editorialलम्बी प्रतीक्षा के बाद ऐतिहासिक व साहसिक निर्णय रघुवर सरकार ने लिया, वो निर्णय था झारखण्ड की स्थानीयता को परिभाषित करना | इसके लिए झारखण्ड सरकार बधाई की पात्र है | इसके लिए माननीय मुख्यमंत्री रघुवर दास की जितनी भी तारीफ की जाए वो कम है, इसके साथ ही झारखण्ड सरकार में शामिल अन्य घटक दल भी बधाई के पात्र है | इसके अलावे जो अफसर, मंत्री या अन्य जिन्होंने झारखण्ड की स्थानीयता को परिभाषित करने मसौदा (Draft) तैयार किया वो भी बधाई के पात्र है |
हो सकता है इसमें कुछ खामियां हों, इसके वावजूद इस निर्णय से मुख्यमंत्री रघुवर दास ने अपने विरोधियों को चारों खाने चित्त कर दिया | जो कल तक विधानसभा को इस वजह से नही चलने दे रहे थे कि सरकार स्थानीयता को परिभाषित नही कर रही है और जब सरकार ने स्थानीयता को परिभाषित कर दी तब उनकी हवा निकल गयी | अब ये लोग ही इस नीति में खोट निकालने में लगे है |
खैर इतना तो तय है कि रघुवर सरकार का यह ऐतिहासिक निर्णय आने वाले समय में मील का पत्थर साबित होगा क्योंकि अब झारखण्ड में विकास की गाड़ी अविरल दौड़ेगी|
Dilip Singh
Editor
Finaljustice.in

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *