नगर पंचायत अध्यक्ष श्रीमती लक्ष्मी बाई और राज्य सरकार के मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड भी इस मौके पर मौजूद थे। केन्द्रीय गृह मंत्री ने इस अवसर पर नक्सल पीड़ित परिवारांे की पुनर्वास योजना के तहत दो लोगों को राज्य सरकार की ओर से शासकीय सेवा के लिए नियुक्ति पत्र प्रदान कर अपनी शुभकामनाएं दी। उन्होंने इन परिवारों को पाँच लाख रुपए की सहायता राशि के चेक तथा  प्रधानमंत्री धनजन योजना के खातेदारों को प्रमाणपत्र प्रदान किए।
केन्द्रीय गृहमंत्री ने सुकमा में बन रही ज्ञान की नगरी (एजुकेशन सिटी) में लगभग नौ एकड़ के रकबे में तीन करोड़ दो लाख रूपए की लागत से निर्माणाधीन मॉडल स्कूल को भी देखा और आजीविका (लाइवलीहुड) प्रशिक्षण कॉलेज में जाकर युवाओं से मुलाकात की। केन्द्रीय गृहमंत्री ने इस आदिवासी बहुल जिले की जनता के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए चल रही योजनाओं और जिले की प्रगति को देखकर आश्चर्य मिश्रित प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने सुकमा के हाई स्कूल मैदान में आयोजित आमसभा में कहा कि यहां के एजुकेशन हब को देखकर मैं अचंभित रह गया हूं। मुझे लग रहा था कि यह परिसर तीन-चार एकड़ में फैला होगा, लेकिन लगभग नौ एकड़ के विशाल रकबे में इसका विकास होते देखकर मुझे काफी खुशी हुई। उन्होंने कहा कि यहां के लोगों को चौबीसों घंटे बिजली मिलती है, यह देखकर और सुनकर मुम्बई और दिल्ली जैसे महानगरों में रहने वाले लोगों को भी आश्चर्य होगा। केन्द्रीय गृहमंत्री ने छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा सुकमा में बनवाये जा रहे सीमेंट कांक्रीट हाईवे का उल्लेख करते हुए इसके लिए भी रमन सरकार की प्रशंसा की। श्री राजनाथ सिंह ने इस बात पर भी खुशी जतायी कि इस जिले में प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत दूर दराज गांवों में भी लोगों ने बैंकों में खाते खुलवा लिए हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार देश की जनता को आर्थिक आजादी दिलाने के लिए वचनबद्ध है। श्री सिंह ने कहा कि गरीबी दूर करना और पढ़े-लिखे तथा कम पढ़े लिखे युवाओं को हुनरमंद बनाना केन्द्र सरकार की भी प्राथमिकता है। इस दिशा में तेजी से काम हो रहा है और हम पाँच साल के भीतर हिंदुस्तान की तस्वीर बदल देंगे। जनता को आर्थिक-सामाजिक सुरक्षा देने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार द्वारा बेहद कम प्रीमियम वाली नई बीमा योजनाएँ भी शुरू की गई है।
आम सभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री की उपस्थिति इस बात का संकेत है कि सुकमा जिले में शांति और समृद्धि होगी। सुकमा जिले के साथ ही छत्तीसगढ़ के लिए भी यह गौरवशाली क्षण है कि केन्द्रीय गृह मंत्री हमारे बीच पहुँचे। वे छात्र-छात्राओं से इतने प्रेम से बातें कर रहे थे कि लग रहा था कि वे उनके ही बेटे-बेटियाँ हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य बनने के बाद हमने विकास कार्यों को दूर-दराज इलाकों तक पहंुचाने के लिए नये जिलों का निर्माण किया। कभी सुकमा ग्राम पंचायत हुआ करता था, अब यह जिला मुख्यालय है और यहां विकास के कार्य तेजी से हो रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने बस्तर और अन्य सभी आदिवासी बहुल क्षेत्रों में तेन्दूपत्ता के साथ-साथ इमली, चिरौंजी जैसी लघु वनोपजों की खरीदी भी सहकारी समितियों के जरिये करने का निर्णय लिया है, ताकि उन्हें इनका वाजिब मूल्य मिल सके। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ के अन्य जिलों की तरह सुकमा जिले को भी विकास कार्यों के लिए हर संभव सहयोग मिल रहा है। स्कूल शिक्षा और आदिम जाति विकास मंत्री श्री केदार  कश्यप ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री के सुकमा प्रवास से सबका मनोबल बढ़ा है और नई ऊर्जा का संचार हुआ है। श्री कश्यप ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में हम सब मिलकर सुकमा को एक आदर्श और अग्रणी जिला बनाएंगे। लोकसभा सांसद श्री दिनेश कश्यप ने गोंडी बोली में आभार व्यक्त किया। इस मौके पर केन्द्रीय गृह मंत्री के सलाहकार श्री विजय कुमार, बस्तर राजस्व संभाग के कमिश्नर श्री दिलीप वासनिकर, आईजी बस्तर श्री एसआरपी कल्लूरी, कलेक्टर श्री नीरज कुमार बनसोड, एसपी श्री डी. श्रवण और अन्य संबंधित अधिकारी भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here