Home jharkhand जैव-विविधता उद्यान, लालखटंगा सैलानियो को आकर्षित करता एक बहुत सुन्दर पार्क...

जैव-विविधता उद्यान, लालखटंगा सैलानियो को आकर्षित करता एक बहुत सुन्दर पार्क है

44
0
SHARE

राँची, 28.07.2017 – उपायुक्त राॅची की अध्यक्षता में नामकोम प्रखण्ड के लालखटंगा पंचायत स्थित जैव विविधता उद्यान (Biodiversity Park) में प्रिन्ट एवं इलेक्ट्राॅनिक मिडिया के प्रतिनिधियों के साथ ‘मिडिया संवाद‘ का आयोजन किया गया। सहायक वन पदाधिकारी श्री परेष अग्रवाल, ने बताया कि यह जैव-विविधता उद्यान, लालखटंगा में सैलानियो को आकर्षित करता एक बहुत सुन्दर पार्क है जो राॅची वन प्रमण्डल,राॅची द्वारा 542 एकड़ भूमि पर बनाया गया है जो एक पिकनिक स्पाॅट के रूप में विकसित किया जा रहा है।जिसमे 10 हजार फलदार वृक्ष है जिसमें काजुख् अखरोट, मखाना आदि के पेड़ है।पार्क में घूमने के लिए बैट्री आॅपरेटेड गाड़ी भी उपलब्ध है। पार्क में गेस्ट हाउस की भी व्यवस्था है। सहायक वन पदाधिकारी ने बताया कि पार्क में प्रवेश हेतु 20 रूपये प्रति व्यक्ति शुल्क रखा गया है।‘मिडिया-संवाद‘ के दौरान उपायुक्त ने प्रिन्ट एवं इलेक्ट्राॅनिक मिडिया के प्रतिनिधियों को जिले में पिछले एक माह की उपलब्धियों एवं आने वाले जुलाई माह में जिला प्रशासन के ‘फोकस-पाइंट‘ पर विस्तार से जानकारी दी।
उप निर्वाचन पदाधिकारी श्रीमती गीता चौबे ने बताया कि एक भी मतदाता छूटे नहीं शिक्षण संस्थानों में विशेष कैम्प का आयोजन जुलाई माह में किया जाएगा। अब कोई भी अनुमंडल या जिला कार्यालय में आकर नाम जुड़वा सकता हैं। अगले वर्ष नगर निकायों के चुनावों के मद्देनजर इस बात का ध्यान रखना है कि कोई भी मतदाता छूटे नहीं।
उपायुक्त महोदय द्वारा जानकारी दी गई कि मतदाता पहचान पत्र में यदि कोई गलती है सुधार के लिए प्रपत्र भरकर दिया जा सकता है। अपर जिला दण्डाधिकारी, विधि व्यवस्था ने बताया विधि व्यवस्था के विषय पर मुख्य सचिव महोदया के द्वारा प्राप्त निर्देश के आलोक में डीसी एवं एसपी का संयुक्त आदेश निर्गत किया गया। जिला स्तर के पदाधिकारी प्रखण्ड में जब भी जाएगें तो उस प्रखण्ड के सभी कार्यालयों का निरीक्षण कर प्रतिवेदन उपायुक्त को उपलब्ध कराये जाएगें। जिले की शांति व्यवस्था में जिन लोगो का हमेशा सहयोग मिलता है प्रखण्ड के ऐसे लोगो को केन्द्रीय शांति समिति में शामिल किया जाएगा। चैकीदारी प्रथा पर जोर दिया गया है। कम्पोजिट कन्ट्रोल रूम 24 घंटे कार्यरत रहेगा और शिफ्ट वाईज मजिस्ट्रेट की ड्यूटी होगी ताकि किसी भी अवांछनीय परिस्थिति में वे पुलिस पदाधिकारी के साथ स्थिति पर नियंत्रण रख सके। जो प्रमुख दूरभाष नम्बर है उन्हे प्रखण्ड, अंचल, पंचायत, भवनों आदि में लिखवाया जाएगा। प्रत्येक 15 दिनों में अनुमण्डल स्तरीय विधि व्यवस्था से संबंधित बैठक आयोजित होगी। प्रत्येक 15 दिनों में एक थाना दिवस के आयोजन का भी प्रस्ताव। प्रत्येक माह के अंतिम सप्ताह में उपायुक्त की अध्यक्षता में समीक्षात्मक कंट्रोल रूम में बैठक होगी। जिसमें अनुमंडल स्तर पर मामलों का निष्पादन किया जाएगा। थाना प्रभारी एवं अंचल अधिकारी किसी भी घटना की स्थिति में घटना स्थल पर तत्काल पहुॅंचना सुनिष्चित करेगें। मोहल्ला शांति समिति की भी नियमित बैठक की जाएगी। शस्त्र लाइसेंस की भी समीक्षा की जा रही है। उपायुक्त ने कहा कि स्वच्छ भारत मिषन के तहत जुलाई माह में 2 प्रखण्डो को नगड़ी और ओरमांझी ओडीएफ करने का लक्ष्य निर्धारित किया जाएगा जहाॅ शौचालयों का निर्माण हो चुका है। 