बकरीद के अवसर पर असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखे –  मुख्य सचिव

प्रतिबंधित पशुओं की तस्करी कड़ाई से रोकें

रांची, 18.08.2018 –  मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी ने सभी जिलों के उपायुक्तों और आरक्षी अधीक्षकों को बकरीद को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए असामाजिक तत्वों पर कड़ी निगरानी रखने का निर्देश दिया है। उन्होंने स्पष्ट किया कि लोगों में यह संदेश जाना चाहिए कि कानून का पालन कराना प्रशासन का काम है, इसे कोई अपने हाथ में नहीं ले। मुख्य सचिव प्रोजेक्ट भवन में आला अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये सभी जिलों के उपायुक्त और आरक्षी अधीक्षकों संग बकरीद के अवसर पर विधि-व्यवस्था की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे।

मुख्य सचिव ने पूर्व की घटनाओं की याद दिलाते हुए निर्देश दिया कि उन सभी स्थानों पर विशेष नजर रखें, जो इस त्योहार की दृष्टि से संवेदनशील हैं। खासकर गिरिडीह, बोकारो, कोडरमा, हजारीबाग, रामगढ़, जमशेदपुर, रांची और धनबाद जिलों के प्रशासन को निर्देश दिया कि वे शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए उन सभी उपायों पर अमल करें, जो जरूरी हों। उन्होंने सीमावर्ती इलाके में गोवंशीय पशुओं की तस्करी पर विशेष नजर रखने की हिदायत दी। वहीं ड्रोन, सीसीटीवी कैमरे का अधिकाधिक उपयोग करने को कहा।

गृह सचिव एसकेजी रहाटे ने एहतियाती कदम उठाने का निर्देश देते हुए कहा कि कंट्रोल रूम व्यवस्था को चाक चौबंद रखें। डीजीपी डीके पांडेय ने प्रतिबंधित पशुओं से संबंधित कानून के संबंध में लोगों को जागरूक करने का निर्देश दिया। इस काम के लिए पंचायत प्रतिनिधियों और चौकीदारों का सहयोग लेने को कहा, ताकि गांव-गांव तक यह संदेश सुस्पष्ट पहुंच सके। समय रहते अफवाह पर रोकथाम के लिए भी उन्होंने निर्देश दिए। साइबर थानों को भी अलर्ट रहने को कहा। उन्होंने सभी उपायुक्तों और आरक्षी अधीक्षकों को भेजे गए 34 प्वायंट चेक लिस्ट का हवाला देते हुए कहा कि इसका अनुपालन सुनिश्चित कराएं।

समीक्षा बैठक में एडीजी आरके मल्लिक, एडीजी अनुराग गुप्ता, आइजी सुमन गुप्ता आदि भी मौजूद थे।

****

(FJB)

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *