Home breaking_news * आदिम जनजाति बिरहोरों के घर तक पहुँचेगा अनाज – उपायुक्त।

* आदिम जनजाति बिरहोरों के घर तक पहुँचेगा अनाज – उपायुक्त।

21
0
SHARE

* आदिम जनजाति खाद्यान्न सुरक्षा पीटीजी डाकिया योजना का शुभारम्भ। 

* उपायुक्त ने खाद्यान्न वाहन को झंडी दिखाकर किया रवाना।

हजारीबाग, 22.04.2017 – हजारीबाग जिले में आदिम जनजाति खाद्यान्न सुरक्षा पीटीजी डाकिया योजना की शुरुआत उपायुक्त रवि शंकर शुक्ला ने की। इस योजना के तहत ईचाक प्रखण्ड के बिरहोर परिवारों के लिए खाद्यान्न ले जाने वाले वाहन को उपायुक्त ने रवाना किया। इस मौके पर उपायुक्त ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास की पहल पर पूरे झारखण्ड में यह योजना चलायी जा रही है। हजारीबाग जिले में ईचाक प्रखण्ड के सिजुआ व तिलरा नावाडीह में निवास करने वाले आदिम जनजाति बिरहोर के 59 परिवारों से इसकी शुरूआत की गई है। हजारीबाग जिले में आदिम जनजाति बिरहोर के 730 परिवार चिन्हित हैं।
इस योजना के तहत प्रत्येक परिवार को 35 किग्रा. अनाज का वितरण किया जा रहा है। जिले के पहाड़ी व दुर्गम क्षेत्रों में मुख्यतः आदिम जनजाति के लोग निवास करते हैं। इनकी आर्थिक स्थिति अपेक्षाकृत अच्छी नहीं है। इन्हंे खाद्यान्न प्राप्त करने के लिए प्रति माह लम्बी दूरी तय करनी पड़ती है। इन्हीं कठिनाईयों को देखते हुए राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत आदिम जनजातियों के निवास स्थान तक 35 किग्रा चावल पैकेट के रूप में उपलब्ध कराने के लिए पीटीजी डाकिया योजना का शुभारम्भ किया जा रहा है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिषन के सखी मंडलों द्वारा पैकेजिंग का कार्य कराया गया है। जिला आपूर्ति पदाधिकारी भोगेन्द्र ठाकुर ने बताया कि पीटीजी डाकिया योजना के तहत जिले के सभी आदिम जनजाति परिवारों को 4 दिनों के अंदर खाद्यान्न का पैकेट उपलब्ध करा दिया जाएगा।

****

(FJB)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here