*गुड गर्वनेंस के लिए आइटी का अधिकतम उपयोग जरूरी है- रघुवर दास, मुख्यमंत्री

*आने वाले दिनों में झारखंड देश में आईटी हब के रुप में जाना जायेगा

*राज्य सरकार झारखंड में डिजीटल क्रांति की दिशा में अग्रसर है

*आइटी के माध्यम से न केवल काम में तेजी आयेगी, बल्कि भ्रष्टाचार और बिचैलियों पर भी लगाम लगेगी

*देश में सबसे पहले झारखंड ने ग्रामीण बीपीओ की शुरुआता की – रघुवर दास, मुख्यमंत्री

रांची, 25.02.2018 – मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि गुड गर्वनेंस के लिए आइटी का अधिकतम उपयोग जरूरी है। राज्य सरकार झारखंड में डिजीटल क्रांति की दिशा में अग्रसर है। आइटी के माध्यम से न केवल काम में तेजी आयेगी, बल्कि भ्रष्टाचार और बिचैलियों पर भी लगाम लगेगी। पिछले तीन साल में झारखंड में आइटी के क्षेत्र में काफी काम हुआ है। इसी का नतीजा है कि आज हमने देश में सबसे पहली बार ग्रामीण बीपीओ शुरू किया है। इससे ग्रामीण क्षेत्रों में आधुनिकता को उपयोगिता बनाया जा सकेगा। उक्त बातें उन्होंने झारखंड आइटी कनक्लेव 2018 कार्यक्रम में कहीं। उन्होंने कहा कि प्रज्ञा केंद्रों के माध्यम से टेली हेल्थ का कार्यक्रम शुरू किया गया है। इसमें एक परिवार को डॉक्टर से साल भर में आठ बार बात करने और दवाएं मुफ्त दी जाती हैं। राज्य में बीपीएल परिवारों को ये सुविधा प्रदान करने के लिए प्रज्ञा केंद्रों को सहायता करेगी। इसके साथ ही हर प्रखंड में प्रज्ञा केंद्र के माध्यम से महिलाओं को दस सीटों वाले बीपीओ के लिए काम उपलब्ध कराने में सरकार मदद करेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पीएमजी दिशा कार्यक्रम में झारखंड देश में दूसरे स्थान पर है। राज्य में 9.50 लाख लोगों को डिजीटल शिक्षा दी गयी है। इसमें 4.50 लाख ऑनलाइन परीक्षा में पास कर चुके हैं। इंफोर्मेशन टेक्नोलॉजी (आइटी) और इंडिया टैलेंट (आइटी) मिलकर इंडिया टुमोरो (आइटी) बनते हैं। विकास और रोजगार में तालमेल जरूरी है। जब एक ओर विकसित देशों में बूढ़ों की जनसंख्या ज्यादा होती जा रही है, भारत की 65 प्रतिशत आबादी नौजवानों की है। ऐसे में सर्विस सेक्टर की भूमिका अहम होगी। नयी तकनीक को यदि हम बदलते समय के साथ नहीं अपनायेंगे, तो हम पिछड़ते जायेंगे। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के न्यू इंडिया के सपनों को साकार करने के लिए गांव, गरीब, किसान को डिजीटल साक्षर करना जरूरी है। न्यू इंडिया और न्यू झारखंड के निर्माण में सभी को अपनी भूमिका निभानी होगी।

कार्यक्रम में श्री रघुवर दास ने नक्सल प्रभावित प्रखंडों में 30 ग्रामीण बीपीओ का उदघाटन किया। साथ ही 5000 लोगों को रोजगार से जोड़ा गया। सांकेतिक रूप से कुछ लोगों को नियुक्ति पत्र सौंपे गये। बीपीओ शुरू करनेवाली कंपनियों को प्रशस्ति पत्र दिये।

इस दौरान मेयर श्रीमती आशा लकड़ा, मुख्य सचिव श्रीमती राजबाला वर्मा, हटिया विधायक नवीन जायसवाल,  विकास आयुक्त श्री अमित खरे, उद्योग सचिव श्री सुनील कुमार बर्णवाल, आइटी सचिव श्री सतेंद्र सिंह, सीएससी-एसपीवी के सीइओ श्री दिनेश त्यागी, फेसबुक इंडिया के नितिन सलूजा, स्टार्टअप इंडिया फाउंडेशन के चेयरमैन अनिल छिकारा, एसटीपीआइ के महानिदेशक श्री ओमकार राय, इंडिया नेटवर्क के सीइओ राहुल नारवेकर, आइटी निदेशक श्री यूपी साह समेत बड़ी संख्या में गण्यमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

****

(FJB)

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *