* प्रशासन अपने उद्देश्य में सेवा का दूसरा नाम है – अमित खरे 

रांची,01.01.2018 – विकास आयुक्त सह अपर मुख्य सचिव श्री अमित खरे ने कहा कि अपने देश को जानिए, जितना अधिक आप अपने देश को, यहां के लोगों को जानेंगे और समझेंगे उतना बेहतर प्रशासक बन सकेंगे। प्रशासन अपने उद्देश्य में सेवा का दूसरा नाम है। कार्य के दौरान बहुत कुछ सीखा जा सकता है परंतु, भारत दर्शन कार्यक्रम प्रशासन की भावी चुनौतियों का समाधान करने में सबसे महत्वपूर्ण है। इसलिए पूरी गंभीरता, संवेदनशीलता और तत्परता के साथ प्रशिक्षण का यह कार्यक्रम पूरा करें। वे आज प्रशिक्षु आईएएस अधिकारियों को संबोधित कर रह थे। ज्ञात हो कि भारत दर्शन कार्यक्रम के तहत 18 आईएएस अधिकारी के तहत झारखंड भ्रमण के लिए आए हैं।राज्य भ्रमण से पूर्व झारखंड मंत्रालय के सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम में विकास आयुक्त ने झारखंड की चुनौतियां संभावनाएं और उपलब्धियों पर प्रशिक्षु अधिकारियों को जानकारी दी। श्री अमित खरे ने कहा झारखंड दर्शन के दौरान झारखंड के प्राकृतिक स्वरूप और यहां के लोगों को जानने को प्राथमिकता दे। लोगों से मिलना, उनको सुनना और समझना सबसे महत्वपूर्ण होना चाहिए। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री सुधीर त्रिपाठी, सचिव समाज कल्याण श्री विनय चौबे, सचिव खाद्य आपूर्ति श्री अमिताभ कौशल, राज्य पोषण मिशन के महानिदेशक श्री वी के सक्सेना तथा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के एम डी श्री कृपानंद झा ने भी प्रशिक्षु आईएएस अधिकारियों को संबोधित किया तथा उनकी जिज्ञासाओं, शंकाओं और उनके प्रश्नों का जवाब भी दिया। प्रशिक्षु अधिकारियों का दल आज अपराह्न गुमला जिला के लिए प्रस्थान कर गया।प्रशिक्षु अधिकारियों में स्वप्निल रणवीर पाटिल, एस एस संजय, आर इन धोते, मृदुल यादव, मयंक चतुर्वेदी, गौरव सैनी, देवेंद्र कुमार अनीता यादव अक्षय गोल्ड करें गार्गी सिंह भरत एस, अनिरुद्ध रेड्डी, अवधेश मीणा, कुणाल देवव्रत, मिताली सेठी, एस गिरि, सुशील कुमार और वंदना गर्ग सम्मिलित थे।

****

(FJB)

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *