झारखण्ड में दुनिया के सबसे समृद्ध प्रदेश बनने की क्षमता है – मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास

झारखण्ड को स्वस्थ, स्वच्छ एवं सुखी बनाना है

cmjharkhandराँची,दिनांक-08.05.2015 मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि सरकार, काॅरपोरेट जगत, निजी उद्यम, लोकउपक्रम आमजनों के टीमवर्क से झारखण्ड नवनिर्माण होगा। सभी मिलकर चाहें तो झारखण्ड के प्रति लोगों की भावनाओं एवं सोच में परिवर्तन संभव है। झारखण्ड में दुनिया के सबसे समृद्ध प्रदेश बनने की क्षमता है। सरकार, काॅरपोरेट जगत, निजी लोकउपक्रम एवं जनता खुले दिल से आमजनों के हित में कार्य करें और प्रदेश को उन्नत एवं विकसित बनाएं।
मुख्यमंत्री आज अपने सभा कक्ष में आहूत झारखण्ड सी0एस0आर0 काॅन्सिल के गर्वनिंग बाॅडी की प्रथम बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि काॅरपोरेट जगत एवं लोकउपक्रम , काॅरपोरेट,सामाजिक दायित्व के तहत आमजनों के हित में बहुत सारे कार्य करते हैं परन्तु परिणाम स्पष्ट नहीं हो पाते हैं। सी0एस0आर0 काॅन्सिल के गठन के उद्देष्यों को रेखांकित करते हुये उन्होंने कहा कि सभी के सहयोग से झारखण्ड को स्वस्थ, स्वच्छ एवं सुखी बनाना है। संबंधित औधोगिक क्षेत्र के आस-पास के विकास की जिम्मेवारी संबंधित औधोगिक इकाईयों की बनती है। इस काॅन्सिल के निर्माण के पीछे सोंच यह है कि उद्योग लगाए जाने के कारण उसके आस-पास के क्षेत्र भी विकसित हों, गरीब जनता का आर्थिक स्तर सुधरे। उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री के मेक-इन-इण्डिया के संकल्प को पूरा करने के लिए झारखण्ड का विकास आवश्यक है। विकसित भारत के साथ-साथ विकसित झारखण्ड के निर्माण में सभी का सहयोग अपेक्षित है।
मुख्यमंत्री ने सी0एस0आर0 के तहत किए जाने वाले कार्यों के सम्बंध में स्पष्ट कहा कि सरकार राज्य में शिक्षा, स्वच्छता, स्वास्थ्य एवं कौशल विकास की दिशा में प्राथमिकता के आधार पर कार्य करना चाहती है। काॅरपोरेट जगत, लोकउपक्रम इस दिशा में सी0एस0आर0 के तहत किए जाने वाले राशि का सदुपयोग करें और क्षेत्र विशेष का चयन करते हुए क्रमबद्ध तरीके से पूरे झारखण्ड के विकास में सहभागी बनें। परिणाम प्राप्त करने के लिए सुनियोजित तरीके से समयबद्ध कार्य करने की आवश्यकता है। झारखण्ड की महिलाओं एवं युवाओं में कुछ करने की ललक है। उनके हाथों को हुनर देकर उन्हें विकसित एवं आर्थिक रूप से समृद्ध बनाया जा सकता है। राज्य में कई आई0टी0आई0 भवन बन कर तैयार हैं जिनके संचालन में काॅरपोरेट जगत का सहयोग राज्य के लिए हितकारी होगा। विद्यालयों को गोद लेकर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा में सहयोग देकर राज्य के सुदूरवर्ती ग्रामीण जनता तक विकास की किरण को पहुंचाया जा सकता है।
मुख्यमंत्री ने बैठक में विभिन्न कम्पनियों के प्रतिनिधियों द्वारा उनके कम्पनी द्वारा सी0एस0आर0 के तहत किए जा रहे कार्यों की विस्तृत जानकारी ली एवं अनुरोध किया कि सी0एस0आर0 एक सामाजिक दायित्व है, इसके लिए निर्धारित राशि के अतिरिक्त अधिकतम सहयोग किए जाएं। उन्होंने कहा कि सरकार शीघ्र ही हाईवे पेट्रोलिंग शुरू करने जा रही है जिसमें कम्पनियों के द्वारा सहयोग देकर जनता में सुरक्षा की भावना उत्पन्न की जा सकती है। उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री राहत कोष से गरीब जनता को स्वास्थ्य सुविधा एवं विकट परिस्थिति में सहयोग दिया जाता है। अतः इस कोष में काॅरपोरेट जगत उदारतापूर्वक सहयोग करें।
इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री राजीव गौबा ने कहा कि झारखण्ड सी0एस0आर0 काॅन्सिल का गठन सी0एस0आर0 के तहत किए जाने वाले कार्यों को एक नया आयाम देने और उसे व्यापक बनाने के उद्देश्य से किया गया है। सभी कम्पनियाँ सी0एस0आर0 के तहत व्यय एवं कार्य दोनों करती है परन्तु यदि उसे एक मिशन के तौर पर योजनाबद्ध तरीके से किया जाए तो उसका अधिकतम लाभ जनता को दिया जा सकता है। झारखण्ड में निवेश की काफी सम्भावनाएं हैं, उन्हें मूर्तरूप देने हेतु अनुकूल माहौल तैयार करने का प्रयास है। इसके लिए प्रक्रियाओं को सरल बनाते हुए म्ंेम व िठनेपदमेे के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। सी0एस0आर0 को भी म्ंेम व िठनेपदमेे के रखा जाना चाहिये। लोगों को जितना सौहार्दपूर्ण माहौल एवं सुव्यवस्थित सुविधाएं दी जाएंगी उद्योगों के लिए उतना ही अनुकूल माहौल तैयार होगा और मुनाफे में इजाफा होगा।
बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री संजय कुमार, प्रधान सचिव ग्रामीण विकास श्री एन0एन0 सिन्हा, प्रधान सचिव स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग श्री के0 विद्यासागर, मुख्यमंत्री के सचिव श्री सुनील वर्णवाल, सचिव उद्योग श्रीमती हिमानी पाण्डेय, सचिव श्रम एवं नियोजन विभाग श्री राहुल शर्मा, सचिव कला संस्कृति एवं खेल कूद श्रीमती वंदना डाडेल, सचिव मानव संसाधन एवं विकास विभाग श्रीमती आराधना पटनायक तथा राज्य भर के विभिन्न उद्योगों, लोकउपक्रमों के वरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *