शहरी सेवाएँ और जिला मार्गों के उन्नयन को मिलेंगे 5,544 करोड़

shivraj-singh-chouhanमुख्यमंत्री श्री चौहान से मिले एशियाई विकास बैंक के उपाध्यक्ष श्री झांग

भोपाल :  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से एशियन विकास बैंक के उपाध्यक्ष श्री डब्लू. झांग के नेतृत्व में बैंक का प्रतिनिधि-मंडल मिला। इस दौरान प्रदेश में बैंक के वित्तीय सहयोग से संचालित योजना और भविष्य में पारस्परिक सहयोग की संभावनाओं पर चर्चा की गयी। बताया गया कि शहरी सेवाओं के उन्नयन के लिये 4,920 करोड़ और जिला मुख्य मार्ग उन्नयन कार्यक्रम के लिये 3000 करोड़ सहित कुल 7,920 करोड़ की दो परियोजना में बैंक द्वारा 5,544 करोड़ वित्तीय सहयोग का प्रस्ताव स्वीकृति के अंतिम चरण में है। साथ ही 4,888 करोड़ की दो अन्य परियोजना में बैंक द्वारा 3 हजार 421 करोड़ के वित्तीय सहयोग की कार्रवाई भी प्रगतिरत है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रतिनिधि-मंडल को राज्य के विकास के रोड मेप की जानकारी दी। उन्होंने विकास की प्राथमिकताओं पर चर्चा करते हुए बताया कि आगामी 5 साल में कृषकों की आय को दोगुना करने की दिशा में तेजी से प्रयास किये जा रहे हैं। कृषि उत्पादकता में वृद्धि, फसल परिवर्तन, खाद्य प्र-संस्करण के साथ ही फल-फूल, सब्जी और कृषि से जुड़े अन्य कार्यों एवं व्यवसायों को भी प्रोत्साहित किया जा रहा है। जैविक खेती का रकबा बढ़ाने और वन संरक्षण और संवर्धन के काम भी किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश वन उत्पादों का भी बड़ा उत्पादक है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार युवाओं को रोजगार माँगने वाला नहीं, रोजगार देने वाला बनाना चाहती है। लघु एवं कुटीर उद्योगों का जाल बिछाने के साथ ‘पर-ड्राप मोर-क्राप’ की अवधारणा पर कार्य करते हुए हर खेत को सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाना है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पर्यटन उद्योग को मजबूत बनाकर रोजगार के नये अवसर निर्मित करने की दिशा में तेजी से काम किया जा रहा है।

श्री चौहान ने बताया कि सामाजिक क्षेत्र में शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर करने और ग्रामीण क्षेत्र में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं को विस्तारित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। भौतिक प्रगति के साथ ही आध्यात्मिक प्रगति और जनता के जीवन में आनंद एवं प्रसन्नता बढ़ाना भी सरकार की प्राथमिकताओं में है। उन्होंने बताया कि सरकार वैश्विक पर्यावरणीय चुनौतियों के प्रति भी सजग है। हरियाली महोत्सव की जानकारी देते हुए बताया कि अभियान के दौरान प्रति व्यक्ति एक पौध रोपण का कार्य किया जाता है। नर्मदा शुद्धिकरण, नदी- जोड़ो योजना की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि राज्य के जिन क्षेत्रों में जल-आधिक्य है उसे जल-अभाव वाले क्षेत्रों में पहुँचाने की परियोजना पर भी तेजी से काम किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के बुनियादी ढाँचे को विकसित करने में बैंक द्वारा किये जा रहे सहयोग के प्रति आभार ज्ञापित किया। उन्होंने कहा कि ऊर्जा क्षमता सुधार, विद्युत पारेषण और वितरण सुधार योजनाओं में बैंक के वित्तीय सहयोग से प्रदेश विद्युत के क्षेत्र में सर-प्लस-स्टेट बन गया है। प्रदेश में 24×7 विद्युत आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने कहा कि दस वर्ष पूर्व सरकार ने बुनियादी ढाँचे को मजबूत बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया था जिसके सुफल मिलने लगे हैं। राज्य की विकास दर लगातार 8 वर्ष से डबल डिजिट में है। कृषि विकास दर पिछले चार साल से 20 प्रतिशत से अधिक रही है।

एशियन विकास बैंक के उपाध्यक्ष श्री झांग ने कहा कि प्रदेश की उनकी यह प्रथम यात्रा है। उन्होंने बैंक द्वारा प्रदेश के विकास की परियोजनाओं और पर्यावरणीय चुनौतियों में सहयोग करने का प्रस्ताव दिया। उन्होंने कहा कि भविष्य में कृषि, व्यावसायिक शिक्षा और तकनीकी सहायता के क्षेत्र में भी बैंक पारस्परिक सहयोग कर सकता है।

बैठक में बताया गया कि प्रदेश में उर्जा और सड़क के क्षेत्र में 6,561 करोड़ की योजनाएँ बैंक के सहयोग से संचालित हैं। इसके साथ ही लगभग 4,888 करोड़ की दो परियोजना कुण्‍डालिया वृहद सिंचाई और मध्यप्रदेश कौशल शिक्षा एवं गुणवत्ता सुधार में 3,421 करोड़ से अधिक के वित्तीय सहयोग प्रस्ताव पर भी चर्चा चल रही है।इस अवसर पर एशियन विकास बैंक के डिप्टी कन्ट्री डायरेक्टर श्री एल.बी. सोंडज़ा, उपाध्यक्ष के सलाहकार श्री ह्यूविंग ह्आंग, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव एस.के.मिश्रा, सचिव श्री हरिरंजन राव और आयुक्त संस्थागत वित्त श्री अमित राठौर सहित प्रतिनिधि-मंडल के सदस्य एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे

अजय वर्मा

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *