Home breaking_news मीडिया तम्बाकू एवं उससे बने पदार्थों का प्रचार न कर के उसके...

मीडिया तम्बाकू एवं उससे बने पदार्थों का प्रचार न कर के उसके दूष्प्रभावों का प्रचार करें – संजय कुमार

41
0
SHARE

*बुरी चिजें सिर्फ दूसरों को होती है, ऐसी मानसिकता को बदलें- प्रधान सचिव

*मीडिया तम्बाकू कंपनियों के चालाकियों को उजागर कर लोगों को जागरूक करे-दीपक मिश्रा 

*जल्द ही टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल द्वारा राँची के इटकी में कैंसर के इलाज के लिए बनाया जायेगा अस्पताल- डॉ. सुमंत मिश्रा

रांची,29.07.2017 – श्री संजय कुमार, मुख्यमंत्री सह सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के प्रधान सचिव ने कहा कि 93% लोगों को मालूम है कि तम्बाकू सेवन से कैंसर होता है फिर भी लोग इसका सेवन करते हैं। उन्होंने कहा कि लोगों की मानसिकता है कि बूरी चिजें सिर्फ दूसरों को होती है। लेकिन तम्बाकू सेवन से कैंसर किसी को भी हो सकता है इसलिए जानबूझकर अपने सेहत के साथ खिलवाड़ नहीं करनी चाहिए। उन्होंने मीडिया से तम्बाकू एवं उससे बने पदार्थों का प्रचार न कर के उसके दूष्प्रभावों का प्रचार करने पर बल दिया जिससे लोगों में जागरूक्ता बढ़े और लोगों की जिंदगी बच सके। वे आज सूचना भवन सभागार में प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के संपादकीय एवं विज्ञापन प्रभारियों के साथ राज्य स्तरीय संवेदीकरण कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।

कार्यशाला में सिगरेट और तंबाकू नियंत्रण अधिनियम COTPA 2003 के विभिन्न प्रावधानों, प्रतिबंधों एवं दंडात्मक कार्रवाईयों से संबन्धित जानकारी प्रदान की गई। साथ ही बाल संरक्षण अधिनियम में तम्बाकू नियंत्रण से संबंधित प्रवधानों की जानकारि भी दी गई। इस कार्यक्रम का आयोजन राज्य तंबाकू नियंत्रण कोषांग, झारखंड सोसियो इकोनोमिक एंड एजुयुकेशनल डेवलपमेंट सोसाईटी (SEEDS) एवं सूचना एवं जनसंपर्क विभाग राँची द्वारा संयुक्त रूप से सूचना भवन किया गया ।

इस अवसर पर SEEDS के कार्यपालक निदेशक श्री दीपक मिश्रा ने PPT के माध्यम से तम्बाकू सेवन से होने वाले दूष्प्रभाव एवं इसकी रोकथाम में मीडिया की भुमिका पर प्रकाश डाला । उन्होंने बताया कि पूरे देश में तम्बाकू जनित रोगों से प्रति वर्ष 12 लाख लोगों कि मृत्यू होती है। श्री मिश्रा ने बताया कि झारखण्ड में 50.01% लोग किसी न किसी रूप में तम्बाकू का सेवन करते है जो कि राष्ट्रीय औसत से लगभग 21.5% अधिक है।उन्होंने जानकारी दी कि झारखण्ड में  करीब 48% लोग चबाने वाले तम्बाकू का सेवन करते हैं जो कि मुंह के कैंसर का सबसे बडा कारण है। श्री दीपक ने कहा कि मीडिया इस मुहिम में तम्बाकू कंपनियों के चालाकियों को उजागर कर लोगों को जागरूक कर सकता है।

 कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग के निदेशक प्रमुख डॉ. सुमंत मिश्रा ने कहा झारखण्ड राज्य में अभी केवल रीम्स में कैंसर का इलाज हो पा रहा है जल्द ही टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल द्वारा राँची के इटकी में कैंसर के इलाज के लिए 100 बेड़ वाले एक अस्पताल का निर्माण कराया जाएगा एवं इसकी शाखा जमशेदपुर और धनबाद में भी खुलेगी। 

इस अवसर पर सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के निदेशक श्री राम लखन प्रसाद गुप्ता, उप निदेशक श्रीमती शालिनी वर्मा, राज्य तंबाकू नियंत्रण कोषांग के नोडल पदाधिकारी डॉ ललित रंजन पाठक, राज्य परामर्शी तंबाकू नियंत्रण श्री राजीव कुमार, SEEDS के कार्यक्रम समनवयक श्री रिम्पल झा, भोला पाण्डेय, नरेंद्र कुमार शाही, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के पदाधिकारीगण एवं मीडियाकर्मी उपस्थित थे।

****

(FJB)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here