झारखण्ड रक्षा शक्ति विष्वविद्यालय के नये भवन के उद्घाटन के अवसर पर माननीया राज्यपाल के अभिभाषण

रांची, 04.07.2018 – आज झारखण्ड रक्षा शक्ति विष्वविद्यालय के नए भवन के उद्घाटन के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मुझे सम्मिलित होकर अपार प्रसन्नता हो रही है।
हम सभी जानते हैं, कि शिक्षा के बिना किसी राष्ट्र का विकास संभव नहीं है। शिक्षा ही किसी भी राष्ट्र की विकास की कुँजी होती है। शिक्षा के द्वारा ही व्यक्ति के व्यक्तित्व का विकास होता है उद्धार होता है।
 रक्षा शक्ति विष्वविद्यालय राज्य में अपने तरह का पहला एवं देश का तीसरा ऐसा विष्वविद्यालय है जिसमें Criminology, Industrial Security Forensic Science, Cyber Security Police Science आदि विषयों की डिग्री एवं डिप्लोमा की पढ़ाई की जाती है।
  हमारे झारखण्ड राज्य के युवाओं एवं किशोरों में सैन्य एवं पुलिस सेवा में जाने हेतु बहुत उत्साह व्याप्त है। वे इस सेवा में जाने हेतु अथक मेहनत करते हैं, लेकिन बेहतर मार्गदर्शन वंचित रह जाते हैं। ऐसे में झारखण्ड रक्षा शक्ति विष्वविद्यालय हमारे युवाओं का बेहतर मार्गदर्शन देने का कार्य करेगा।
 झारखण्ड राज्य के लिए सम्मान का विषय है कि ऐसे विशिष्ट विष्वविद्यालय की स्थापना यहाँ की गई है। यहाँ के अधिक-से-अधिक युवा सेना, पुलिस तथा निजी सुरक्षा संगठनों में योगदान दे सकेंगे। उनकी सफलता से राज्य के अन्य युवा भी प्रेरित होंगे और कामयाबी अर्जित करेंगे।
आज आतंकवादी घटनाओं सहित समाज में उग्रवाद, आर्थिक एवं साइबर अपराध जैसी घटनायें घटित हो रही है, ऐसे में यहाँ के विद्यार्थियों को जानकारी एवं प्रशिक्षण सुलभ कराना अत्यन्त प्रषंसनीय है। इससे हमारे युवा-वर्ग आत्मनिर्भर तो बनेंगे ही, साथ ही सामाजिक बुराइयों का अन्त करने में अपना योगदान देकर राष्ट्रहित में व्यापक कार्य करेंगे।
 किसी भी विष्वविद्यालय का गठन करना ही मात्र मकसद नहीं है। विष्वविद्यालय में बेहतर माहौल हो, सभी प्रकार के आधारभूत संरचनायें उपलब्ध हो।
 विष्वविद्यालय का अपना भवन हो, जहाँ नियमित रूप से पढ़ाई एवं इससे जुड़े अन्य गतिविधियाँ संचालित हो। अच्छे Library हो, Laboratory हो।
 कहने का अभिप्राय ज्ञान का वातावरण हर हाल में उपलब्ध हो। इसके लिए झारखण्ड रक्षा शक्ति विष्वविद्यालय के भवन का निर्माण आवष्यक था। शैक्षणिक गतिविधियों के आयोजन से क्षेत्र के लोगों में शिक्षा के प्रति और जागरूकता उत्पन्न होंगे। वे पढ़ने तथा पढ़ाने हेतु पूर्णतः सक्रिय रहेंगे।
 झारखण्ड रक्षा शक्ति विष्वविद्यालय सुरक्षा बलों की संपूर्ण कार्यशैली में Excellence लाने हेतु तकनीकी ज्ञान और प्रबंधन की जानकारी देने के साथ-साथ पूरे देश में शान्ति-व्यवस्था को और सुढृढ़ करने का संवाहक बनेगा, ऐसी अपेक्षा है। यहाँ सुरक्षा से जुड़े विषयों में शोध एवं अनुसंधान व्यापक पैमाने पर हो।
Cyber अपराध को रोकने के लिए हमारे युवा सदैव प्रयत्नशील रहें, इसे एक चुनौती के रूप में लें। इस दिशा में उन्हें आगे आना हागा क्योंकि हमारे सामाज में आज Cyber अपराध की घटनायें काफी घटित हो रही है। इस पर नियंत्रण हेतु यह संस्थान अपनी सार्थक भूमिका अदा करें।
 इस विष्वविद्यालय का यह दायित्व है कि वह अपने छात्रों को Quality Education सुलभ कराने की दिषा में प्रतिबद्ध रहे। यह विष्वविद्यालय देश के लिये Role Model हो ताकि अधिक-से-अधिक युवा इस विष्वविद्यालय में शिक्षा ग्रहण करने हेतु उत्साहित हो।
 विश्वविद्यालय में Infrastructure उपलब्ध हों। साथ ही Classes Regular हों, Laboratory में आवष्यक उपकरण मौजूद हों, छात्रहित में Library विकसित हो छात्र-छात्राओं को Scholarship समय पर सुलभ हो।
 यहाँ से उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं को अपेक्षित रोजगार उपलब्ध हों तथा यह विष्वविद्यालय अपनी उपलब्धियों से यह इस क्षेत्र तक ही सीमित न रहें बल्कि सम्पूर्ण राज्य एवं राष्ट्र के अग्रणी शिक्षण संस्थानों के रूप में ख्याति अर्जित करें।
 मुझे पूर्ण आशा है कि यह विष्वविद्यालय विद्यार्थियों को हर हाल में प्रतिभावान बनाने हेतु तत्पर रहेगा तथा उन्हें देश का एक जिम्मेदार सशक्त नागरिक के रूप में विकसित करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वाहन करेगा।
जय हिन्द!     जय झारखण्ड!

****

(FJB)

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *