Home aas_paas *हिमाचल प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने राज्य को भ्रष्टाचार में नंबर एक...

*हिमाचल प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने राज्य को भ्रष्टाचार में नंबर एक बना कर रख दिया है – अमित शाह

49
0
SHARE

*हिमाचल प्रदेश की जनता ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी पर भरोसा करने का निर्णय ले लिया है

*हिमाचल की जनता तय कर चुकी है कि उसे माफियाराज और भ्रष्टाचार वाली कांग्रेस नही बल्कि देवभूमि को एक मॉडल स्टेट बनाने वाली भाजपा सरकार चाहिए

*कांग्रेस पार्टी के बड़े नेता पी चिदंबरम गुजरात जाकर कहते हैं कि हमें कश्मीर में आजादी के नारे से कोई तकलीफ नहीं है। हमारे वीर सैनिकों की शहादत पर इस प्रकार की वोट बैंक की राजनीति करते कांग्रेस के नेताओं को शर्म भी नहीं आती, कांग्रेस हमेशा से देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करती आई है

*वोटबैंक की राजनीति के लिए कश्मीर की आजादी के नारे लगाने वालों का समर्थन करके कांग्रेस ने देश के लाखों शहीदों के बलिदान का अपमान किया है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने ने एक साल में ही ‘वन रैंक, वन पेंशन’ को लागू कर सैनिकों को सम्मान के साथ जीने का अधिकार दिया है

*2014 के लोक सभा चुनाव के बाद जम्मू-कश्मीर, असम, मणिपुर, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, झारखंड, हरियाणा – हर जगह कांग्रेस हारी है, अब कांग्रेस पार्टी हिमाचल प्रदेश और गुजरात भी हारेगी

*वीरभद्र सिंह एक ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिनके परिवार में एक भी व्यक्ति ऐसा नहीं है जिस पर भ्रष्टाचार का कोई आरोप न हो, पूरा का पूरा परिवार आकंठ भ्रष्टाचार में डूबा हुआ है

*पूरे पांच साल वीरभद्र सिंह जी केवल घोषणा और भूमिपूजन ही करते रहे, उद्घाटन का एक भी दिन नहीं आया। वीरभद्र सिंह हिमाचल के इतिहास में भूमिपूजन करने वाले मुख्यमंत्री के नाम से प्रसिद्ध होने वाले हैं

*हिमाचल प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने राज्य को भ्रष्टाचार में नंबर एक बना कर रख दिया है, यही वीरभद्र सिंह जी की उपलब्धि है

*एक ओर हिमाचल प्रदेश में माफियाओं की और भ्रष्टाचार की सरकार चल रही है, वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की पारदर्शी, भ्रष्टाचार मुक्त एवं निर्णायक सरकार ईमानदारी से काम कर रही है

*प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का हिमाचल प्रदेश के साथ दिल का रिश्ता है, उन्होंने यहाँ पर संगठन की मजबूती के लिए काफी काम किया है

*शेयर इन सेन्ट्रल टैक्स, अनुदान सहायता, लोकल बॉडीज ग्रांट, डिजास्टर रिलीफ फंड आदि योजनाओं में मोदी सरकार ने कांग्रेस की यूपीए सरकार के 44,235 करोड़ की तुलना में 1,15,846 करोड़ रुपये आवंटित किये हैं जो सोनिया-मनमोहन सरकार की तुलना में 71,000 करोड़ रुपये अधिक है

*वीरभद्र सिंह को हिमाचल की जनता को जवाब देना चाहिए कि ये 71,000 करोड़ रुपये कहाँ गए, ये पैसे हिमाचल प्रदेश के कांग्रेसी नेताओं के भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गए

*यदि हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनती है तो राज्य से माफियाओं को ख़त्म करने के लिए मुख्यमंत्री कार्यालय में 24 घंटे काम करने वाली हेल्पलाइन शुरू की जायेगी

*हिमाचल की भाजपा सरकार खनन, वन एवं पुलिस – इन तीनों को मिलाकर एक जॉइंट टास्क फ़ोर्स बनाया जाएगा जो खनन माफियाओं को जेल भेजने का काम करेगी

*राज्य में भाजपा सरकार बनने पर ई-टेंडर के जरिये सारे टेंडर निकाले जायेंगे ताकि भ्रष्टाचार न हो। ट्रांसफर के लिए एक पारदर्शी ट्रांसफर पॉलिसी बनाई जायेगी

*राज्य में भाजपा सरकार बनने पर हिमाचल प्रदेश के वीर शहीदों के लिए हर जिले में शहीद स्मारक और पार्क बनाए जायेंगे

*जब सोनिया जी और राहुल गांधी हिमाचल आयें तो हिमाचल की जनता उनसे पूछे कि कांग्रेस पार्टी का रोहिंग्या पर स्टैंड क्या है, आजादी के नारे लगाने वालों में कांग्रेस के समर्थन पर क्या स्टैंड है।

*प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने तीन साल में 106 विकासोन्मुखी एवं लोक-कल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत की है, ये सभी योजनायें सर्व-स्पर्शी एवं सर्व-समावेशी हैं

बनीखेत, डलहौजी और चल्वारा, जवाली (हिमाचल प्रदेश) – 30.10.2017 – भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज हिमाचल प्रदेश में बनीखेत (डलहौजी) और चल्वारा (जवाली) में विशाल जनसभाओं को संबोधित किया और हिमाचल के विकास के लिए कांग्रेस की भ्रष्टाचारी वीरभद्र सरकार को उखाड़ कर दो-तिहाई की बहुमत से राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने की अपील की। उन्होंने हिमाचल की मौजूदा कांग्रेस सरकार को भ्रष्टाचार का प्रतीक बताते हुए राज्य के विकास के प्रति उसकी उदासीनता व अकर्मण्यता को लेकर वीरभद्र सरकार पर करारा प्रहार किया।

श्री शाह ने कहा कि पांच साल से हिमाचल प्रदेश में जिस तरह से कांग्रेस की वीरभद्र सरकार चल रही है, उसने पूरे देश में देवभूमि के नाम को शर्मसार किया है। उन्होंने कहा कि वह देवभूमि जो कुदरती सौंदर्य और पर्यटन के लिए जानी जाती थी, शूरवीरों की भूमि के रूप में जिसकी सराहना कश्मीर से कन्याकुमारी तक होती थी, आज उस हिमाचल प्रदेश को यहाँ के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह जी ने माफिया की भूमि बनाकर रख दी है। उन्होंने कहा कि जब भी, जहां भी और जैसे भी भ्रष्टाचार की चर्चा होती है, वीरभद्र सिंह जी का नाम सुर्ख़ियों में हमेशा के लिए आ जाता है। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह एक ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिनके परिवार में एक भी व्यक्ति ऐसा नहीं है जिस पर भ्रष्टाचार का कोई आरोप न हो, पूरा का पूरा परिवार आकंठ भ्रष्टाचार में डूबा हुआ है। उन्होंने कहा कि हिमाचल की जनता के लिए निर्णय लेने का वक्त आ गया है कि उन्हें राज्य में माफिया राज लाने वाली सरकार चाहिए, भ्रष्टाचार बढ़ाने वाली सरकार चाहिए या हिमाचल को मॉडल स्टेट बनाने वाली सरकार चाहिए। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में विकास की काफी सारी संभावनाएं हैं लेकिन यहाँ की कांग्रेस सरकार ने राज्य में विकास की सभी संभावनाओं को ख़त्म कर दिया है। उन्होंने कहा कि पूरे पांच साल वीरभद्र सिंह जी केवल घोषणा और भूमिपूजन ही करते रहे, उद्घाटन का एक भी दिन नहीं आया। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह जी हिमाचल के इतिहास में भूमिपूजन करने वाले मुख्यमंत्री के नाम से प्रसिद्ध होने वाले हैं।

श्री शाह ने कहा कि अपराध की बात करें, चाहे वह महिलाओं और बच्चों पर हो रहे अपराध की बात हो या फिर अन्य, लगभग हर श्रेणी के अपराध में हिमाचल प्रदेश में काफी वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने राज्य को भ्रष्टाचार में नंबर एक बना कर रख दिया है, यही वीरभद्र सिंह जी की उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि खनन माफिया बेरोकटोक अवैध खनन कर रहे हैं, वन माफिया पेड़ों को काट रहे हैं, ड्रैग माफिया आने वाली नई नस्लों को बर्बाद कर रहे हैं, ट्रांसफर माफिया ट्रांसफर व पोस्टिंग में पैसे लूट रहे हैं, राज्य में हर तरफ अराजकता का माहौल है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के विकास के प्रश्न जस के तस हैं लेकिन वीरभद्र सरकार ने माफियाओं की सारी मुश्किलें जरूर हल कर दी है। उन्होंने कहा कि एक ओर हिमाचल प्रदेश में माफियाओं की और भ्रष्टाचार की सरकार चल रही है, वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की पारदर्शी, भ्रष्टाचार मुक्त एवं निर्णायक सरकार ईमानदारी से काम कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का हिमाचल प्रदेश के साथ दिल का रिश्ता है, उन्होंने यहाँ पर संगठन की मजबूती के लिए काफी काम किया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल की जनता ने भी अपना पूरा आशीर्वाद देकर लोक सभा चुनाव में सभी की सभी सीटें भाजपा की झोली में डाल दी।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अभी राहुल गांधी गुजरात गए थे, वे गुजरात में हमारी केंद्र सरकार के तीन साल के कामकाज का हिसाब मांग रहे थे। उन्होंने कहा कि राहुल जी, अभी तो गुजरात और हिमाचल के चुनाव हैं,भारतीय जनता पार्टी की तो यह परंपरा रही है कि हम अपने कार्यकाल का पाई-पाई का हिसाब लेकर जनता के सामने जाते हैं। उन्होंने कहा कि हम भाजपा वाले हैं, हम जनता को हिसाब देने में डरते नहीं हैं।उन्होंने कहा कि केंद्र में 10 साल तक सोनिया-मनमोहन की कांग्रेस सरकार ने अंतरिक्ष से लेकर पाताल तक 12 लाख करोड़ रुपये के घपले-घोटाले किये, इन्होंने भ्रष्टाचार औरघोटाले करने में भी कोई जगह नहीं छोड़ी। उन्होंने कहा कि दूसरी ओर, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने पिछले साढ़े तीन सालों में इस तरह से सरकार चलाई है कि केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा है।

श्री शाह ने कहा कि हिमाचल प्रदेश वीरों की भूमि है। उन्होंने कहा कि आज देश की सीमाएं सुरक्षित हैं, इसमें हिमाचल प्रदेश का बहुत बड़ा योगदान है लेकिन पिछले 40 वर्षों से अधिक समय से देश के जवान ‘वन रैंक, वन पेंशन’ की मांग करते आ रहे थे लेकिन इंदिरा गांधी से लेकर सोनिया गांधी-मनमोहन सिंह की सरकार तक इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने एक साल में ही ‘वन रैंक, वन पेंशन’ का प्रश्न समाप्त करके देश के भूतपूर्व सैनिकों को सम्मान के साथ जीने का अधिकार दिया है। उन्होंने कहा कि 8000 करोड़ से अधिक की राशि सीधे सेना के जवानों के अकाउंट में जा रही है। उन्होंने कहा कि हिमाचल की जनता मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह जी से हिसाब मांगें कि जब केंद्र में 10 साल तक यूपीए की सोनिया-मनमोहन सरकार थी, तब हिमाचल प्रदेश को विकास के लिए कांग्रेस सरकार से क्या मिला? उन्होंने कहा कि 13वें वित्त आयोग में जहां सेन्ट्रल टैक्स मंा हिमाचल प्रदेश की हिस्सेदारी लगभग 11,000 करोड़ रुपये थी, वहीं मोदी सरकार के 14वें वित्त आयोग में हिस्सेदारी को बढ़ा कर 28,000 करोड़ रुपये कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की यूपीए सरकार के समय 13वें वित्त आयोग में अनुदान सहायता के रूप में हिमाचल को 10,000 करोड़ रुपये मिलते थे, जिसे 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने चार गुना बढ़ा कर 43,810 करोड़ रुपये कर दिया। उन्होंने कहा कि लोकल बॉडीज ग्रांट को भी 642 करोड़ रुपये से बढ़ा कर 2,012 करोड़ रुपये दिया गया। उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर देखें तोशेयर इन सेन्ट्रल टैक्स, अनुदान सहायता, लोकल बॉडीज ग्रांट, डिजास्टर रिलीफ फंड आदि योजनाओं में 13वें वित्त आयोग में कांग्रेस की सोनिया-मनमोहन सरकार ने 44,235 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की, वहीं 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने हिमाचल प्रदेश को 1,15,846 करोड़ रुपये आवंटित किया है, जो यूपीए सरकार की तुलना में इन सेक्टरों में लगभग 71,000 करोड़ रुपये अधिक है।उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त धर्मशाला में स्मार्ट सिटी के लिए 188 करोड़, स्वच्छ भारत अभियान के लिए 17 करोड़, प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए 68 करोड़, अमृत मिशन के लिए 274 करोड़, अर्बन ट्रांसपोर्ट के लिए 164 करोड़, एम्स के लिए 1000 करोड़, तीन नए मेडिकल कॉलेज के निर्माण के लिए 570 करोड़, स्वास्थ्य सुविधा के लिए 730 करोड़ और हिमालय सर्किट पर्यटन के लिए 100 करोड़ रुपये हिमाचल प्रदेश को अलग से दिए गए हैं। हिमाचल प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि हमने तो हिमाचल की जनता को तीन साल का हिसाब दे दिया, अब वीरभद्र सिंह को हिमाचल की जनता को जवाब देना चाहिए कि यह 71,000 करोड़ रुपये कहाँ गए, वे पैसे हिमाचल प्रदेश के कांग्रेसी नेताओं के भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गए।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में केंद्र की सहायता से आईआईएम की आधारशिला रखी गई है, ईएमएस की आधारशिला रखी गई है, तीन नए मेडिकल कॉलेज बनाए जा रहे हैं, हाइड्रो इंजीनियरिंग कॉलेज बिलासपुर में बनाया जा रहा है, लगभग 76 हजार एलईडी बल्ब वितरित किये गए हैं, 16 हजार गरीब महिलाओं को एलपीजी के कनेक्शन उपलब्ध कराये गए हैं और बहुत सारे युवाओं को मुद्रा बैंक के माध्यम से ऋण देने का काम किया गया है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी जी, हमने तो हिसाब दे दिया है, अब जब आप हिमाचल में आइयेगा तब हिमाचल की सरकार ने पांच साल में राज्य के विकास के लिए क्या किया है, इसका हिसाब जरूर दीजिएगा। उन्होंने कहा कि आप पांच सालों में हिमाचल के लिए कुछ भी नहीं कर पाए, 70 मार्गों को हमने नेशनल हाइवे में तब्दील किया लेकिन आप के मुख्यमंत्री उसका डीपीआर भी नहीं बना सके।

श्री शाह ने कहा कि यदि हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनती है तो राज्य से माफियाओं को ख़त्म करने के लिए मुख्यमंत्री कार्यालय में 24 घंटे काम करने वाली हेल्पलाइन शुरू की जायेगी, साथ ही, खनन, वन एवं पुलिस – इन तीनों को मिलाकर एक जॉइंट टास्क फ़ोर्स बनाया जाएगा जो खनन माफियाओं को जेल भेजने का काम करेगी। उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा सरकार बनने पर ई-टेंडर के जरिये सारे टेंडर निकाले जायेंगे ताकि भ्रष्टाचार न हो। उन्होंने कहा कि हिमाचल की कांग्रेस सरकार ने लोकायुक्त के मामले में विपक्ष को विश्वास में नहीं लिया लेकिन मैं हिमाचल की जनता को भरोसा दिलाना चाहता हूँ कि हिमाचल की भाजपा सरकार लोकायुक्त विपक्ष को भरोसे में लेकर नियुक्त करेगी। उन्होंने कहा कि शिमला और धर्मशाला में युवाओं के लिए युवा हॉस्टल बनाए जायेंगे, हर जिले में मिनी स्टेडियम और खेल एकेडमी बनाई जायेगी, किसानों के लिए सेब, आम और संतरे का समर्थन मूल्य बढ़ाने का भी उल्लेख हमने अपने विजन डॉक्यूमेंट में किया है। उन्होंने कहा कि पालमपुर में स्थित कृषि विश्वविद्यालय को केन्द्रीय विश्वविद्यालय बनाने का प्रयास भारतीय जनता पार्टी की राज्य सरकार करेगी। उन्होंने कहा कि हिमाचल में रोजगार बहुत बड़ी समस्या है, युवाओं का पहाड़ से पलायन हो रहा है, इसे रोकने के लिए पूरे हिमाचल में हम जैविक खेती को बढ़ावा देकर कृषि को और मुनाफे वाली बनाने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि हमने तय किया है कि IT कनेक्टिविटी बढ़ा कर हिमाचल को हम एक बहुत बड़ा सॉफ्टवेयर हब बनायेंगे जिससे राज्य के युवाओं को रोजगार मिल सके। उन्होंने कहा कि हिमाचल में भाजपा की सरकार बनने पर वर्ग तीन और चार से इंटरव्यू को ख़त्म करेगी। उन्होंने कहा कि हमने तय किया है कि ट्रांसफर इंडस्ट्री भाजपा सरकार में नहीं चलेगी, ट्रांसफर के लिए एक पारदर्शी ट्रांसफर पॉलिसी बनाई जायेगी। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के वीर शहीदों के लिए हर जिले में शहीद स्मारक और पार्क बनाए जायेंगे।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हिमाचल प्रदेश की जनता ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी पर भरोसा करने का निर्णय ले लिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में पूरा देश विकास पथ पर आज आगे बढ़ रहा है, अर्थतंत्र आगे बढ़ रहा है और हर प्रकार से दुनिया भर में देश का मान-सम्मान भी ऊंचा हुआ है। उन्होंने कहा कि हमने देश की सीमाओं को भी सुरक्षित करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल भी एक सरहदी राज्य है, सीमाओं पर आये दिन कई घटनाएं होती रहती हैं लेकिन कांग्रेस पार्टी के बड़े नेता पी चिदंबरम जी गुजरात जाकर कहते हैं कि हमें कश्मीर में आजादी के नारे से कोई तकलीफ नहीं है। उन्होंने कहा कि कश्मीर में आजादी के नारे लग रहे हैं और उसका कांग्रेसी नेता समर्थन कर रहे हैं, कांग्रेस के नेताओं को क्या यह मालूम नहीं है कि जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा के लिए हमारे हजारों सैनिकों ने अपनी शहादत दी है! उन्होंने कहा कि हमारे वीर सैनिकों की शहादत पर इस प्रकार की वोट बैंक की राजनीति करते कांग्रेस के नेताओं को शर्म भी नहीं आती। उन्होंने कहा कि कांग्रेस हमेशा से वोटबैंक की राजनीति के लिए देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करती आई है। उन्होंने कहा कि यही चिदंबरम साहब प्रधानमंत्री जी को पत्र लिखते हैं कि रोहिंग्या घुसपैठियों को देश में आने क्यों नहीं दे रहे? उन्होंने कहा कि जब भारत सरकार कहती है कि रोहिंग्या देश की सुरक्षा के लिए ख़तरा है तो फिर क्यों रोहिंग्या घुसपैठियों को देश में आने दिया जाय? उन्होंने हिमाचल प्रदेश की जनता का आह्वान करते हुए कहा कि जब सोनिया जी और राहुल गांधी हिमाचल आयें तो हिमाचल की जनता उनसे पूछे कि कांग्रेस पार्टी का रोहिंग्या पर स्टैंड क्या है, आजादी के नारे लगाने वालों में कांग्रेस के समर्थन पर क्या स्टैंड है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी खुद जेएनयू में देशविरोधी नारे लगाने वालों के समर्थन में खड़े हो गए थे। उन्होंने कहा कि वोटबैंक की राजनीति के चलते देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करने वाली कांग्रेस देश को कभी सुरक्षित नहीं रख सकती, यह कार्य प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ही कर सकती है।

श्री शाह ने कहा कि 2014 के लोक सभा चुनाव के बाद देश में जहां-जहां चुनाव हुए हैं, उन सभी चुनावों में कांग्रेस की हार हुई है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर, असम, मणिपुर, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, झारखंड, हरियाणा – हर जगह कांग्रेस हारी है, अब वे हिमाचल प्रदेश और गुजरात भी हारेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी हर 15 दिन में देश के गाँव, गरीब, किसान, दलित, पिछड़े, आदिवासी, युवा एवं महिलाओं के लिए एक नई योजना लेकर आये लेकिन कांग्रेस की वीरभद्र सरकार इन योजनाओं को हिमाचल प्रदेश में पहुँचने ही नहीं देती, उनको इस बात का डर है कि इन योजनाओं से मोदी जी की लोकप्रियता और बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने तीन साल में 106 विकासोन्मुखी एवं लोक-कल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत की है, ये सभी योजनायें सर्व-स्पर्शी एवं सर्व-समावेशी हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भाजपा सरकार और हिमाचल की भारतीय जनता पार्टी सरकार, दोनों मिलकर राज्य को देश के एक मॉडल स्टेट के रूप में प्रतिष्ठित करेगी।

****

(FJB)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here