देवघर झारखण्ड का एक प्रमुख स्थान माना जाता है, यहाँ हर वर्ष लाखों श्रद्धालु तीर्थ करने के लिए आते है | इस क्षेत्र का उल्लेख कई प्राचीन पुराणों में भी मिल चूका है | इस भाग में हम आपको देव नगरी देवघर, शिवगंगा के विषय में बताने जा रहे है |

Shivganga-Deogharशिवगंगा  शिवगंगा जल का एक छोटा सा तालाब है और पूल के इस पानी को पवित्र माना जाता है। लोग मानते हैं कि इस पवित्र जल में स्नान से कई रोग ठीक हो जाते हैं। शिवगंगा,बैद्यनाथ मंदिर से 200 मीटर की दूरी पर स्थित है। कई भक्त मंदिर जाने से पहले पानी में पवित्र स्नान करते हैं। शिवगंगा के पास एक छोटा सा शिव मंदिर भी है। हिन्दु पौराणिक कथाओं के अनुसार, रावण ने इस पूल को अपनी मुट्ठी जमीन में मारकर उत्पन्न किया था, जब उन्हें मूत्र करने के पश्चात अपने हाथ धोने के लिए पानी नहीं मिला। वह लंका गमन पर थे तथा  अपने हाथों में शिवलिंग ले जाने से पहले अपने हाथों को शुद्ध करना चाहते थे।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *