Home breaking_news *आगामी 3 महीने के अंदर उज्जवला योजना के तहत 15 लाख गरीब...

*आगामी 3 महीने के अंदर उज्जवला योजना के तहत 15 लाख गरीब माताओं बहनों को एलपीजी गैस कनेक्शन दिया जाएगा – मुख्यमंत्री

42
0
SHARE

* विकास एवं कल्याणकारी कार्यों में भ्रष्टाचार का कोई स्थान नहीं है जो लोग भ्रष्टाचार में दोषी पाए जाएंगे वह सीधे जेल जाएंगे।

*आगामी 3 महीने के अंदर उज्जवला योजना के तहत 15 लाख गरीब माताओं बहनों को एलपीजी गैस कनेक्शन दिया जाएगा।

* जल्द ही दस हजार महिलाओं को रेडी टू ईट कार्यक्रम के तहत रोजगार से जोड़ा जाएगा।

* अंडा उत्पादन के क्षेत्र में भी 5000 महिलाओं को रोजगार से जोड़ा जा रहा है।

* खादी का उत्पादन और उपयोग ज्यादा से ज्यादा करें। 

* जल्द ही रांची में खादी मॉल का निर्माण कराया जाएगा।

राँची,24.03.2018 –  झारखण्ड के मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि सरकार की योजनाओं को हर हाल में गांव, गरीब और किसान के बीच पहुंचानी है। ग्रामीण क्षेत्रों में आधारभूत संरचनाओं को विकसित करना सरकार की प्राथमिकता है। गांव के समग्र विकास के लिए ग्राम विकास समिति का गठन किया जा रहा है। ग्राम विकास समिति हर महीने ग्राम सभा का आयोजन करेगी। गांव के विकास का रोड मैप गांव के ग्रामीण खुद ग्राम सभा में बैठकर तय करेंगे। विकास योजना की पूरी राशि अब सीधे ग्राम विकास समिति को दिए जाएंगे। ग्रामीणों के विकास के लिए सरकार द्वारा दी गई राशि में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी नहीं होनी चाहिए। विकास एवं कल्याणकारी कार्यों में भ्रष्टाचार का कोई स्थान नहीं है जो लोग भ्रष्टाचार में दोषी पाए जाएंगे वह सीधे जेल जाएंगे। कृषि कार्य हेतु किसानों को पाइप लाइन के जरिए जल्द ही पानी मुहैया कराई जाएगी.  इस दिवाली तक प्रत्येक घर में बिजली पहुंचाई जाएगी। उक्त बातें मुख्यमंत्री ने रांची जिला स्थित अनगड़ा प्रखंड के सीताडीह गांव में राज्य खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा आयोजित विभिन्न योजनाओं के शुभारंभ अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए कही।मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने प्रशिक्षण सह उत्पादन केंद्र के साथ-साथ  रेडीमेड गारमेंट सिलाई व प्रशिक्षण सेंटर, सूत कटाई और उत्पादन प्रशिक्षण केंद्र,  मधुमक्खी पालन प्रशिक्षण केंद्र, लाह निर्माण सह प्रशिक्षण सेंटर और टेराकोटा उत्पादन सह प्रशिक्षण केंद्र का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि राज्य सरकार सिर्फ विकास योजनाओं पर फोकस कर रही है।  सरकार द्वारा बेरोजगार युवक-युवतियों को रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में प्रतिबद्ध प्रयास किये जा रहे है। ग्रामीण क्षेत्रों में आधारभूत संरचना में महत्वपूर्ण बदलाव हुए हैं.  सरकार द्वारा ग्राम सचिवालय, सामुदायिक भवन, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, स्कूल भवन, पंचायत भवन इत्यादि के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य हुए हैं। बच्चों को गुणवत्तापूर्ण एवं  अच्छी शिक्षा मिले इस दिशा में सरकार द्वारा सकारात्मक कार्य किया गया है.  राज्य के सभी स्कूलों में बेंच डेस्क की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। स्कूल भवनों में बिजली भी पहुंचाई जा रही है साथ ही साथ कंप्यूटर, लैब, इंटरनेट कनेक्शन इत्यादि की भी व्यवस्था की जा रही है।  आम जनता को शुद्ध पेयजल हेतु पाइप लाइन के माध्यम से शुद्ध पेयजल आपूर्ति की योजना चरणबद्ध तरीके से शुरू की गई है। आगामी 3 महीने के अंदर उज्जवला योजना के तहत 15 लाख गरीब माताओं बहनों को एलपीजी गैस कनेक्शन दिया जाएगा। आदिवासी समुदाय के लोगों को भी गैस कनेक्शन दिए जाएंगे। एलपीजी वितरण में पूरी पारदर्शिता बरती जाएगी। गांव में कैंप लगाकर ही एलपीजी वितरण किया जाएगा.                               

