कन्या पूजन की सार्थकता तभी, जब हर बच्ची विद्यालय जाकर पढ़ाई करे और पूरे समाज को आलोकित करे- मुख्यमंत्री, रघुवर दास

जमशेदपुर, 18.10.2018 – आदि शक्ति मां दुर्गा के नव दिवसीय उपासना पर्व की नवमी पर आज राज्य के मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने जमशेदपुर के भालूबासा स्थित शीतला मंदिर में 501 कन्याओं की आराधना की। मुख्यमंत्री ने सपत्नीक पूरे श्रद्धा भाव से कन्याओं का पूजन अर्चन कर उन्हें भोजन कराया और भोजन उपरांत उनका हस्त प्रक्षालन कराकर स्वयं पात्रों को उठाकर विसर्जित किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कन्या पूजन की सार्थकता इसी में है कि देश की हर बेटी चाहे वो सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्र की हो या शहरी क्षेत्र में; हर बच्ची को पढ़ने का अधिकार मिले। बेटी पढ़ेगी तो अपने संस्कारों से पूरे समाज को संस्कारित करने का काम करेगी और उसके ज्ञानदीप से पूरा कुटुंब और समाज आलोकित होगा। इसी निमित्त हमने संस्कृति और परंपराओं का निर्वहन करते हुए 500 से अधिक कन्याओं को भोजन करवाया है और उनसे आशीर्वाद लिया कि जगत जननी मां दुर्गे इतनी शक्ति दें की राज्य की सवा तीन करोड़ जनता की सेवा में पूरी लगन और अथक परिश्रम के साथ संलग्न रहते हुए झारखंड में सुख समृद्धि और शांति की अविरल गंगा प्रवाहित हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कन्या पूजन सदियों से हमारी सांस्कृतिक परम्परा रही है और हमारे वेद और शास्त्रों में भी नारी की पूजा की बात कही गई है। अपनी संस्कृति को अक्षुण्ण रखते हुए हमें समाज में नारी को अधिक से अधिक आगे बढ़ाने के लिए सभी को मिलजुल कर काम करना होगा। देश के प्रधानमंत्री ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का आह्वान देशवासी वासियों से किया जिससे कि नारी शक्ति का सम्मान हो और देश की बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए सभी देशवासी मिलकर काम करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने संसद में अध्यादेश लाकर महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा के लिए भी कड़े कानून बनाए हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में भी राज्य की उन्नति और तरक्की में महिलाओं की महती भूमिका रहेगी और हमारी सरकार महिलाओं के आर्थिक-सामाजिक सशक्तिकरण की दिशा में निरंतर पूरे समर्पण भाव के साथ काम करेगी।

****

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *