23-अप्रैल, 2015
चंडीगढ़, 23 अप्रैल- हरियाणा के परिवहन एवं शिक्षा मंत्री प्रो0 रामबिलास शर्मा ने आज कहा कि हरियाणा राज्य परिवहन की बस की बॉडी बनाने वाली वर्कशॉप में आईटीआई के बच्चों इंटर्नशिप का स्टाईफंड (छात्रवृत्ति) 1500 रुपये से बढ़ाकर 6216 रुपये कर दिया गया है। प्रो0 रामबिलास शर्मा आज महेंद्रगढ़ से दिल्ली जाते समय गुडग़ांव जिले के गांव बहरामपुर में हरियाणा राज्य परिवहन की बस की बॉडी बनाने वाली वर्कशॉप के निरीक्षण किया। उन्होने वर्कशॉप का मुआयना किया और वहां निर्माणाधीन शैड तथा नए भवन का अवलोकन भी किया। श्री शर्मा ने बताया कि आईटीआई में पढऩे वाले बच्चे अलग-अलग टे्रड में यहां एक साल और 2 साल की इंटर्नशिप के लिए आते है। पहले उन्हें 1500 और 1700 रुपये का स्टाईफंड दिया जाता था, जिसे अब वर्तमान राज्य सरकार ने बढाकर 6216 रुपये कर दिया है। परिवहन मंत्री को अवगत करवाया गया कि कहा कि यह एक प्रतिष्ठित वर्कशॉप है और यहां पर हरियाणा के अलावा राजस्थान तथा पंजाब रोड़वेज की बसों की बॉडी भी बनाने के लिए भेजी जा रही है। इसलिए इस वर्कशॉप का विस्तार किया जाएगा और इसकी क्षमता में वृद्धि की जाएगी। राजस्थान राज्य परिवहन की बसों की बॉडी यहीं पर पहले बनाई गई थी और अब वर्तमान में पंजाब रोडवेज की 305 बसों की बॉडी बनाने का अनुबंध प्राप्त हुआ है जिसमें से पहले चरण में 12 चैसिस आ चुकी है। इस मौके पर वर्कशॉप के महाप्रबंधक लाजपतराय ने परिवहन मंत्री को बताया कि वर्कशॉप परिसर में लगभग 6.5 करोड़ रूपए की लागत से शैड का निर्माण किया जा रहा है जिसका प्रयोग बसो की बॉडी तैयार करने के लिए किया जाएगा। उन्होंने परिवहन मंत्री को अवगत करवाया कि इस वर्कशॉप में 118 स्थाई कर्मचारी कार्यरत है तथा 30 अपै्रंटिस है। उन्होंने बताया कि वर्कशॉप में फिलहाल पंजाब रोडवेज की 12 बसों की पहली खेप के अलावा हरियाणा रोड़वेज की टाटा की 19 तथा लीलैंड की 42 चैसिस बॉडी निर्माण के लिए आई हुई है। उन्होने बताया कि वर्कशॉप में पहली बार ट्रायल के तौर पर एक नई ऐसी (वातानुकूलित) बस भी तैयार की जा रही है।
News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *