Home jharkhand वैसे प्राइवेट हाॅस्पिटलों को चिन्हित करें जो मेडिकल एक्ट के अनुरूप...

वैसे प्राइवेट हाॅस्पिटलों को चिन्हित करें जो मेडिकल एक्ट के अनुरूप नहीं है – उपायुक्त राँची

16
0
SHARE

राँची,17.8.2017 – उपायुक्त राँची श्री मनोज कुमार ने समाहरणालय भवन के सभा कक्ष में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा की। उपायुक्त ने बुढ़मू, कांके एवं ओरमांझी प्रखण्डो में संस्थागत डिलीवरी तथा इसके निबंधन में 92 प्रतिषत से कम पाये जाने पर असंतोष व्यक्त करते हुए संबंधित चिकित्सा पदाधिकारी को शत् प्रतिशत कराने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने सभी चिकित्सा पदाधिकारियों को प्राइवेट हाॅस्पिटल के डिलीवरी रिर्पोट कलेक्ट कर जिला को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने कहा कि पिछले बैठक में गर्ववती महिलाओ का डियु लिस्ट एएनएम को उपलब्ध कराने को कहा गया था इसके बावजूद 62 प्रतिशत से भी कम उपलब्धता पाया गया। उपायुक्त ने सिविल सर्जन को निर्देष दिया कि वैसे उप स्वास्थ्य केन्द्र जहाॅ एएनएम नहीं है वहां यथाषीघ्र एएनएम की प्रतिनियुक्ति सुनिष्चित किया जाए। उपायुक्त ने उपस्थित चिकित्सा पदाधिकारियों को अपने अपने क्षेत्र के वैसे प्राइवेट हाॅस्पिटल चिन्हित करने का निर्देश दिया जो मेडिकल एक्ट के अनुरूप नहीं है। साथ ही उपायुक्त ने कहा कि वैसे हाॅस्पिटल जहाॅ अल्ट्रसाउंड मशीन का उपयोग कर रहे है उसका भी सूची जिला को उपलब्ध कराने को कहा गया। ताकि सीओ को मजिस्ट्रेट बनाकर उसका जाॅच कराया जा सके।
उपायुक्त ने सभी चिकित्सा पदाधिकारियों को दो दिनों के अन्दर सभी प्रखण्डो में एम्बुलेंस सेवा की व्यवस्था सुनिष्चित करने का निर्देश दिया। साथ ही यह भी कहा  कि चिकित्सा के दौरान किसी की मृत्यु होने पर उनका डेड बाॅडी को पहुॅचाने हेतु किसी भी परिस्थिति में एम्बुलेंस की व्यवस्था करानी है। अगर कहीं से भी शिकायत पाये जाते है तो उसकी जिम्मेवारी संबंधित प्रखण्ड के चिकित्सक पदाधिकारी का होगा। साथ ही उनपर विभागीय कार्यवाही की जाएगी।
उपायुक्त ने सभी चिकित्सा पदाधिकारियों को स्वास्थ्य उप केन्द्र में सभी प्रकार के जीवन रक्षक दवाईयाॅ उपलब्ध रखना सुनिष्चित कराने को कहा ।
 बैठक में सिविल सर्जन, अपर मुख्य चिकित्सक पदाधिकारी, प्रभारी चिकित्सक पदाधिकारी तथा जिला कार्यक्रम प्रबंधक उपस्थित थे।

****

(FJB)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here