Home breaking_news पैनआईआईटी प्रशिक्षितों को जाॅब हेतु सेक्टरों की प्रोफाईलिंग करें – मुख्य सचिव

पैनआईआईटी प्रशिक्षितों को जाॅब हेतु सेक्टरों की प्रोफाईलिंग करें – मुख्य सचिव

82
0
SHARE

7 जिलों के गुरूकुल संचालन हेतु बनेगा ज्वाइंट वेंचर, 1500 बच्चों को विभिन्न ट्रेडों में प्रशिक्षण मिलेगा 
पैनआईआईटी प्रशिक्षितों को जाॅब हेतु सेक्टरों की  प्रोफाईलिंग करें – मुख्य सचिव
मुख्य सचिव ने की कल्याण विभाग एवं पैन आईआईटी के पदाधिकारियों के साथ कौशल विकास के कार्यान्वयन कर समीक्षा कर निदेश दिये 
परिवहन विभाग से वार्ता कर भारी वाहन के प्रशिक्षुओं को लाईसेंस दिलाने हेतु कार्रवाई करें
प्रशिक्षित बच्चों को मुद्रा योजना के साथ  टैग करें
रोजगार सृजन हेतु सीआईआई/फिक्की जैसी संस्थाओं के साथ प्रशिक्षुओं की सेमिनार करें 
थड़पकना में खुलेगा कौशल काॅलेज, 1000 बच्चों को प्रतिवर्ष  प्रशिक्षण मिलेगा
आवासीय विद्यालयों में नेतरहाट की तर्ज पर बुनियादी प्रशिक्षण हेतु  सेमिनार होगा

Chief Secretary Smt.Rajbala Verma Pan IIT officials with welfare and ST -SC children-finaljustice.inराँची, मुख्य सचिव श्रीमती राजबाला वर्मा ने कल्याण विभाग से संबद्ध गुरूकूलों का संचालन करने वाले पैन आईआईटी को निदेश दिया है कि राज्य के विभिन्न गुरूकुलों में स्किल्ड बच्चों के रोजगार के श्रृजन हेतु विभिन्न सेक्टरों को चिन्ह्ति करें तथा स्थानीय स्तर पर बच्चों को रोजगार दिलाने के लिये सीआइआई/फिक्की/एसोचेम/ निर्माण कार्य में लगे ठेकेदारों आदि के साथ एक सेमिनार आयोजित करायी जाय। वे आज कल्याण विभाग एवं पैन आईआईटी के पदाधिकारियों के साथ विभाग द्वारा चलाये जा रहे एसटी/एससी बच्चों के कौशल विकास की समीक्षा कर रही थीं।
श्रीमती वर्मा ने निदेश दिया कि भारी वाहन के चालकों की मांग को देखते हुए प्रशिक्षित बच्चों को अनुज्ञप्ति दिलवाने में मदद करने के लिये कल्याण विभाग परिवहन एवं नागरिक उड्डयन विभाग से वार्ता कर कार्रवाई सुनिष्चित करे तथा पैन आईआईटी का निदेषित किया गया कि वे सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के साथ समन्वय स्थापित कर अपनी सफलताओं को दर्शाते हुए 05 मिनट का विभिन्न सेक्टरों में किये गये कार्यों पर आधारित एक आॅडियो विजुअल का निर्माण करें। ताकि उसे नीति आयोग एवं भारत सरकार के अन्य कार्यक्रमों में प्रदर्षित किया जा सके। बैठक में पैन आईआईटी के पदाधिकारियों द्वारा जानकारी दी गई कि अब तक 7 केन्द्रों में प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिसमें से अभी तक करीब 5 हजार बच्चों को प्रशिक्षित कर उन्हें रोजगार मुहैया कराया जा चुका है। इनमें से 800 बच्चों को विदेशों में भेजा गया है।
मुख्य सचिव ने निदेश दिया कि लातेहार, चतरा, हजारीबाग, रामगढ़, गोड्डा एवं सिमडेगा में कल्याण विभाग के भवनों में गुरूकुल प्रारंभ किये जाने का विभागीय प्रस्ताव के परिपेक्ष्य में उनके साथ एक जे॰वी॰( ज्वाइंट वेंचर) बनायें तथा भवनों की मरम्मती/ रखरखाव आदि कार्य जे॰वी॰ द्वारा ही करवाया जाय। इसके तहत 1500 बच्चों को प्रषिक्षित किया जाना है। उन्होंने कहा कि गुरूकुल को कल्याण गुरूकुल का नाम दिया जा सकता है। श्रीमती वर्मा ने बच्चों के प्रषिक्षण हेतु जिला स्तर पर प्रचार प्रसार करने के लिये सचिव कल्याण विभाग को प्राधिकृत किया। साथ ही यह भी निदेष दिया कि थड़पकना, रांची में 12 करोड़ की लागत से तैयार भवन को पैन आईआईटी को उपलब्ध कराया जाये ताकि यहां कम से कम 1000 बच्चों को प्रति वर्ष प्रशिक्षित किया जा सके। इस संस्थान को कौशल काॅलेज नाम देने का सुझाव मुख्य सचिव द्वारा दिया गया। समीक्षा के क्रम में मुख्य सचिव ने पैन आईआईटी से कल्याण विभाग द्वारा संचालित आवासीय विद्यालयों में नेतरहाट की तर्ज पर बच्चों को बुनियादी प्रशिक्षण से परिचित कराने हेतु सेमिनार आयोजित कराने का निदेश दिया।
बैठक में सचिव, कल्याण विभाग श्री राजीव अरूण एक्का एवं पैन आईआईटी के विशेषज्ञ उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here