मुख्यमंत्री ने कहा कि छोटी-छोटी योजनाओं को धरातल पर उतार कर ही  राज्य को समृद्ध एवं विकसित बनाया जा सकेगा। वर्तमान समय में जल संरक्षण बहुत ही आवश्यक है बोरा बांध का निर्माण, डोभा का निर्माण करके जल संचयन किया जा सकता है.     मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि सरकार महिलाओं के उत्थान के लिए प्रतिबद्ध है। राज्य में महिला स्वयं सहायता समूहों को कौशल विकास का प्रशिक्षण देकर छोटे-छोटे स्वरोजगार से जोड़ा जा रहा है। जल्द ही दस हजार महिलाओं को रेडी टू ईट कार्यक्रम के तहत रोजगार से जोड़ा जाएगा।

महिलाएं मधुमक्खी पालन से भी जुड़ कर रोजगार पा सकेंगे इस हेतु सरकार द्वारा मधुमक्खी पालन  बॉक्स निशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है। 2 लाख 50 हजार मधुमक्खी पालन बक्सा वितरण करने का लक्ष्य रखा गया है।  मीठी क्रांति की शुरुआत झारखंड से की जाएगी। झारखंड में बने हनी बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि बेचेगी। अंडा उत्पादन के क्षेत्र में भी 5000 महिलाओं को रोजगार से जोड़ा जा रहा है। अंडा उत्पादन करने वाली महिला सहायता समूह को 4  लाख ऋण की व्यवस्था सरकार करेगी। जल्द ही रांची में खादी मॉल का निर्माण कराया जाएगा। झारक्राफ्ट द्वारा साड़ी निर्माण के क्षेत्र में रोजगार का सृजन किया जाएगा। खादी के क्षेत्र में भी रोजगार की असीम संभावनाएं हैं।  मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की कि वे खादी का उत्पादन और उपयोग ज्यादा से ज्यादा करें।  

 मुख्यमंत्री ने कहा कि बेटे और बेटियों में फर्क न करें। बेटियों को भी पूरी शिक्षा दें तभी उनकी शादी करें। कम उम्र में बेटियों की शादी कतई नहीं करें। वर्तमान दौर में सोच बदलने की आवश्यकता है। राज्य में लोगों की सोच को समझने के लिए ही सरकार उनके द्वार जा रही है। नशा मुक्त गांव घोषित होने पर राज्य सरकार एक लाख का प्रोत्साहन राशि गांव को देगी। हाल के दिनों में ओरमांझी के आराकेरम गांव नशा मुक्त हुआ है। जब आराकेरम गांव नशा मुक्त हो सकता है तो राज्य के अन्य गांवों नशा मुक्त क्यों नहीं हो सकते हैं। संकल्प से ही सिद्धि मिलती है। संकल्प कर कार्य करें तो सफलता जरूर मिलती है। समाज सबसे बड़ी ताकत होती है। समाज के विकास में प्रत्येक व्यक्ति का अपना महत्व एवं जिम्मेवारी होता है। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास आम जनता से भी संवाद किये एवं उनके समस्याओं और सुझावों को सुना। साथ ही प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, मुखिया को निदेश दिया कि एक लिस्ट तैयार करें जिन गांवों में शौचालय नही बन पाया उस गांव में जल्द से जल्द शौचालय निर्माण कराकर गांव को ओडीएफ बनायें। कार्यक्रम स्थल पर ही मुख्यमंत्री द्वारा उज्जवला योजना के तहत 20 महिला लाभुकों को गैस कनेक्शन दिया।कार्यक्रम में रांची सांसद श्री रामटहल चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास के नेतृत्व में राज्य तेजी से विकास कर रहा है। महिलाओं को सरकार रोजगार से जोड़ने का कार्य कर रही है। सिंचाई, शिक्षा, स्वास्थ्य एवं अन्य योजनाओं को धरातल पर उतारने का काम हुआ है।

 कार्यक्रम में राज्य विकास परिषद के उपाध्यक्ष एवं पूर्व उप मुख्यमंत्री श्री सुदेश महतो एवं राज्य खादी बोर्ड के अध्यक्ष श्री संजय सेठ ने भी लोगों को संबोधित किया। कार्यक्रम में खिजरी विधायक श्री राम कुमार पाहन, सिल्ली विधायक श्री अमित महतो, राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष श्री कमाल खान सहित गणमान्य लोग एवं  बड़ी संख्या में ग्रामीण लोग उपस्थित थेे।

****

(FJB)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here