Home aas_paas 24 सालों के कम्युनिस्ट शासन में त्रिपुरा में डर और भ्रष्टाचार का...

24 सालों के कम्युनिस्ट शासन में त्रिपुरा में डर और भ्रष्टाचार का माहौल बन गया है – अमित शाह

34
0
SHARE

*जिस प्रकार से त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी का विस्तार हो रहा है, मैं मानता हूँ कि त्रिपुरा में अगली सरकार निश्चित रूप से भारतीय जनता पार्टी की बनने जा रही है

*कम्युनिस्ट दुनिया से ख़त्म हो चुकी है और कांग्रेस देश से। मुझे इस बात का पूरा भरोसा है कि त्रिपुरा की जनता भी देश और दुनिया के साथ कदम-ताल करते हुए राज्य में भाजपा की सरकार बनायेगी

*कांग्रेस के समय 13वें वित्त आयोग में सेन्ट्रल टैक्स में त्रिपुरा की हिस्सेदारी जहां मात्र 7283 करोड़ रुपये थी, वही आज मोदी सरकार में लगभग तीन गुणी बढ़ कर 14वें वित्त आयोग में 25396 करोड़ रुपये हो गयी है

*रेवेन्यू डेफिसिट ग्रांट में कांग्रेस के समय जहां त्रिपुरा को इसका कोई अंश नहीं मिलता था, वहीं मोदी सरकार ने त्रिपुरा को इसके लिए 5103 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की है

*24 सालों के कम्युनिस्ट शासन में त्रिपुरा में डर और भ्रष्टाचार का माहौल बन गया है और राज्य की जनता इस माहौल से निजात पाना चाहती है, मुक्ति चाहती है और इसके लिए उनके पास एक ही विकल्प है – भारतीय जनता पार्टी

*हम त्रिपुरा में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हो रहे हिंसक हमलों की कड़ी भर्त्सना करते हैं, यदि कम्युनिस्ट पार्टी ऐसा मानती है कि हिंसा और दमन से वे राज्य में हमें रोक पायेंगे तो यह उनकी भूल है, वे जितना भी हिंसा और दमन का प्रयास करेंगे, भारतीय जनता पार्टी उतनी ही तेजी से आगे बढ़ेगी

*त्रिपुरा भले ही देश का एक छोटा राज्य हो, लेकिन यह देश का मॉडल स्टेट बनने की पूरी संभावना रखता है लेकिन ढाई दशक से यहां पर जो सरकार काम कर रही है उसने वोट बैंक के लिए बांग्लादेशी घुसपैठियों को रोकने के कोई उपाय नहीं किये

*मोदी सरकार ने त्रिपुरा के स्थानीय उत्पादनों को बढ़ावा देने के लिए बॉर्डर हाट का कांसेप्ट शुरू किया है और इस तरह के तीन हाट की शुरुआत अब तक हो चुकी है

*त्रिपुरा की लगभग दो तिहाई आबादी गरीबी रेखा से नीचे जीने को विवश है, एक चौथाई जनसंख्या के पास शुद्ध पीने का पानी उपलब्ध नहीं है, बिजली का भी यही हाल है और 37 लाख की आबादी में से 8 लाख पढ़े-लिखे लोग बेरोजगार हैं

*त्रिपुरा में यदि भारतीय जनता पार्टी सत्ता में आती है तो राज्य में सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू किया जाएगा

*यदि राज्य के मुख्यमंत्री को लगता है कि रोज वैली चिटफंड घोटाले में वे पाकसाफ हैं तो उन्हें खुद ही इस घोटाले की सीबीआई जांच करानी चाहिए क्योंकि इस घोटाले में राज्य की गरीब जनता की खून-पसीने की कमाई डूबी है

*प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने तीन वर्ष में लगभग 105 लोक-कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से दुनिया के सामने एक सर्वस्पर्शीय और सर्वसमावेशक विकास का मॉडल रखा है

*एक साथ 104 सैटेलाईट लॉन्च करके हिन्दुस्तान ने दुनिया में एक नायाब कामयाबी हासिल की है। कल ही भारत ने पाकिस्तान के छोड़ कर बाकी सभी सार्क देशों के दूरसंचार एवं शिक्षा के क्षेत्र के लिए जीसैट-9 का सफल प्रक्षेपण किया है जो निश्चित रूप से एक बड़ी उपलब्धि है

अगरतला (त्रिपुरा) – 06.05.2017 – भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज स्टेट गेस्ट हाउस, अगरतला (त्रिपुरा) में आयोजित एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया और त्रिपुरा की मार्क्सवादी कम्युनिस्ट सरकार पर जनता की समस्याओं की अनदेखी को लेकर कड़ा प्रहार किया। ज्ञात हो कि माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष संगठन विस्तार के 95 दिनों के अपने विस्तृत प्रवास कार्यक्रम के तहत आज त्रिपुरा में हैं। त्रिपुरा में उनका दो दिन के प्रवास का कार्यक्रम है जहां वे संगठन के कार्यों की समीक्षा करने के साथ-साथ आगामी विधानसभा चुनाव की रणनीति भी पार्टी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के साथ साझा करेंगे। इसके अतिरिक्त वे आज शाम राज्य के प्रबुद्ध लोगों के साथ भी कई विषयों पर चर्चा करेंगे और पार्टी की गरीब-कल्याण की नीतियों पर विशेष रूप से प्रकाश डालेंगे। माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जी कल कुमारघाट में एक विशाल जन-सभा को भी संबोधित करेंगे।

माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि त्रिपुरा में हमारे प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी संगठन का विस्तार करने और पार्टी को मजबूत करने में जी-जान से जुटी है और मैं मानता हूँ कि जिस प्रकार से त्रिपुरा में पार्टी का विस्तार हो रहा है, त्रिपुरा में अगली सरकार निश्चित रूप से भारतीय जनता पार्टी की बनने जा रही है। उन्होंने कहा कि आज राज्य में भारतीय जनता पार्टी के दो लाख से अधिक सदस्य हैं और राज्य में हमारा मुकाबला दो ऐसी पार्टियों से है जिसकी स्थिति से सभी अवगत हैं – कम्युनिस्ट दुनिया में ख़त्म हो चुकी है और कांग्रेस देश से समाप्त हो गई है। उन्होंने कहा कि मुझे इस बात का पूरा विश्वास है कि त्रिपुरा की जनता भी देश और दुनिया के साथ कदम-ताल करते हुए राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनायेगी।

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने इन तीन वर्षों में त्रिपुरा के विकास के लिए कई काम किये हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के समय 13वें वित्त आयोग में सेन्ट्रल टैक्स में त्रिपुरा की हिस्सेदारी जहां मात्र 7283 करोड़ रुपये थी, वही आज मोदी सरकार में लगभग तीन गुणी बढ़ कर 14वें वित्त आयोग में 25396 करोड़ रुपये हो गयी है। उन्होंने कहा कि रेवेन्यू डेफिसिट ग्रांट में कांग्रेस के समय जहां त्रिपुरा को इसका कोई अंश नहीं मिलता था, वहीं मोदी सरकार ने त्रिपुरा को इसके लिए 5103 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की है। उन्होंने कहा कि पहली बार अगरतला से बांग्लादेश तक रेल लिंक को बनाने का काम मोदी सरकार ने अपने हाथ में लिया है जो पूर्वोत्तर में व्यापार और टूरिज्म, दोनों के लिए निर्णायक साबित होगा। उन्होंने कहा कि राज्य में इन्फ्रास्ट्रक्चर से जुड़ी परियोजनाओं पर केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद तेज गति से काम हो रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में राज्य में कई विद्युत् परियोजनाओं की शुरुआत की गई है जिससे राज्य के हर घर में बिजली पहुंचाने का सपना साकार हो सकेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में जनजातीय इलाकों में संपर्क को बेहतर बनाने के लिए 189 करोड़ रुपये की लागत से 23 पुल और 173 किलोमीटर लंबी सड़क परियोजना के उन्नयन करने काम भी केंद्र सरकार ने अपने हाथ में लिया है। उन्होंने कहा कि इसके अलावे सेंड सिटी के निर्माण के लिए 30 करोड़ रुपये की राशि दी गई है, डिग्री कॉलेज के आधुनिकीकरण के लिए अलग से करोड़ों रुपये दिए गए हैं, जी बी पंत अस्पताल में आधुनिकीकरण के लिए लगभग 13 करोड़ रुपये की राशि उपलब्ध कराई गई है। उन्होंने कहा कि ठोस कचरा प्रबंधन संयंत्र के निर्माण का कार्य भी भारत सरकार ने शुरू किया है। उन्होंने कहा कि अगरतला हवाई अड्डे के उन्नयन के लिए केंद्र सरकार ने लगभग 400 करोड रुपए की राशि आवंटित की है, इसके अलावे 100 हायर एजुकेशन की स्कूलों में 40 करोड़ रुपये से अधिक राशि देकर स्कूलों में सुविधाओं को बढ़ाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि राज्य में पांच एनएचए घोषित हुए हैं जिसमें से चार पर काम शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने त्रिपुरा के स्थानीय उत्पादनों को बढ़ावा देने के लिए बॉर्डर हाट का कांसेप्ट शुरू किया है और इस तरह के तीन हाट की शुरुआत अब तक हो चुकी है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बांग्लादेश के साथ बॉर्डर पर जमीन समझौते के चलते 42 साल से लंबित चित्तमहल की समस्या दूर हुई है है जिससे हजारों निवासियों को इसका फायदा हुआ है। उन्होंने कहा कि कोलकाता के रास्ते त्रिपुरा से बांग्लादेश बस सेवा की भी शुरुआत हुई है। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में स्मार्ट सिटी के लिए केंद्र सरकार द्वारा 500 करोड़ रुपये जारी किये गए हैं और राज्य में पासपोर्ट कार्यालय भी शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि मैं मानता हूँ कि यदि त्रिपुरा सरकार सही से काम कर रही होती तो ये सारे संसाधन और ये सारी योजनाओं का बेहतर इस्तेमाल राज्य के विकास में हो सकता था लेकिन ऐसा नहीं है। श्री शाह ने कहा कि त्रिपुरा भले ही देश का एक छोटा राज्य हो, लेकिन यह देश का मॉडल स्टेट बनने की पूरी संभावना रखता है लेकिन ढाई दशक से यहां पर जो सरकार काम कर रही है उसने वोट बैंक के लिए बांग्लादेशी घुसपैठियों को रोकने के कोई उपाय नहीं किये। उन्होंने कहा कि राजनीतिक प्रतिद्वंदियों पर हमले करके त्रिपुरा की कम्युनिस्ट सरकार ने लोकतंत्र का गला घोटने का प्रयास किया है। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री खुद विगत एक मई को एक सभा में भाजपा को हर तरह से रोकने का ऐलान करते हैं और उसके बाद हमारे सैकड़ों कार्यकर्ता घायल होकर अस्पताल में भर्ती होते हैं, हमारे 10 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की गाड़ियां टूटती है। उन्होंने कहा कि हम इन घटनाओं की कड़ी भर्त्सना करते हैं, यदि कम्युनिस्ट पार्टी ऐसा मानती है कि हिंसा और दमन से वे राज्य में भाजपा को रोक पायेंगे तो यह उनकी भूल है, वे जितना भी हिंसा और दमन करने का प्रयास करेंगे, भारतीय जनता पार्टी उतनी ही तेजी से त्रिपुरा में आगे बढ़ेगी।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि त्रिपुरा महिलाओं पर होने वाले अत्याचार के मामले में काफी आगे है, 10 महीने के अंदर 900 से अधिक बलात्कार और छेड़छाड़ की घटनाएं सामने आई हैं। उन्होंने कहा कि राज्य की 37 लाख की आबादी में लगभग 8 लाख से अधिक पढ़े-लिखे लोग बेरोजगार हैं और राज्य की कम्युनिस्ट सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी हुई है। उन्होंने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य सेवायें भी बदहाल हैं, महामारी से 100 से अधिक जनजातीय बच्चों की मौत के मामले सामने आये हैं, नेशनल हेल्थ मिशन के तहत केंद्र सरकार द्वारा 30 करोड़ रुपये की राशि राज्य सरकार को उपलब्ध कराई गई लेकिन त्रिपुरा सरकार उसका हिसाब देने तक की स्थिति में नहीं है। चिटफंड घोटाले की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि रोज वैली चिटफंड घोटाले में राज्य की सत्ताधारी पार्टी के कई नेताओं की संलिप्तता पाई गई है जिसकी जानकारी प्रचार माध्यमों और जांच एजेंसियों के माध्यम से लगातार सामने आई है। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि यदि राज्य के मुख्यमंत्री को लगता है कि इस घोटाले में वे पाकसाफ हैं तो उन्हें खुद ही इस घोटाले की जांच करानी चाहिए क्योंकि इस घोटाले में राज्य की गरीब जनता की खून-पसीने की कमाई डूबी है। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा की कम्युनिस्ट सरकार गरीबों के लिए काम करने वाली सरकार होने का दावा करती है लेकिन मुझे आश्चर्य है कि आज भी त्रिपुरा सरकार के कर्मचारी चौथे पे कमीशन के आधार पर तनख्वाह पाते हैं जबकि पूरा देश सातवें पे कमीशन को स्वीकार कर चुका है। उन्होंने कहा कि देश में जहां-जहां भारतीय जनता पार्टी की सरकार है, सब जगह सातवें पे कमीशन को लागू कर दिया गया है लेकिन त्रिपुरा की कम्युनिस्ट सरकार के माथे पर जूं तक नहीं रेंगती। उन्होंने कहा कि यदि भारतीय जनता पार्टी राज्य में सत्ता में आती है तो सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य की लगभग दो तिहाई आबादी गरीबी रेखा से नीचे जीने को विवश है, राज्य की लगभग एक चौथाई जनसंख्या के पास शुद्ध पीने का पानी उपलब्ध नहीं है, बिजली का भी यही हाल है। उन्होंने कहा कि 24 सालों के कम्युनिस्ट शासन में त्रिपुरा में डर और भ्रष्टाचार का माहौल बन गया है और राज्य की जनता इस माहौल से निजात पाना चाहती है, मुक्ति चाहती है और इसके लिए उनके पास एक ही विकल्प है – भारतीय जनता पार्टी। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी तेजी से आगे बढ़ रही है, राज्य में संपन्न हुए हाल के उपचुनावों में भारतीय जनता पार्टी ने दूसरा स्थान प्राप्त किया है और राज्य में मुख्य विपक्षी पार्टी के रूप में प्रतिष्ठित हुई है।

श्री शाह ने कहा कि तीन वर्षों से केंद्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा-नीत एनडीए की सरकार जिस तरह से काम कर रही है, इसके कारण देश में भारतीय जनता पार्टी को एक अभूतपूर्व जन-समर्थन प्राप्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी की लोकप्रियता और प्रधानमंत्री जी के लिए देश की जनता में श्रद्धा और विश्वास दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में पार्टी की लोकप्रियता का पैमाना जनादेश से बड़ा कुछ और नहीं होता। उन्होंने कहा कि केंद्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद हर चुनाव में हमारी स्थिति काफी बेहतर हुई है और कई राज्यों में हमारी सरकार बनी है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड में हम पहली बार ऐतिहासिक जनादेश के साथ सत्ता में आये, जम्मू-कश्मीर में हमारा उप-मुख्यमंत्री बना, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में तीन-चौथाई बहुमत से भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी और मणिपुर एवं गोवा में भी भाजपा की सरकार का गठन हुआ। उन्होंने कहा कि आज देश के उत्तर-पूर्व के राज्यों में जहां असम, मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश में पूर्ण रूप से भारतीय जनता पार्टी की सरकार है, वहीं नागालैंड में हम सरकार में भागीदार हैं। उन्होंने कहा कि मैं मानता हूँ कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में हमने यह बहुत बड़ी सफलता अर्जित की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस-नीत यूपीए सरकार ने अपने 10 साल के शासनकाल में घपलों और घोटालों की सरकार चलाई थी, अलग-अलग संवैधानिक संस्थाओं के माध्यम से सोनिया-मनमोहन सरकार के लगभग 12 लाख करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार के मामले जनता के सामने आये थे जबकि आज केंद्र में मोदी सरकार के तीन वर्ष हो रहे हैं और इन तीन सालों में हमारे विरोधी भी हम पर अब तक भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं लगा पाए हैं।

माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी सरकार ने तीन वर्ष में लगभग 105 लोक-कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से दुनिया के सामने एक सर्वस्पर्शीय और सर्वसमावेशक विकास का मॉडल रखा है। उन्होंने कहा कि विकास ऐसा होना चाहिए कि गाँव और शहर के बीच में कोई प्रतिद्वंदिता न हो बल्कि दोनों का समान विकास हो, इसी तरह कृषि और उद्योग के विकास में प्रतिद्वंदिता न हो बल्कि दोनों का विकास हो और इस तरह का विकास प्रधानमंत्री जी ने कर के दिखाया है।

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने कई सारे ऐसे कार्य किये हैं जिससे देश का मान दुनिया में बढ़ा है। उन्होंने कहा कि एक साथ 104 सैटेलाईट लॉन्च करके हिन्दुस्तान ने दुनिया में एक नायाब कामयाबी हासिल की है। उन्होंने कहा कि कल ही भारत ने पाकिस्तान के छोड़ कर बाकी सभी सार्क देशों के दूरसंचार एवं शिक्षा के क्षेत्र के लिए जीसैट-9 का सफल प्रक्षेपण किया है जो निश्चित रूप से एक बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि 50 के दशक से लंबित पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देकर मोदी सरकार ने पिछड़े वर्ग के लोगों को सम्मान से जीने का अधिकार दिया है। उन्होंने कहा कि डिमोनेटाईजेशन का फैसला अपने आप में एक साहसिक और सफल कदम रहा। उन्होंने कहा कि पश्चिम के देशों के लिए डिमोनेटाईजेशन बहुत बड़े आश्चर्य का विषय था कि इतने बड़े देश में इसे कैसे लागू किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, जन-धन योजना, मुद्रा बैंक योजना और कई अन्य लोक-कल्याणकारी योजनाओं ने देश के गरीब, दलित, शोषित, वंचित और पिछड़े वर्ग के लोगों को अपना सामाजिक स्तर सुधारने का एक बहुत बड़ा मौक़ा दिया है। उन्होंने कहा कि रोजगार के मायने बदलने में केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार सफल रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और कम्युनिस्ट पार्टियों की सरकारों ने देश में रोजगार की व्याख्या नौकरी के रूप में की थी जबकि नरेन्द्र मोदी सरकार ने देश के लगभग सात करोड़ युवाओं को मुद्रा बैंक के माध्यम से स्वरोजगार के लिए लोन देकर बहुत बड़ा कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि मैं मानता हूँ कि भारत जैसे इतने बड़े देश में बेरोजगारी का यही एक सही विकल्प है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने देश में कृषि विकास के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा, नीम कोटेड यूरिया, स्वायल हेल्थ कार्ड, ई-मंडी जैसी कई सारी योजनाओं की शुरुआत कर किसानों को फायदा पहुंचाने का काम किया है।

माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष ने त्रिपुरा की जनता से अपील करते हुए कहा कि आज पूरा देश प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के सर्वस्पर्शीय और सर्वसमावेशक विकास के मॉडल को स्वीकार कर विकास यात्रा में आगे बढ़ रहा है, त्रिपुरा की जनता भी भारतीय जनता पार्टी का समर्थन कर मोदी जी की देश की इस विकास यात्रा में भागीदार बनें।

****

(FJB)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here