1 लाख 10 हजार शौचालय बनने पर ही 2018 तक पूरे जिले को ओडीएफ करने का लक्ष्य प्राप्त किया जा सकता है। सखी मंडल के विपेज आॅर्गेनाइजेषन द्वारा भी शौचालय निर्माण का कार्य करवाया जा रहा है। जुलाई माह में राष्ट्रीय स्तर के विषेषज्ञों को बुलाकर प्रषिक्षण कार्यक्रम किया जाता है।05 जुलाई को 2200 सभी मण्डल को बैंक लिंकेज प्रदान करने हेतु बड़े कार्यक्रम का आयोजन किया जाना है। 03 जुलाई से सभी प्रखण्डों से विडियो कान्फ्रेसिंग की व्यवस्था शुरू की जानी है। जुलाई माह में जिला प्रषासन की कम से कम तीन शाखाएॅ ई आॅफिस के तहत काम करना प्रारंभ करेगीे। जिला राजस्व शाखा प्रथम चरण में ई आॅफिस के तहत काम करने लगेगें। उपायुक्त ने बताया कि मनरेगा में राॅची जिला मानव दिन का श्रम सृजन में गिरिडीह के बाद दूसरे स्थान पर है और खर्च में राॅची जिला प्रथम स्थान पर है। प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए जुलाई माह अतिमहत्वपूर्ण रहेगा जिसके आवासों का निर्माण शुरू हो चुका है और शेष कार्य दो माह में करवा लिए जाएगें। बुण्डू अनुमण्डल अस्पताल का शुभारंभ भी जुलाई माह में करने का लक्ष्य है। षिक्षा विभाग में कक्षा 1 से 8 वर्ग के बच्चों का बैंक खाता आधार लिंक कर लिया जाएगा। अबतक 82 प्रतिषत तक लक्ष्य प्राप्त किया जा चुका है जिसे जुलाई माह में 100 प्रतिषत करने का लक्ष्य है। उपायुक्त महोदय द्वारा जानकारी दी गई प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत 1 लाख 50 हजार किसानों को आच्छादित करने के लक्ष्य को पूरा करने का प्रयास तेज किया जा रहा है चूॅकि यह बीमा योजना जुलाई तक ही होती है। महोदय द्वारा बताया गया कि जिले में 23 संस्थानों में कौषल विकास के कार्यक्रम चल रहे है। नक्सल प्रभावित गाॅवों में ‘थ्वबने ।तमं क्मअमसवचउमदज च्तवहतंउउम‘ के तहत कौषल विकास हेतु विषेष कैम्प लगाये गए और जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आये है और इन क्षेत्रों के 400 युवक युवतियों ने आवेदन दिया है। आने वाले दिनों में मेगा स्कील ट्रेनिंग का आयोजन किया जाएगा। उपायुक्त द्वारा बताया गया कि रजिस्ट्री आॅफिस में जो भी गड़बड़ी मिली है उनके समाधान के प्रयास किए जा रहे है। जुलाई महीने में उन खातो की जाॅच का लक्ष्य रखा गया है जो विवादित रहे है। पंचायत स्वयंसेवको का प्रषिक्षण 10 दिनों तक दिया गया है कि वे कैसे आवेदन, कागजात प्राप्त करे। एक सवाल के जवाब में उपायुक्त महोदय द्वारा बताया गया कि खतियान की इन्ट्री नहीं हो पायी है उनपर पूरी जाॅच करने के बाद वेैसे खाता प्लाॅट की इंट्री करने का निर्णय सरकार के स्तर पर लिया गया है।
बैठक में अपर समाहर्ता श्री अंजनी कुमार मिश्र, उप विकास आयुक्त श्री शषि शेखर, एडीएम, विधि व्यवस्था श्री गिरिजाशंकर प्रसाद, एडीएम नकस्ल श्रीमती गीता चैबे, जिला पंचायती राज पदाधिकारी श्वेता कुमारी गुप्ता, कार्यपालक दण्डाधिकारी श्रीमती एनी रिकी कुजूर, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी ईषा खण्डेलवाल, अंचलाधिकारी नामकोम श्री मनोज कुमार के अलावे लाल खटंगा पंचायत के मुखिया श्री रितेष उराॅव उपस्थित थे।

****

(FJB)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here